जैन मंदिरों में चोरी करने वाले दो सेवादार और कबाड़ी गिरफ्तार

चांदी के बर्तन और मूर्तियों को गला कर बनाया सामान बरामद

By: Lalit Tiwari

Updated: 18 Sep 2021, 08:44 PM IST

कोतवाली थाना पुलिस ने तीन जैन मंदिरों में मंदिर के सामान और बर्तनों की चोरी करने वाले दो सेवादार और चांदी का सामान खरीदने वाले कबाड़ी को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने जैन मंदिरों से चोरी चांदी के बर्तन और मूर्तियों को गला कर बनाई 15 किलो चांदी की प्लेटस और चांदी बेचकर कमाए 26 हजार 750 रुपए बरामद किए हैं। इसके अलावा एक अन्य मंदिर से चुराया हुआ सामान भी बरामद कर लिया हैं। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि नशे और सट्टे की लत से वह कर्ज में डूब गए थे, जिसकी वजह से चोरी का रास्ता अपनाना पड़ा। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं।
डीसीपी (उत्तर) परिस देशमुख ने बताया कि चोरी करने वाले मंदिरों के पूर्व सेवादार दीपक जैन निवासी माधोताल, जबलपुर और सचिन जैन निवासी कामथवाड़ा गोटे गांव जिला नरसिंहपुर, एमपी सहित लालू कबाड़ी निवासी कमालगंज, फर्रुखाबाद, यूपी को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने बताया कि 10 सितंबर को दीवानजी की नसियां कोतवाली निवासी अनिल दीवान ने थाने में मामला दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि श्री दिगम्बर जैन मंदिर अमरचंद जी लालजी सांड का रास्ता में 43 किलो 189 की पचंमेरू और बर्तन चोरी हो गए। दीपक जैन और सचिन जैन स्थानीय व्यक्तियों के साथ संदिग्ध गतिविधियों में संलग्न थे। दीपक जैन जुलाई 2021 में गांव चला गया था जो अब तक वापस नहीं आया हैं। लालजी सांड का रास्ता से दो अन्य जैन मंदिरों में भी दीपक जैन और अन्य द्वारा मंदिर में चांदी का सामान चोरी होने का मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने एडिशनल डीसीपी धर्मेन्द्र सागर, एसीपी मेघचंद मीना और थानाप्रभारी विक्रम सिंह चारण के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। टीम ने कार्रवाई करते हुए 16 सितंबर को दीपक जैन और सचिन जैन को जयपुर से गिरफ्तार किया गया। आरोपी दीपक जैन, सचिन जैन और उनके सहयोगी लालू कबाड़ी को गिरफ्तार कर दो जैन मंदिरों में चुराई हुई 15 किलो चांदी, चैत्यालय जैन मंदिर से चोरी चांदी के बर्तन और 26 हजार 750 रुपए बरामद किए गए। लालू कबाड़ी ने कुछ चांदी के बर्तन और सामान अपने गांव कमालगंज फर्रूखाबाद यूपी में बेचना स्वीकार किया, जिसकी पुलिस तस्दीक कर रही हैं।

शराब और सट्टे की लग गई थी लत-
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि आरोपी दीपक जैन, सचिन जैन दोनों शराब के नशे और सट्टे की लत के शिकार हो गए थे। जिससे दोनों पर एमपी और जयपुर में काफी कर्जा हो गया था। कर्जा चुकाने के लिए सट्टा और शराब का शौक पूरा करने के लिए तीन मंदिर के सेवादारों ने मार्च अप्रेल 2021 में कोरोना और लॉकडाउन का फायदा उठाते हुए तीनों जैन मंदिरों में चोरी की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस चोरी गई शेष सामान की बरामदगी करने का प्रयास कर रही हैं।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned