वर्टिकल गार्डन से लाएं हरियाली

वर्टिकल गार्डन से लाएं हरियाली

By: Tasneem Khan

Updated: 05 Sep 2019, 05:33 PM IST

जयपुर। कम स्पेस को भी आप हरा—भरा बना सकते हैं। यानी अपना एक बगीचा दीवार पर भी टांग सकते हैं। हम बात कर रहे हैं वर्टिकल गार्डन की। जो आज हर घर की गार्डन वाली जरूरत पूरी कर रहा है। जो घर छोटे हैं और उनमें बगीचे का स्पेस नहीं है, वहां आप ये वर्टिकल गार्डन लगाकर घर में हरियाली की जरूरत को पूरा कर सकते हैं। देखने में ये जितने आकर्षक लगते हैं, उतना ही यह आपके घर को तरोताजा रखने का काम भी करते हैं। आजकल बाजार में आसानी से ये वर्टिकल गार्डन मिल जाते हैं। यही नहीं आॅनलाइन आॅर्डन कर भी आप अपने घर की किसी दीवार को हरा कर सकते हैं। इस वर्टिकल गार्डन को लगाने के कुछ फायदे हैं तो कुछ नियम भी हैं, इन्हें जरूर फॉलो करें।

1 वर्टिकल गार्डन को अब लिविंग वाॅल्स कहा जाने लगा है। इससे घर का प्रदूषण काफी हद तक कम होता है। इस वर्टिकल गार्डन को आप किचन गार्डन का रूप भी दे सकते हैं, इनमें कुछ सब्जियां उगाकर।

2 किचन गार्डन के लिए आप इसमें हरा धनिया, पुदीना, पालक लगा सकते हैं। कुछ बड़े पॉट्स में आलू भी लगाए जा सकते हैं। हरी सब्जियां, एलोवेरा, अजवाइन भी इसमें उगाए जा सकते हैं।
3 इस गार्डन के गमलों में मिट्टी, कोको पीट और ऐसी चीजें भरनी चाहिए, जिससे पौधों को जरूरी न्यूट्रिएंट्स मिल सकें। इसमें हमेशा नमी बनी रहनी चाहिए।

4 वर्टिकल गार्डन के लिए आप घर को जो भी दीवार चुन रहे हैं, उस पर डायरेक्ट, इनडायरेक्ट या तेज धूप का ध्यान रखा जाना चाहिए। दीवार पर रोशनी कम है तो फूल वाले प्लांट्स लगाने चाहिए।

5 एक वर्टिकल गार्डन के स्ट्रक्चर वाली दीवार में सिरेमिक टाइल्स लगाई जानी चाहिए, ताकि मेंटेनेंस में आसानी हो सके। स्टड के सहारे एक प्लास्टिक का फ्रेम फिक्स करके बीच में साफ-सफाई के लिए जगह रखी जानी चाहिए ।

6 मिट्टी के साथ बाजार में मिलने वाले खाद का भी यूज करें। बाजार में बनी-बनाई खाद मिलती है, जो चिपकती नहीं है और पौधों को निर्धारित समय तक जरूरी पोषण देती है। जब ये एक्सपायर हो जाए, तो गमले में दूसरी खाद लाकर डाल दें।

7 किसी भी पौधे को रोजाना एक लीटर से ज्यादा पानी की जरूरत नहीं पड़ती। इससे ज्यादा पानी से आपका वर्टिकल गार्डन खराब हो सकता है।
8 अगर आपने घर की बाहरी दीवार पर वर्टिकल गार्डन लगाया है तो ध्यान रहे कि तेज धूप से आपके पौधे बचे रहें।

9 वर्टिकल गार्डन्स फलदार पौधों, मौसमी और बारहमासी पौधों सभी के लिए बढ़िया होते हैं। सीजनल फूलों वाले पौधे दीवार को रंग-बिरंगा बनाए रखते हैं। इससे कुछ समय तक दीवार का रंग, पैटर्न और खूबसूरती निखर जाती है।

10 एक वर्टिकल गार्डन की एवरेज लाइफ एक से चार साल हो सकती है। हालांकि पौधों की देखभाल उसी तरह की जानी जरूरी है, जिस तरह किसी गार्डन में की जाती है।

Tasneem Khan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned