अखिलेश यादव का ट्विटर हैंडल सस्पेंड करने की मांग

अखिलेश को एक शख्स ने भेजा था वॉट्सऐप मैसेज
सपा चीफ ने ट्विटर हैंडल से सार्वजनिक किया युवक का नंबर

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ट्विटर हैंडल को सस्पेंड करने की मांग ट्विटर पर उठ रही है। एक शख्स का मोबाइल नंबर सार्वजनिक रूप से ट्विटर पर डालने को लेकर ट्विटर यूजर्स उनके खिलाफ लामबंद नजर आ रहे हैं। अखिलेश यादव ने एक वॉट्सऐप का स्क्रीनशॉट शेयर किया है, जिसमें एक शख्स ने उन्हें मैसेज भेजा है, जिसमें लिखा है- भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद, अमित शाह जिंदाबाद, मोदी जी जिंदाबाद, टोटी चोर।
इस स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए अखिलेश यादव ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा कि देश की राजनीति व्यक्तिगत धमकियों से होती हुई सार्वजनिक मंचों पर षड्यंत्रकारियों तक को भेजकर राजनेताओं को बदनाम करने की साजिश के निकृष्टतम दौर से गुजर रही है। लेकिन आज की समझदार जनता सब समझकर सत्ताधारियों के झांसे में नहीं आनेवाली बल्कि सत्ता का विरोध करनेवालों के साथ खड़ी है।
ट्विटर हैंडल सस्पेंड करने की मांग
कई ट्विटर यूजर्स को अखिलेश यादव द्वारा एक शख्स का मोबाइल नंबर सार्वजनिक तौर पर पोस्ट करना रास नहीं आया. ट्विटर इंडिया को टैग करते हुए एक यूजर ने लिखा, अखिलेश यादव ने किसी शख्स की प्राइवेट इन्फॉर्मेशन शेयर की है। क्या ये ट्विटर के नियमों का उल्लंघन नहीं है, तुरंत इनका अकाउंट सस्पेंड करें ताकि लगे कि आप राजनीतिक विचारधारा को लेकर निष्पक्ष हैं। एक अन्य यूजर ने लिखा, ट्विटर को अखिलेश यादव का अकाउंट सस्पेंड कर देना चाहिए। उन्होंने किसी शख्स की निजी जानकारी शेयर की है। इसी तरह कई और यूजर्स ने भी इसे लेकर नाराजगी जताई है।
युवक ने लगाए थे जय श्रीराम के नारे
कन्नौज में अखिलेश पार्टी के महिला सम्मेलन में मौजूद थे, उसी दौरान भीड़ में घुसे एक युवक ने जयश्री राम के नारे लगाए थे। इस दौरान उसको कार्यकर्ताओं ने पीटकर पुलिस को सौंप दिया था। इसके बाद अखिलेश ने कहा कि दो दिन पहले उन्हें फोन पर जान से मारने की धमकी मिली थी। उन्होंने कहा था कि हो सकता है, सपा के कार्यक्रम में घुसे युवक को भाजपा के किसी नेता ने भेजा हो। सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री अपनी सरकार के कामों का जिक्र कर रहे थे। इसी बीच सबसे पीछे खड़े एक युवक ने सवाल कर दिया कि बेरोजगारों के लिए क्या किया? पूर्व मुख्यमंत्री ने उसे आगे आने को कहा। युवक आकर जवाब सुनने के बजाय बैरिकेड पर चढ़कर जय श्रीराम के नारे लगाने लगा। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने उसकी पिटाई कर दी। कोतवाली प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि युवक से पूछताछ हो रही है, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा पर बोला हमला
अखिलेश ने सम्मेलन में कहा था कि अमेरिका का सूचना तंत्र विकसित है, वह बता सकता है, लेकिन हमारे देश की सरकार को नहीं पता है कि पुलवामा में आरडीएक्स भरी गाड़ी किधर से आई थी, कौन लाया, किसने लाने दिया और किसकी लापरवाही से 40 जवान शहीद हो गए। सरकार इसकी जांच रिपोर्ट सार्वजनिक करने के बजाय सीएए, एनआरसी व एनपीआर लाकर इन सबसे ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। महिला सम्मेलन के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार में प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार बढ़ा है, प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से रोज माताओं-बहनों के खिलाफ अत्याचार की खबरें आ रही हैं। इस सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं, बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। मेरठ में मेडिकल छात्रा संग वारदात का उदाहरण देते हुए उन्होंने योगी सरकार पर हमला बोला।

BJP
Sharad Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned