राजस्थान: कांग्रेस-BJP की गरमाई राजनीति से इत्तर विश्वेन्द्र-पूनिया की दिलचस्प दोस्ती के चर्चे, जानें क्यूं?

‘गरमाई’ सियासत के बीच दिखा अलग रंग. धुर विरोधी दलों के दो नेताओं की दोस्ती चर्चा में, ‘कांग्रेसी’ विश्वेन्द्र सिंह और ‘भाजपाई’ सतीश पूनिया के बीच ‘दोस्ताना’, विश्वेन्द्र को पसंद आया पूनिया का स्कार्फ- तो पूनिया ने भी दिया ‘उम्दा’ जवाब, दोनों नेताओं की दोस्ती को कोई सराह रहा, तो कोई ले रहा चुटकी

 

By: nakul

Published: 20 Feb 2021, 02:05 PM IST

जयपुर।

प्रदेश में विभिन्न मुद्दों को लेकर कांग्रेस-भाजपा नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोपों का सिलसिला जारी है। लेकिन इस गरमाई सियासत से इत्तर दोनों विरोधी दलों के दो सीनीयर नेताओं की दोस्ती चर्चा में है। गहलोत सरकार के पूर्व मंत्री व भरतपुर के डीग से विधायक विश्वेन्द्र सिंह और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया की सोशल मीडिया पर दिखी इस दिलचस्प दोस्ती को लोग सराह भी रहे हैं तो चुटकियां लेने से भी बाज़ नहीं आ रहे हैं।

‘स्कार्फ’ बना दोस्ती का ज़रिया!
वाक्या सोशल मीडिया के ट्विटर प्लेटफॉर्म से जुड़ा है जहां भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने अपनी तस्वीर के साथ एक पोस्ट साझा की। तस्वीर में पूनिया का स्कार्फ पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह को इतना पसंद आया कि उन्होंने भापा प्रदेश अध्यक्ष के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए स्कार्फ के प्रति अपनी पसंद बता डाली।

कांग्रेस विधायक ने पूनिया के स्कार्फ को लेकर लिखा, ‘लव द स्कार्फ’। बस फिर क्या था धुर विरोधी पार्टी के विधायकों की ‘हाईटेक’ दोस्ती का सिलसिला जारी रहा और पूनिया ने भी अपने दोस्त को जवाब दे दिया।

vishvendra singh satish poonia 1

पूनिया ने विश्वेन्द्र को ट्वीट सन्देश में ही जवाब देते हुए कहा, ‘शुक्रिया राजा साहब, अब जब हम अगली बार विधानसभा में मिलेंगे तब आपके लिए ऐसा ही एक स्कार्फ लाने की कोशिश करूंगा।‘

vishvendra singh satish poonia

किसी ने सराहा, किसी ने ली चुटकी
विरोधी दलों के दो नेताओं के बीच हर दिन दिखती गरमाई सियासत से इत्तर दोस्ती का ये नज़ारा यूज़र्स के लिए भी चर्चा का विषय बना रहा। कुछ ने इस दोस्ताना अंदाज़ को सुखद बताया तो कुछ ने जमकर चुटकियाँ भी लीं।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned