सामूहिक बलात्कार की पीडि़ता ने हाईकोर्ट को बताया झूठा है आरोपियों से समझौते का शपथ पत्र

Karauli)करौली जिले में हुए (Gang Rape) सामूहिक बलात्कार के मामले में अदालती आदेश की पालना में (Victim) पीडि़ता ने सोमवार को (Rajasthan Highcourt) हाईकोर्ट में (present) पेश होकर कहा कि उसके नाम से दायर किया गया (compromise) समझौते का (affidavit) शपथ पत्र (False) झूठा है।

By: Mukesh Sharma

Published: 22 Jun 2020, 08:19 PM IST

जयपुर
(Karauli)करौली जिले में हुए (Gang Rape) सामूहिक बलात्कार के मामले में अदालती आदेश की पालना में (Victim) पीडि़ता ने सोमवार को (Rajasthan Highcourt) हाईकोर्ट में (present) पेश होकर कहा कि उसके नाम से दायर किया गया (compromise) समझौते का (affidavit) शपथ पत्र (False) झूठा है। अवकाशकालीन न्यायाधीश अभय चतुर्वेदी की कोर्ट में पीडि़ता ने स्वयं हाजिर होकर बताया है कि शपथ पत्र फर्जी है अौर उसने आरोपियों से कोई समझौता नहीं किया है और न ही उसका बच्चा उसे वापस लौटाया गया है।
गौरतलब है कि आरोपी कैलाश चन्द्र व अन्य की जमानत अर्जियों की सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया गया था कि पीडिता के साथ समझौता हो चुका है और वह केस को आगे नहीं चलाना चाहती है। इस संबंध में पीडिता के हस्ताक्षर वाला एक शपथ पत्र भी पेश किया गया था। इसके विरोध में पीडिता की ओर से जमानत अर्जी का विरोध कर रहे वकील ने कोर्ट केा बताया था कि पीडिता का कोई राजीनामा नहीं हुआ है और शपथ पत्र फर्जी है। पीडिता ने पूर्व में एक अन्य वकील को जमानत अर्जी का विरोध करने के लिए खाली कागजों पर हस्ताक्षर कर दिए थे और इन्हीं कागजों पर मिलीभगत कर शपथ पत्र तैयार कियाहै और उसे बच्चा भी अब तक नहीं लौटाया गया है साथ ही उसका वकालतनामा भी गलत पेश किया है।
इस पर कोर्ट ने पीडिता और अनुसंधान अधिकारी को 22 जून को पेश होने के आदेश दिए थे।
सोमवार को पीडिता व अनुसंधान अधिकारी कोर्ट में पेश हुए और पीडिता ने आरोपियों के साथ राजीनाम नहीं होने तथा अब तक बच्चा वापिस नहीं मिलना बताया। वकीलों ने मामले में बहस के लिए समय मांगा था इस पर कोर्ट ने 30 अगस्त तक सुनवाई टाल दी है। पीडिता ने पिछले साल करौली में अपने साथ सामुहिक बलात्कार होने और अपना बच्चा डेढ लाख रुपए में बेचने को लेकर एफआईआर दर्ज करवाई थी। इसी मामले में पुलिस ने आरोपी कैलाश चन्द्र अग्रवल,हरीओम और मोहनलाल को गिरफ्तार किया था।

Mukesh Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned