50 प्रतिशत से ज्‍यादा मरीज टाइप 2 डा‍यबिटीज के

Type 2 Diabetes : जयपुर . टाइप 2 मोर टीएम के सर्वे के अनुसार, जयपुर में Diabetes Patients के लिए आंखों और Heart Problems सबसे चिंताजनक है। इस सर्वे के परिणाम बताते हैं कि 50 प्रतिशत से भी ज्‍यादा Patients टाइप 2 डायबिटीज से जुड़ी Health Problems के खतरे को समझते हैं और इसके बावजूद लापरवाही बरतते हैं। Diabetes का मुख्य कारण बदलती Lifestyles को माना गया है।

Type 2 Diabetes : जयपुर . टाइप 2 मोर टीएम के सर्वे के अनुसार, जयपुर में डायबिटीज के मरीजों ( Diabetes Patients ) के लिए आंखों और दिल से जुड़ी परेशानियां ( Heart Problems ) सबसे चिंताजनक है। इस सर्वे के परिणाम बताते हैं कि 50 प्रतिशत से भी ज्‍यादा मरीज ( Patients ) टाइप 2 डायबिटीज से जुड़ी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं ( Health Problems ) के खतरे को समझते हैं और इसके बावजूद लापरवाही बरतते हैं। डायबिटीज ( Diabetes ) का मुख्य कारण बदलती जीवन शैली ( Lifestyles ) को माना गया है।

एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भण्डारी ने बताया कि टाइप 2 डायबिटीज की सही देखभाल के लिए इसकी समय पर जांच और उपचार आवश्‍यक है। लगभग एक चौथाई मरीजों को अपने कंसल्टिंग डॉक्‍टर की ओर से बताए गए इलाज का पालन करने में परेशानी महसूस होती है। भारत में ज्‍यादातर स्‍पेशलिस्‍ट हाल ही में इस बीमारी का पारंपरिक तरीके से इलाज करते हैं।

भारत में टाइप 2 डायबिटीज के मैनेजमेंट में कमी -:

पूरी दुनिया में इस बीमारी के 90 प्रतिशत मामले टाइप 2 डायबिटीज के होते हैं। इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन के अनुसार केवल भारत में ही 72 मिलियन डायबिटीज के मरीज हैं, जो इसे विश्‍व की मधुमेह राजधानी बना रहा है। ज्‍यादातर मरीजों को हाइपोग्‍लाइसेमिया (लोक ब्‍लड शुगर की एक समस्‍या) के बारे में पता होता है, लेकिन उन्‍हें इस समस्‍या के गंभीर परिणामों का अहसास नहीं होता और इससे डॉक्‍टर को बताने में देरी हो जाती है।

बदले खानपान एक बड़ा कारण -:

भारतीयों में लाइफस्‍टाइल में तेजी से होने वाले बदलाव डायबिटीज के जल्‍दी होने के प्रमुख कारणों में से एक है। इस प्रकार की डायबिटीज से बचने के लिए समय पर इस बीमारी का पता लगना, एक सेहतमंद लाइफ स्‍टाइल तथा खानपान की आदतों को अपनाना अहम होता है।

Show More
Anil Chauchan Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned