अब Vasundhara Raje का Ashok Gehlot सरकार पर ‘हल्ला बोल’, जानें तीन ट्वीट्स के ज़रिये कैसे किया 'वार'

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सरकार पर साधा निशाना, एक के बाद एक तीन ट्वीट्स के ज़रिये ‘हल्ला बोल’, जोधपुर-गंगानगर की दो घटनाओं को बताया ‘सरकार के माथे पर कलंक’, दौसा-करौली-जोधपुर में बालिकाओं से दुष्कर्म मामले पर भी जताई चिंता, बिजली मुद्दे पर सरकार की नीतियों को भी रखा कटघरे में

 

By: nakul

Published: 30 Aug 2020, 08:07 PM IST

जयपुर।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी गहलोत सरकार के खिलाफ ‘हल्ला बोल’ दिया है। राजे ने रविवार को एक के बाद एक तीन ट्वीट्स करते हुए सरकार को बिगडती कानून व्यवस्था और बिजली के मुद्दे पर जमकर घेरा।

राजे की इन प्रतिक्रियाओं में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सीधे तौर पर उनके निशाने पर रहे। दरअसल, राजे ने जोधपुर में किसान की मौत और एक बालिका से दुष्कर्म की दो अलग-अलग घटनाओं का ज़िक्र किया। जबकि विभिन्न घटनाओं का उदाहरण देते हुए प्रदेश भर में बिगडती कानून व्यवस्था पर चिंता जताई। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री का गृह क्षेत्र जोधपुर है जबकि वे प्रदेश के गृह मंत्री भी हैं।

‘कांग्रेस सरकार के माथे पर लग रहा कलंक’
राजे ने पहले ट्वीट प्रतिक्रिया में लिखा, ‘गंगापुरसिटी में पानी की मांग को लेकर एक वृद्ध का टंकी से कूदकर जान दे देना तथा जोधपुर में किसान आंदोलन के दौरान युवा किसान पुखराज डोगियाल का निधन हो जाना। दोनों ही घटनाएं कांग्रेस सरकार के माथे पर कलंक है, जिन्होंने राजस्थान को शर्मिंदा करने का काम किया है।'

‘बच्चियों से दुष्कर्म कर रहीं शर्मसार’
जबकि दूसरे ट्वीट में पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा, ‘एक हमारी भाजपा सरकार थी, जिसने बच्चियों से दुष्कर्म के आरोपियों को फांसी की सजा का कानून बनाया। दूसरी ओर ऐसी कांग्रेस सरकार है जिसके कुशासन में दौसा में दिव्यांग किशोरी, करौली में दो चचेरी बहनों व जोधपुर में बच्ची से दुष्कर्म जैसी घटनाएं रोज हमें शर्मसार कर रही हैं।'

‘उपभोक्ताओं-किसानों से हो रही अवैध वसूली’
वहीं तीसरी और अंतिम प्रतिक्रिया में उन्होंने बिजली मुद्दे पर सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा, ‘हमारी भाजपा सरकार द्वारा प्रत्येक कृषि कनेक्शन पर 833 रु की सब्सिडी के रूप में छूट दी गई थी, जिसे भी कांग्रेस सरकार ने बंद कर दिया। वहीं अब पिछले 3 माह से बिजली की अघोषित कटौती व वीसीआर के नाम पर उपभोक्ताओं व किसानों से हजारों रुपये की अवैध वसूली की जा रही है।'

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned