बेरोजगारी दर 14.7 फीसदी हुई, वर्क वीजा पर लगेगी रोक!

अमरीका: सांसदों ने राष्ट्रपति ट्रंप को लिखा पत्र

By: anoop singh

Published: 10 May 2020, 12:11 AM IST

वाशिंगटन. अमरीका में कोरोना महामारी के चलते दो माह में 3.3 करोड़ लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी है। इससे देश की अर्थव्यवस्था पर भी बुरा असर पड़ा है। इस बीच, सरकार एच1-बी जैसे वर्क वीजा पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है। अगर ऐसा हुआ तो इसका असर भारत के आइटी प्रोफेशनल्स और छात्रों पर भी पड़ेगा।
संसद के ऊपरी सदन सेनेट के चार सांसदों- चक ग्रेसली, टॉम कॉटन, टेड क्रूज और जोश हॉल ने राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को पत्र लिखा है। इसमें श्रम विभाग की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए सांसदों ने कहा कि कोरोना के कारण अप्रैल में दो करोड़ से ज्यादा नौकरियां खत्म हो गईं। इसके चलते बेरोजगारी दर 14.7 फीसदी पहुंच गई है। लिहाजा एच1-बी जैसे वर्क वीजा पर विदेशों से आने वाले कामगारों का वीजा कम से कम अगले साल तक या फिर स्थिति सामान्य होने तक निलंबित कर देना चाहिए।
इन पर भी लग सकती है रोक
अमरीका में एच1-बी (स्किल्ड वर्कर्स को दिया जाने वाला वीजा) के अलावा एच-2बी (गैर कृषि कार्यों के लिए सीजनल वर्करों को दिया जाने वाला वीजा), ओटीपी
वीजा (ग्रेजुएशन के बाद छात्रों को इंटर्नशिप वाला) और
ईबी-5 वीजा (विदेश के अमीर लोगों के निवेश के बदले दिया जाने वाला वीजा) पर अस्थायी रोक लग सकती है। अमरीकी सरकार ने हाल ही में कोरोना वायरस के चलते एच-1बी वीजाधारकों और ग्रीनकार्ड आवेदकों को साठ दिन की छूट दी है। हालांकि यह छूट उन लोगों को दी गई है, जिन्हें दस्तावेज जमा करने के चलते नोटिस दिया गया है।
एग्जीक्यूटिव ऑर्डर लाने की योजना
ट्रंप के इमिग्रेशन एडवाइजर एग्जीक्यूटिव ऑर्डर लाने की योजना में हैं। इसमें वर्क वीजा पर अस्थायी प्रतिबंध हो सकता है। ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने इतने लोगों के बेरोजगार होने की उम्मीद की थी। हालांकि उन्होंने खोर्ई नौकरियों को वापस लाने का वादा किया।
तेल विवाद के बीच अमरीका ने सऊदी अरब की सुरक्षा घटाई
वाशिंगटन. सऊदी अरब और अमरीका के बीच तेल को लेकर तकरार बढऩे के बीच अमरीका ने सऊदी अरब में सुरक्षा में कटौती का फैसला किया है। सितंबर 2019 में सऊदी ने अपने तेल ठिकानों पर ड्रोन से हमला करने का आरोप ईरान पर लगाया था। इसके बाद अमरीका ने ईरान के खिलाफ सऊदी में अपनी पैट्रियट मिसाइलें तैनात की थीं। अमरीका के मौजूदा फैसले के बाद सऊदी के किंग सलमान और अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के बीच बातचीत भी हुई।

anoop singh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned