महंगे शोरूमों में चोरी करने के बाद करते थे क्लबों में पार्टी

लग्जरी कार से वारदात कर दूसरे राज्य में भाग निकलते थे आरोपी

By: Lalit Tiwari

Published: 20 Jan 2021, 10:20 PM IST

आदर्श नगर जयपुर पूर्व और जिला स्पेशल टीम (डीएसटी) ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मोबाइल शोरूमों में चोरी की वारदात करने वाले दिल्ली गैंग के दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से 25 एन्ड्रॉयड मोबाइल फोन, 2 पोर्टेबल स्पीकर, 10 वायरलैस हैड फोन, 11 हजार रुपए नकद और एक लक्जरी कार बरामद की हैं। पूछताछ में बदमाशों ने राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली सहित कई राज्यों में चोरी करना कबूल किया हैं। बदमाशों ने पिछले दिनों 18 जनवरी को दिल्ली से जयपुर आकर राजापार्क आदर्श नगर में जियो और वीवो मोबाइल स्टोर को निशाना बनाकर लाखों रुपए के मोबाइल फोन और अन्य उपकरण चुराए थे।
डीसीपी (पूर्व) अभिजीत सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी हंसराज राजभर उर्फ राज (42) पुत्र सीताराम भारद्वाज उत्तरप्रदेश में आजमगढ़ हिसारपुर का रहने वाला है। पिछले लंबे वक्त से दिल्ली में कृष्णा नगर ईस्ट में रहता है। दूसरा आरोपी आरिफ खान उर्फ राजा (42) पुत्र मोहम्मद सलीम दिल्ली में जामा मस्जिद स्थित मोहल्ला चूड़ीवाला में रहता है।

बड़ी होटलों व वैश्यावृत्ति का शौक पूरा करने के लिए वारदात
आरोपी हंसराज 8वीं कक्षा पास है। उसने 1994 में अपराध की दुनिया में कदम रखा था। शुरुआती दिनों में हंसराज ने सीवरेज के ढक्कन चोरी व लोहे की ग्रिल चुराता था। इसके बाद फायर आर्म्स की वारदात करने लगा। बड़े व नामी होटलों में ठहरने व वेश्यावृत्ति, महंगी शराब के शौक पूरे करने के लिए हंसराज चोरी करने लगा। चोरी का सामान बेचकर कमाए रुपयों से पॉश इलाकों में भूखंड खरीदने में निवेश करता है। आरोपी हसंराज के खिलाफ राजस्थान दिल्ली सहित आस-पास के राज्यों में अलग अलग थानों में करीब 6 दर्जन से अधिक अभियोग दर्ज है तथा काफी प्रकरण में सजा भी मिल चुकी है।

वारदात कर कार से दूसरे राज्य में भाग निकलते है
आदर्श नगर थानाप्रभारी बृजभूषण अग्रवाल ने बताया कि हंसराज राजभर और उसकी गैंग दिल्ली व आसपास के सीमावर्ती राज्यों में मोबाइल स्टोर में नकबजनी की वारदात करते है। महंगे उपकरण चुराकर ये लोग कार से तुरंत दूसरे राज्य में भाग निकलते है। नकबजनी के बाद ये लोग शोरुम में लगे सीसीटीवी व डीवीआर तोड़ कर चुरा ले जाते है, ताकि वे पकड़े नहीं जा सके। जयपुर में वारदात के बाद सूचना मिली कि दोनों बदमाश कार से भाग रहे है। तब जयपुर-दिल्ली हाइवे पर दौलतपुरा टोलनाके पर धरदबोचा। यह कार्रवाई सब इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार और जिला स्पेशल टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर मनोहर लाल के नेतृत्व में टीम ने की। दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

इस तरह करते है वारदात-
पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी दिल्ली से वाहन लेकर अलग अलग शहरों में जाकर दिन में मार्केट में पहुंचकर दुकानों की रैकी करके दुकान चिन्हित कर शाम के समय शराब या अन्य नशीले पदार्थों का नशा करके दुकान बंद होने के बाद रात में अपना वाहन दुकान से कुछ दूरी पर खड़ा करके बहुत कम समय में दुकान का ताला तोड़कर वअपने साथ लाए वाहन में सामान रखकर फरार होजाते हैं।

Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned