उर्दू शिक्षकों और मदरसा पैराटीचर्स ने किया प्रदर्शन, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को बर्खास्त किए जाने की मांग

शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को बर्खास्त किए जाने की मांग
शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी को किया जाए निलम्बित
उर्दू और मदरसा शिक्षकों ने किया प्रदर्शन
कलेक्ट्रेट कार्यालय पर दिया धरना

By: Rakhi Hajela

Updated: 18 Jan 2021, 09:47 PM IST


शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को बर्खास्त किए जाने, शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी को निलम्बित किए जाने सहित विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ और राजस्थान मदरसा शिक्षा सहयोगी संघके बैनर तले उर्दू शिक्षकों और मदरसा पैराटीचर्स ने कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर सड़क के किनारे धरना दिया। सोमवार सुबह से ही प्रदेश के विभिन्न भागों से आए हुए उर्दू शिक्षक और मदरसा पैराटीचर्स कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर एकत्र होने लगे थे। इन शिक्षकों और मदरसा पैराटीचर्स ने इस दौरान मदरसा पैराटीचर्स को नियमित किए जाने, मदसा शिक्षा सहायक भर्ती 2013 के छह हजार पदों के लिए गए आवेदनों का परिणाम जारी कर नियुक्ति दिए जाने,प्रबोधक भर्ती शुरू किए जाने की भी मांग की। उनका कहना था कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होती धरना जारी रहेगा।
नहीं जा सके मुख्यमंत्री निवास
गौरतलब है कि उर्दू शिक्षकों और मदरसा पैराटीचर्स ने मुख्यमंत्री निवास के घेराव का भी एलान किया था लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस प्रशासन उन्हें यहां से नहीं जाने दिया ऐसे में इन शिक्षकों ने राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ के बैनर तले यहीं धरना दिया।
यह हैं उर्दू शिक्षक और मदरसा पैराटीचर्स की मांगें
: मदरसा पैराटीचर्स को किया जाए नियमित
: प्रबोध भर्ती शुरू हो।
: मदरसा पैराटीचर्स का मानदेय सरकारी शिक्षक के समान हो।
:मदरसा पैराटीचर्स की मृत्यु के बाद आश्रित को नौकरी दी जाए।
: मदरसों में ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था की जाए।
: अल्पसंख्यक विभाग को शिक्षा विभाग में मर्ज किया जाए।

सरकारी स्कूलों में बंद की गई उर्दू की तालीम शुरू की जाए।
उर्दू तालीम की ऑनलाइन क्लास शुरू हो।
कक्षा एक से 5 तक सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत उर्दू भाषी बच्चों को उर्दू की किताबें उपलब्ध करवाई जाए।
माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी को निलम्बित किया जाए।
शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा से इस्तीफा लिया जाए।
सरकारी स्कूलों में निर्धारित मापदंड के मुताबिक उर्दू के शिक्षण के आदेश जारी किए जाएं।
स्कूलों में पहली से 12वीं तक की उूर्द की निशुल्क पाठ्यपुस्तकें उपलब्ध करवाई जाएं।
उर्दू शिक्षकों के स्वीकृत और आवंटित पदों की समीक्षा कर सभी पदों पर नियुक्तियां व पदोन्नति दी जाए।
अल्प भाषा शिक्षण के प्रभावी मॉनिटरिंग के लिए उर्दू विषय के एबीईओ की नियुक्ति की जाए।
कक्षा 6 से 8 तक तृतीय भाषा के रूप में उर्दू भाषी छात्रों को संस्कृत पढऩे पर मजबूर किया जा रहा है। प्रकरण की जांच करवा का दोषियों पर कार्यवाही की जाए।
: मदरसा शिक्षा सहायक भर्ती 2013 के 6000 पदों का परिणाम जारी किए जाएं।
: मदरसा कंप्यूटर शिक्षा सहयोगी भर्ती 2013 के 25 00 पदों की रद्द की गई भर्ती को पुन:पूर्ण किया जाए।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned