बीसीसीआई-सीओए का यू-टर्न..... राज्य संघों पर नजर नहीं रखेंगे पर्यवेक्षक

बीसीसीआई-सीओए का यू-टर्न..... राज्य संघों पर नजर नहीं रखेंगे पर्यवेक्षक
बीसीसीआई-सीओए का यू-टर्न..... राज्य संघों पर नजर नहीं रखेंगे पर्यवेक्षक

satish sharma | Updated: 13 Sep 2019, 06:39:46 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

सीओए के अध्यक्ष विनोद राय ने पर्यवेक्षकों की नियुक्ति के बार में साफ कहा कि वे राज्य संघों के किसी भी फैसले में दखल नहीं देंगे। उनका काम राज्य संघों को क्रिकेट संबंध मसलों में मार्गदर्शन देना होगा।

New delhi। सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (COA) ने शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में बैठक की और राज्य संघों द्वारा रखे गए मुद्दों पर चर्चा की। रोचक बात यह है कि सीओए के अध्यक्ष Vinod rai ने साफ किया है कि 10 राज्यों के कामकाज पर पर्यवेक्षक नजर नहीं रखेंगे न ही वह राज्य संघों के किसी भी फैसले में दखल देंगे।
एजेंसी ने जब राय से नौ राज्यों- आंध्र प्रदेश, नागालैंड, सिक्किम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, बिहार, चंडीगढ़, उत्ताखंड, पुडुचेरी में पर्यवेक्षक नियुक्त करने और क्या बीसीसीआई का संविधान इस बात की इजाजत देता है ? यह सवाल किए तो राय ने कहा कि पर्यवेक्षकों की नियुक्ति सिर्फ राज्य संघों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए की गई थी। राय ने सफाई देते हुए कहा, यह फैसला इसलिए लिया गया था क्योंकि हमारे पास कई तरह के सवाल आ रहे थे। यह सिर्फ मदद करने के लिए लिया गय फैसला था। वह एक पर्यवेक्षक हैं, वह किसी तरह के फैसले लेने में हिस्सा नहीं लेंगे। यह साफ है कि वह फैसले नहीं लेंगे और न ही किसी तरह के निर्देश देंगे। वह बैठेंगे और सिर्फ चीजों को देखेंगे। यह जवाब देने वाला सवाल ही नहीं है। राज्य संघों को जो मेल किया गया है उसमें साफ लिखा है कि पर्यवेक्षक राज्य संघों को क्रिकेट संबंध मसलों में मार्गदर्शन देंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned