सोलर पॉवर से जगमग होगी राजस्थान विधान सभा,560 मेगावाट का सोलर पॉवर स्टेशन होगा स्थापित

सोलर पॉवर से जगमग होगी विधान सभा
560 किलोवाट का ग्रिड कनेक्टेड सोलर पॉवर प्लांट होगा स्थापित
रीको और राजस्थान माइंस एंड मिनरल संयुक्त रूप से करेंगे 3 करोड़ 46 लाख रुपए से ज्यादा खर्च

By: PUNEET SHARMA

Published: 01 Aug 2020, 07:26 AM IST


जयपुर।
राजस्थान विधान सभा भवन जल्द ही ग्रीन एंड क्लीन पॉवर यानि सोलर पॉवर से जगमग होगा। विधान सभा पर जल्द ही रीको और राजस्थान माइंस एंड मिनरल लिमिटेड सामाजिक जिम्मेदारी के तहत 3 करोड 46 लाख की लागत से 560 किलोवाट का ग्रिड कनेक्टेड सोलर पॉवर प्लांट स्थापित करने की तैयारी कर रहे हैं। ग्रिड स्थापित करने के लिए भारत सरकार की राजस्थान इलेक्ट्रोनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड से एक सप्ताह पहले एमओयू कर लिया गया है।

जानकारी के अनुसार राज्य सरकार राजधानी जयपुर में बडे सरकारी भवनों में आ रहे बिजली के भारी भरकम बिल को कम करने चाहती है। सरकार की इसी योजना के तहत रीको और माइंस एंड मिनरल लिमिटेड ने कॉर्पोरेट सोशल रेस्पांसिबिलिटी यानि सामाजिक जिम्मेदारी के तहत विधान सभा भवन पर सोलर पॉवर ग्रिड स्टेशन स्थापित करने के लिए पहल की है।

बोर्ड की बैठक में यह एजेंडा रखा गया और इसे पारित करते हुए रीको ने इस पर अमल भी शुरू कर दिया। पॉवर प्लांट पर आने वाली 3 करोड 46 लाख 80 हजार की लागत में से रीको और माइंस एंड मिनरल लिमिटेड आधी आधी राशि देंगे।
विधान सभा को सोलर पॉवर से जगमग करने का जिम्मा राजस्थान इलेक्ट्रोनिक्स एंड इंस्टूमेंटेशन लिमिटेड को दिया गया है। कंपनी छह माह में विधान सभा पर इस सोलर पॉवर प्लांट को स्थापित करेगी। अब एमओयू के बाद रीको के अधिकारी जल्द काम शुरू करने की तैयारी में जुट गए हैं।
———————————————————
सीएसआर के तहत विधान सभा भवन पर स्थापित होने वाला यह प्लांट काफी महत्वपूर्ण है। इस पर रीको और माइंस एंड मिनरल लिमिटेड संयुक्त रूप से काम कर रहे हैं।
आशुतोष एटी पेडणेंकर
एमडी— रीको

PUNEET SHARMA Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned