वर्चुअल एलुमिनाई मीट:दुनिया भर के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े पूर्व विद्यार्थी, साझा किए अनुभव

कृषि महाविद्यालय की पहली वर्चुअल एलुमिनाई मीट आयोजित

कुलपति का आह्वान, किसानों से करें संवाद, पहुंचाएं नई तकनीकियां

By: Rakhi Hajela

Published: 26 Dec 2020, 05:23 PM IST

कृषि महाविद्यालय की पहली वर्चुअल एलुमिनाई मीट शनिवार को आयोजित हुई। पिछले 25 वर्षों में यहां से पढ़ चुके पूर्व विद्यार्थी इसमें शामिल हुए। एलुमिनाई मीट में आस्ट्रेलिया और तंजानिया से भी पूर्व विद्यार्थी जुड़े। वहीं नोखा विधायक और कृषि महाविद्यालय में पढ़ चुके बिहारी लाल बिश्नोई ने भी वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर पुराने साथियों के साथ अपनी यादें ताजा की।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो.आरपी सिंह थे। उन्होंने कहा कि कृषि वैज्ञानिक अधिक से अधिक किसानों से सीधा संवाद बनाने और उन तक कृषि की नवीनतम तकनीकियां पहुंचाने का संकल्प लें। महाविद्यालय के पूर्व और वर्तमान विद्यार्थियों के मध्य सतत संवाद रहें, इसके प्रयास किए जाएं। इसके लिए महाविद्यालय को पहल करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पिछले बीस.पच्चीस वर्षों में कृषि के परिदृश्य में बहुत बदलाव आया है। बढ़ती जनसंख्या और सीमित संसाधनों के कारण आज भी अनेक चुनौतियां हैं। ऐसे में किसानों को उनकी उपज का पूरा मूल्य दिलवाना भी चुनौती है। इसके लिए मूल्य संवर्धन, प्रसंस्करण, रखरखाव, भंडारण एवं विपणन की ओर ध्यान देना होगा। उन्होंने एलुमिनाई मीट को पूर्व विद्यार्थियों के जीवन का अविस्मरणीय कार्यक्रम बताया। महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ.आईपी सिंह ने महाविद्यालय द्वारा की गई ई.लर्निंग और ऑनलाइन क्लासेज व्यवस्था की जानकारी दी। सोसायटी सचिव डॉ.राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने आभार जताया। संचालन डॉ. एके मीणा ने किया।
आस्ट्रेलिया और तंजानिया से जुड़े पूर्व विद्यार्थी
वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर आयोजित हुई एलुमिनाई मीट में आस्ट्रेलिया से प्रेम कुमार वर्मा, तंजानिया से विनोद बिश्नोई, नई दिल्ली से ओम प्रकाश शर्मा, रोहित गोयल और सुनीलए लखनऊ से डॉ. प्राची भार्गव, बैंगलुरू से गौरव मिढ्ढा,नोयडा से राम किशन शर्मा, पंजाब से हरसिमरनजीत कौर, देहरादून से डॉ. लेखचंद ने सहित अनेक पूर्व विद्यार्थियों ने भागीदारी निभाई। वहीं नोखा के विधायक बिहारी लाल बिश्नोई ने भी पूर्व विद्यार्थी के तौर पर इसमें भागीदारी निभाई।
साझा किए अनुभव, मिल न पाने का रहा मलाल
वर्चुअल एलुमिनाई मीट के दौरान देश और विदेश के अलग.अलग क्षेत्रों से जुड़े पूर्व विद्यार्थियों ने कई अनुभव साझा किए। इन पूर्व विद्यार्थियों ने छात्रावास एवं पूर्व प्राध्यापकों से जुड़ी यादें, विद्यार्थी जीवन से लेकर अब तक आई चुनौतियों एवं वर्तमान स्थिति के बारे में बताया। वर्षों बाद एक.दूसरे को देख पाने की खुशी थी, लेकिन साथ ही कोरोना काल के कारण मिल नहीं पाने का मलाल भी साफ देखा गया। बीकानेर मूल के कुछ पूर्व विद्यार्थियों ने अगली बार यहां आने के दौरान शिक्षकों से मिलने महाविद्यालय आने का वादा किया।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned