विद्यार्थी परिषद ने फिर किया प्रदर्शन,भूख हड़ताल पर बैठे कार्यकर्ताओं की तबीयत बिगड़ी


21 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं परिषद कार्यकर्ता

जारी रहेगा धरना और भूख हड़ताल

By: Rakhi Hajela

Published: 05 Mar 2021, 09:33 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India


पिछले 12 दिन से अपनी 21 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलनरत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (Akhil bhartiya vidharthi Parishad) के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार एक बार फिर विवि परिसर (University campus) में प्रदर्शन किया। वहीं दूसरी ओर पिछले पांच दिन से भूख हड़ताल पर बैठे परिषद कार्यकर्ताओं की तबीयत बिगडऩे के कारण उन्हें अस्पताल ले जाया गया। परिषद के प्रदेशमंत्री होशियार मीणा के नेतृत्व में हुए इस प्रदर्शन में परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजय ठाकुर और प्रांत संगठन मंत्री अर्जुन तिवारी भी शामिल हुए। हाथों में अपने मांगों के समर्थन में लिखी तख्तियां लेकर प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं का कहना था कि वह पिछले 12 दिनों से धरना दे रहे हैं और पांच कार्यकर्ता पांच दिन से भूखहड़ताल पर हैं लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन ने उनकी कोई सुध नहीं ली। इतना ही नहीं विवि के कुलपति प्रो. राजी जैन परिषद की मांगों को लेकर कोई सकारात्मक निर्णय करने के स्थान पर छुट्टी लेकर बाहर चले गए।

कार्यकर्ताओं की तबीयत हुई खराब

वहीं दूसरी ओर पांच दिन से विवि परिसर में भूख हड़ताल पर बैठे परिषद के कार्यकर्ताओं की तबीयत बिगडऩे पर उन्हें एसएमएस अस्पताल ले जाया गया। जहां उनका इलाज चल रहा है। गौरतलब है कि परिषद की ओर से किए गए प्रदर्शन के बाद 2 कार्यकर्ता जब धरने पर बैठे हुए थे कि उसी दौरान उन्हें चक्कर आने लगे और उसे एम्बुलेंस के जरिए एसएमएस अस्पताल ले जाया गया। परिषद के प्रदेश मंत्री होशियार मीणा का कहना है कि चाहे तो जो भी हो जाए जबतक हमारी मांगें पूरी नहीं होती धरना और भूख हड़ताल जारी रहेगी।

यह हैं विद्यार्थी परिषद की मांगें
: सभी छात्रों को पांच फीसदी बोनस अंक दिए जाने की मांग
: नॉन कॉलेज वाले छात्रों से विमर्श शुल्क के नाम पर हजार रुपए की वसूली रोकी जाए
: उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए आरपीएससी कॉलेज लेक्चरर भर्ती से पहले सेट परीक्षा का आयोजन हो
: उच्च शिक्षा में स्नातक व स्नातकोत्तर में प्रमोट हुए छात्र छात्राओं को सभी प्रकार की छात्रवृत्ति दी जाए
: राजस्थान विश्वविद्यालय की नई लाइब्रेरी को जल्द से जल्द शुरू किया जाए
: सत्र 2021 के पीजी सेमेस्टर व यूजी के सभी कक्षाओं का परीक्षा पाठ्यक्रम में कमी की जाए क्योंकि परीक्षा की तैयारी के लिए बहुत ही कम समय दिया जा रहा है
: राजस्थान विश्वविद्यालय के प्रशासनिक कार्यों को डिजिटल करके सिंगल विंडो सिस्टम अपनाया जाए
: बालिका शिक्षा निशुल्क करने के अपने वादे को राजस्थान सरकार पूरा करें
: बेरोजगारी भत्ते की वेरिफिकेशन प्रक्रिया को त्वरित करके जल्द से जल्द बेरोजगारी भत्ता शुरू करें
: बस किराए में की गई बढ़ोतरी कम की जाए। एसी लो फ्लोर बसों में भी एसटी चालू किया जाए
: राजस्थान विश्वविद्यालय के वीसी महोदय की नियुक्ति प्रक्रिया की स्पष्ट जांच हो
: जल्द से जल्द एमपेट परीक्षा का आयोजन किया जाए
: बंद पड़े विभागों को पुनरू शुरू किया जाए या उनके भवनों को और कार्यों में उपयोग करें ना कि खंडहर बनाया जाए
: राजस्थान विश्वविद्यालय के स्पोट्र्स ग्राउंड में बाहरी लोगों द्वारा एकेडमी चलाई जा रही है उन पर रोक लगे
: नियमित यूजी और पीजी के छात्रों से लिए जाने वाले विकास शुल्क व अन्य शुल्क का सदुपयोग छात्र हित में हो
: विश्वविद्यालय में छात्रावासों में सफाई व्यवस्था व पीने के पानी के लिए स्वच्छ पानी की व्यवस्था की जाए एवं गुणवत्ता पूर्व खाना उपलब्ध करवाया जाए
: निजी कोचिंग संचालकों द्वारा कोरोना महामारी के दौरान की फीस वापस की जाए अथवा समायोजित की जाए
: सभी भर्तियों को जल्द से जल्द पूरा करके निष्पक्ष भर्ती प्रक्रिया अपनाई जाए
: विवि परिसर में पोस्टर पेंट रंग रोगन व अन्य विकल्पों पर रोक लगाई जाए
: 11.67 लाख के छात्र संघ के बजट के फर्जी बिलों की जांच हो
: द्वितीय वर्ष में प्रथम वर्ष नॉन कॉलेज रहे छात्रों को नियमित छात्र के रूप में द्वितीय वर्ष में प्रवेश दिया जाए
: प्रायोगिक परीक्षाओं के चयन पर कुलपति और परीक्षा नियंत्रक पर जो आरोप लगाए गए हैं उनकी जांच की जाए

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned