scriptUniform colour Change#Uniform colour Change#Education department | Uniform colour Change- अब गहरी भूरी पेंट और हल्की नीली शर्ट में नजर आएंगे सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी | Patrika News

Uniform colour Change- अब गहरी भूरी पेंट और हल्की नीली शर्ट में नजर आएंगे सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी

Uniform colour Change-प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले 98 लाख बच्चे अब अगले शिक्षा सत्र से नई यूनिफॉर्म में नजर आएंगे। शिक्षा विभाग की ओर से जारी किए गए आदेशों के मुताबिक पहली से आठवीं तक के बच्चों को ना सिर्फ सिलीसिलाई यूनिफॉर्म मिलेगी बल्कि उनकी यूनिफॉर्म का रंग भी बदला गया है।

जयपुर

Updated: December 08, 2021 08:10:56 pm

प्रदेश के करीब 98 लाख स्कूली विद्यार्थियों की यूनिफॉर्म का बदला रंग
अब गहरे भूरे या धूसर पेंट के साथ लाइट ब्लू रंग की शर्ट में नजर आएंगे सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी
शिक्षा विभाग ने बदला स्कूल यूनिफॉर्म का रंग
वर्तमान सत्र में इस रंग की अनिवार्यता नहीं
अगले शिक्षा सत्र 2022-23 से नई यूनिफॉर्म पहनना होगा अनिवार्य
शिक्षा निदेशालय ने जारी किए आदेश
शिक्षा विभाग उपलब्ध करवाएगा स्कूल यूनिफॉर्म
सर्दी और गर्मी के लिए होगी अलग-अलग
जयपुर।
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले 98 लाख बच्चे अब अगले शिक्षा सत्र से नई यूनिफॉर्म में नजर आएंगे। शिक्षा विभाग की ओर से जारी किए गए आदेशों के मुताबिक पहली से आठवीं तक के बच्चों को ना सिर्फ सिलीसिलाई यूनिफॉर्म मिलेगी बल्कि उनकी यूनिफॉर्म का रंग भी बदला गया है। अब छात्र हल्की नीली शर्ट और गहरे भूरे या धूसर रंग की पेंट में नजर आएंगे, वहीं छात्राएं हल्की नीले रंग की शर्ट या कुर्ते के साथ गहरे भूरे या धूसर रंग स्कर्ट या सलवार के साथ इसी रंग के दुपट्टे में नजर आएंगी। सर्दियों में वह यूनिफॉर्म के साथ गहरे भूरे या धूसर रंग का ब्लेजर या स्वेटर पहन सकेंगे। उन्हें इस सत्र से इस यूनिफॉर्म के लिए बाध्य नहीं किया जा सकेगा।
अब विभाग देगा यूनिफॉर्म
इन विद्यार्थियों को यूनिफॉर्म अब विभाग सिलीसिलाई उपलब्ध करवाएगा। मौसम को देखते हुए सर्दी और गर्मी के लिए अलग अलग दो यूनिफॉर्म दी जाएंगी। परिषद का आकलन है कि यूनिफॉर्म पर तकरीबन प्रति विद्यार्थी 600 रुपए का खर्च आएगा। गौरतलब है कि इससे पूर्व विभाग ने यूनिफॉर्म का पैसा स्कूल, उनके अभिभावक या स्कूल प्रबंध समिति के बैंक खातों में डालने का निर्णय लिया था और उनके बैंक खातों की जानकारी भी मांगी गई थी लेकिन अब इसमें बदलाव किया गया है।
यूनिफॉर्म की वजह से बढ़ेगा नामांकन्य
विभाग का आकलन है कि 7वीं की छात्रा को फुल ड्रेस के लिए करीब 4.5 मीटर कपड़े की जरूरत होगी जिसकी कीमत 250 से 280 रुपए है। जबकि छात्र के लिए पैंट शर्ट में करीब 3.25 मीटर कपड़े की जरूरत पड़ेगी। यह कपड़ा बाजार में कहीं भी 300 से 320 रुपए तक में मिल जाएगा। विभागीय अधिकारियों की माने तो यूनिफॉर्म देने से सरकारी स्कूलों में नामांकन प्रतिशत बढेग़ा साथ ही बच्चों का ड्रॉप आउट भी कम होगा। इसके लिए अनिवार्य शिक्षा अधिनियम 2009 और संशोधित निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिनियम 2011 में भी संशोधन किए हैं।
पिछले साल थी तैयारी लेकिन कोरोना के कारण अटका था प्रस्ताव
सूत्रों के मुताबिक गहलोत सरकार ने पिछले साल ही सरकारी स्कूलों की ड्रेस बदलने पर विचार कर लिया था और इसके लिए कमेटी बना दी थी, लेकिन कोरोना के कारण यह प्रस्ताव अटक गया था। हालांकि सरकार की ओर से स्कूल ड्रेस में बदलाव को काफी समय से मंथन चल रहा था। दरअसल 2017 में बीजेपी शासन में हुए स्कूल ड्रेस में बदलाव को लेकर कांग्रेस ने विरोध जताया। बीजेपी शासन में 20 साल बाद ड्रेस के रंग में बदलाव आया था। इस दौरान कांग्रेस की ओर से आरोप लगाया गया था कि ड्रेस कोड के जरिए बीजेपी भगवाकरण को प्रमोट किया जा रहा है।
बीजेपी ने भी किया था स्कूल ड्रेस का विरोध
इसी प्रकार गहलोत सरकार के आने के बाद लगातार सरकारी स्कूलों के ड्रेस कोड में बदलाव को लेकर चर्चाएं थीं, लेकिन पिछले साल बीजेपी ने स्कूल ड्रेस बदलने के प्रस्ताव का यह कहकर विरोध किया था कि इससे अभिभावकों की जेब पर अनावश्यक भार पड़ेगा। लिहाजा इस बार सरकार सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों को मुफ्त ड्रेस देने का ऐलान किया है, जिससे अभिभावकों की जेब पर कोई असर नहीं होगा।
Uniform colour Change- अब गहरे भूरे रंग की  पेंट के साथ लाइट ब्लू रंग की शर्ट में नजर आएंगे सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी
Uniform colour Change- अब गहरे भूरे रंग की पेंट के साथ लाइट ब्लू रंग की शर्ट में नजर आएंगे सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी
राजस्थान में कब -कब हुआ ड्रेस कोड में बदलाव
आपको बता दें कि राजस्थान में 1997 में स्कूल यूनिफॉर्म में बदलाव हुआ था इसके बाद 20 सालों तक कोई बदलाव देखने को नहीं मिला और साल 2017-2018 में यूनिफॉर्म का रंग बदला गया। वहीं अब 2022-23 में बच्चे नई यूनिफॉर्म में नजर आएंगे। वर्तमान में स्कूली विद्यार्थियों की यूनिफॉर्म का कलर गहरे भूरे रंग की पैंट व हल्के भूरे रंग की शर्ट है। पिछली वसुंधरा राजे सरकार ने सरकारी स्कूलों के स्टूडेंट्स की यूनिफॉर्म का रंग भी आरएसएस की तर्ज पर ही किया था। साल 2017 से पहले छात्रों की यूनिफॉर्म में खाकी रंग की फुल या हॉफ पैंट और नीले रंग का शर्ट थी। वहीं, छात्राओं की सफेद सलवार व नीला कुर्ता यूनिफॉर्म थी। वसुंधरा सरकार ने छात्रों के लिए गहरे भूरे रंग की पैंट व हल्के भूरे रंग की शर्ट तथा छात्राओं के लिए गहरे भूरे रंग का सलवार या स्कर्ट और हल्के भूरे रंग के कुर्ते को नई यूनिफॉर्म बनाया गया था।
इनका कहना है,
राज्य सरकार के निर्देश पर स्कूली यूनिफॉर्म के रंग में कुछ बदलाव किए गए हैं। शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं लेकिन नई यूनिफॉर्म पहन कर आने के लिए इस सत्र में विद्यार्थियों को बाध्य नहीं किया जा सकेगा। नए शिक्षा सत्र से नई यूनिफॉर्म अनिवार्य होगी। यूनिफॉर्म का वितरण कैसे होगा यह एक दो दिन में तय हो जाएगा।
भंवरलाल,परियोजना निदेशक
राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

मुलायम सिंह यादव को दो दिन में दूसरा झटका, पोस्टर Girl प्रियंका ने जोईन की BJP, रावण भी लड़ेगा चुनावAzadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तभारत ने ओडिशा तट से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफलतापूर्वक किया परीक्षणNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरPm Kisan Samman Nidhi: फर्जीवाड़ा रोकने के लिए सरकार ने बदले नियम, अब राशन कार्ड देना होगा अनिवार्यपंजाब के बाद अब उत्तराखंड में भी बदलेगी चुनाव तारीख! जानिए क्या है बड़ी वजहPolice Recruitment 2022: पुलिस विभाग में 900 से अधिक पदों पर भर्ती, जल्दी करें आवेदन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.