scriptBHU Proctorial Board uniform will change from September 30 | बीएचयू की नई चीफ प्रॉक्टर ने कहा, संवादहीनता से बढ़ा बवाल | Patrika News

बीएचयू की नई चीफ प्रॉक्टर ने कहा, संवादहीनता से बढ़ा बवाल

नवनियुक्त चीफ प्रॉक्टर प्रो. रोयाना सिंह ने पदभार संभालते ही मीडिया को बताया, छात्राओं के आने जाने पर नहीं होगी समय की पाबंदी

 

वाराणसी

Updated: September 28, 2017 07:02:36 pm

वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय के आंतरिक सुरक्षा बल की वर्दी अब बदल जाएगी। नवनियुक्त चीफ प्रॉक्टर प्रो. रोयाना सिंह ने पदभार संभालते ही मीडिया को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अब प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सदस्य ग्रे पैंट और लाइट ग्रे शर्ट पहनेंगे। बता दें कि 23 सितंबर को विश्वविद्यालय परिसर में हुए बवाल और लाठीचार्ज के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने बीएचयू को पत्र लिख कर वर्दी बदलने की नोटिस दी। साथ ही विश्वविद्यालय प्रशासन को इसके लिए 48 घंटे की मोहलत दी। यहां तक कहा कि निर्धारित समयावधि में वर्दी न बदली तो विधिक कार्रवाई की जाएगी। ऐसे में निर्धारित अवधि के बाद प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सदस्य बेवर्दी हो गए थे।
बीएचयू की चीप प्रॉक्टर
प्रो. रोयाना सिंह
 

बता दें कि इससे पहले 2013 में प्रॉक्टोरियल बोर्ड की वर्दी बदली थी। तब चीफ प्रॉक्टर रहे समाजशास्त्र विभाग के अध्यक्ष प्रो.अरविंद जोशी ने उत्तर प्रदेश पूर्व सैनिक कल्याण निगम द्वारा स्वीकृत तकरीबन काले रंग की वर्दी अपनाई थी। लेकिन साल भर बाद ही जब प्रो. जीसी त्रिपाठी कुलपति बन कर आए तो उन्होंने उस वर्दी को बदलवा दिया। तब से प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सदस्य पुलिस की खाकी वर्दी में आ गए थे। इस पर कई बार सवाल उठा। पूर्व जिलाधिकारी विजय किरन आनंद और पूर्व एसएसपी आकाश कुलहरि ने भी बीएचयू से पुलिस वाली खाकी वर्दी बदलने को कहा था लेकिन तब उनकी बात को विश्वविद्यालय प्रशासन ने अनसुना कर दिया था।
 

मानक के अनुसार विश्वविद्यालय हो या अन्य कोई निजी संस्थान आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा डायरेक्टर जनरल सेटेलमेंट द्वारा अप्रूव होना चाहिए। चाहे सुरक्षाकर्मी हों या वर्दी सभी कुछ उत्तर प्रदेश पूर्व सैनिक कल्याण निगम के दिशा निर्देश के तहत ही होना चाहिए। इसके तहत कोई भी संस्थान पुलिस, थल सेना, वायु सेना या जल सेना की वर्दी इस्तेमाल नहीं कर सकता। लेकिन बहुधा कई संस्थानों में इसका पालन नहीं किया जाता। बीएचयू में भी पिछले तीन साल से यही हो रहा था।
 

बीएचयू बवाल के पीछे संवादहीनता

21-23 सितंबर तक के बवाल के बाबत चीफ प्रॉक्टर प्रो. सिंह ने कहा कि बवाल की जड़ संवादहीनता रही। अब इस तरह की घटना न हो इसके लिए एक कमेटी बनाई जाएगी। कमेटी में विश्वविद्यालय के शिक्षकों के अलावा शोध छात्र-छात्राएं भी रहेंगे। छात्राओं को विश्वास में लेते हुए प्रभारी सवाद स्थापित किया जाएगा ताकि किसी तरह की घटना की जानकारी मिलते ही जल्द से जल्द उचित कार्रवाई हो सके। विश्वविद्यालय में 65 स्थान चिह्नित कर के सीसी टीवी कैमरे लगवाए जा रहे हैं। यह प्रक्रिया छह महीने तक चल सकती है। हालांकि हम लोग यह प्रयास करेंगे कि जल्द से जल्द प्रक्रिया पूरी हो जाए।
 

 

छात्राओं पर नहीं होगी समय की पाबंदी

विद अर्न के तहत फिजिकल एजूकेशन की छात्राओं को प्रॉक्टोरियल बोर्ड में शामिल किया जाएगा। इनकी संख्या कुल सुरक्षाकर्मियों की एक तिहाई होगी। तत्काल 20-25 की संख्या में लड़कियों को तैनात करेंगे। कारण कि अभी महिला सुरक्षाकर्मी पर्याप्त संख्या में नहीं मिल पा रही। कहा कि त्रिवेणी हॉस्टल और मेडिकल कॉलेज के बीच जगह को चिह्नित किया जाएगा ताकि शाम के समय उन्हीं को प्रवेश दिया जाएगा जिनके पास परिचय पत्र होगा। लेकिन सुरक्षाकर्मियों की पेट्रोलिंग लगातार जारी रहेगी। कहा कि जहां ज्यादा अंधेरा रहता है वहां लाइट लगाई जाएगी। कहा कि किसी भी छात्रा के लिए समय की पाबंदी न हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Punjab Election 2022: गठबंधन के तहत BJP 65 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, जानिए कैप्टन की PLC और ढींढसा को क्या मिलाराष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमकोरोना से ठीक होने के बाद ऐसे रखें अपने सेहत है ख्यालUP election 2022 - सपा ने जारी की विधानसभा प्रत्याशियों की सूचीएनएफएसयू का साइबर डिफेंस सेंटर अब आईएसओ-आईसी प्रमाणित, बनी देश की पहली लैब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.