वैल्यू डिस्कवरी फंड्स ने 18 प्रतिशत तक का रिटर्न

म्यूचुअल फंड ( Mutual Funds ) की वैल्यू डिस्कवरी स्कीम ( Value Discovery Scheme ) ने निवेशकों को 6 महीने की कम अवधि में 18 प्रतिशत तक का लाभ दिया है, जबकि 10 साल की लंबी अवधि में इसने करीबन 15 प्रतिशत का लाभ दिया है। लाभ देने वाले फंडों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल ( ICICI Prudential ) म्यूचुअल फंड का वैल्यू डिस्कवरी फंड रिटर्न देने में टॉप पर रहा है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 15 Sep 2020, 12:21 PM IST

जयपुर। म्यूचुअल फंड की वैल्यू डिस्कवरी स्कीम ने निवेशकों को 6 महीने की कम अवधि में 18 प्रतिशत तक का लाभ दिया है, जबकि 10 साल की लंबी अवधि में इसने करीबन 15 प्रतिशत का लाभ दिया है। लाभ देने वाले फंडों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड का वैल्यू डिस्कवरी फंड रिटर्न देने में टॉप पर रहा है।
अर्थलाभ डॉटकॉम के आंकड़ों के मुताबिक 6 महीने की अवधि में (12 मार्च से 13 सितंबर 2020) आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल वैल्यू डिस्कवरी फंड ने 18.30 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी अवधि में आदित्य बिरला सन लाइफ प्यूर वैल्यू ने 11.19 प्रतिशत, टाटा इक्विटी पीई ने 10.08 प्रतिशत और एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर वैल्यू फंड ने 9.39 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह निप्पोन इंडिया वैल्यू फंड ने 7.94 प्रतिशत, एलएंडटी इंडिया वैल्यू ने 7.70 प्रतिशत, यूटीआई वैल्यू अपोच्र्युनिटीज फंड ने 6.24 और आईडीएफसी स्टर्लिंग वैल्यू फंड ने 2.33 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी अवधि में इसके बेंचमार्क निफ्टी 500 वैल्यू 50 टोटल रिटर्न इंडेक्स ने 15.89 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।
अर्थलाभ डॉटकॉम के आंकड़ों से पता चलता है कि बेंचमार्क से ज्यादा रिटर्न केवल आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल ने दिया है। पीयर ग्रुप एवरेज की बात करें तो इसने 6 महीने में 9.24 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह 10 साल (12 सितंबर 2010 से 13 सितंबर 2020) की बात करें तो आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इसमें भी टॉप पर रहा है। इसके वैल्यू फंड ने 14.62 प्रतिशत का रिटर्न दिया है, जबकि एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर वैल्यू फंड ने 8.91 प्रतिशत का रिटर्न या है। निफ्टी बेंचमार्क 500 वैल्यू 50 ने महज 1.98 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।
इसी दस साल में आईडीएफसी वैल्यू फंड ने 8.32 प्रतिशत का रिटर्न दिया है, जबकि यूटीआई वैल्यू ने 8.73 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एलएंडटी इंडिया वैल्यू ने 11.30 प्रतिशत का, जबकि निप्पोन इंडिया वैल्यू फंड ने 8.17 प्रतिशत का रिटर्न निवेशकों को दिया है। टाटा इक्विटी पीई ने इस दौरान 10.26 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आदित्य बिरला सन लाइफ के प्यूर वैल्यू फंड ने 9.24 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। पीयर ग्रुप एवरेज ने 9.72 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।
एक साल की अवधि की बात करें यानी 12 सितंबर 2019 से 13 सितंबर 2020 तक की अवधि में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल वैल्यू ने 6.21 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। बिरला सन लाइफ के प्यूर वैल्यू ने -1.62 प्रतिशतए एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर वैल्यू फंड ने -0.95 प्रतिशत, आईडीएफसी स्टर्लिंग वैल्यू फंड ने -3.32 प्रतिशत, निफ्टी 500 वैल्यू 50 टीआरआई ने -9.55 प्रतिशत का घाटा दिया है। हालांकि टाटा इक्विटी पीई ने 2.80 प्रतिशत, निप्पोन इंडिया वैल्यू ने 4.05 प्रतिशत और एलएंडटी वैल्यू ने 3.73 प्रतिशत का लाभ दिया है।
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के वैल्यू फंड का लॉर्ज कैप में 80.63 प्रतिशत एक्सपोजर है, जबकि मिडकैप में 16.66 और स्मालकैप में महज 2.71 प्रतिशत है। यह फंड फार्मा, सॉफ्टवेयर और टेलीकॉम में ओवरवेट है। बैंकिंग और फाइनेंशियल में अंडरवेट है। विश्लेषकों के मुताबिक निवेशकों को वैल्यू डिस्कवरी में निवेश करते समय यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि कौन सा फंड बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। उन्हें निवेश सलाहकारों से सलाह लेकर निवेश करना चाहिए। जिस तरह से कम और ज्यादा दोनों अवधि में वैल्यू डिस्कवरी फंड ने प्रदर्शन किया है, उससे यह एक अच्छी स्कीम निवेशकों के लिए साबित हुई है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned