बच्चों की खुशी के लिए बनाते हैं उनकी जैसी गुड़िया

इसे बनाने का उद्देश्य पीडि़त बच्चों के आत्म-सम्मान को बढ़ाना व उनके चेहरे पर मुस्कान बिखेरना है।

By: Kiran Kaur

Published: 06 Jun 2021, 09:26 AM IST

विटिलिगो (त्वचा विकार) से ग्रसित बच्चों के लिए ब्राजील के ६६ वर्षीय जोआओ स्टैंगनेली क्रोशिया से गुडिय़ा बनाते हैं। उनकी बनाई गुडिय़ा की त्वचा पर भी सफेद दाग होते हैं, जिसे उन्होने विटिलिंडा डॉल नाम दिया है। इसे बनाने का उद्देश्य पीडि़त बच्चों के आत्म-सम्मान को बढ़ाना व उनके चेहरे पर मुस्कान बिखेरना है। जोआओ को स्वयं भी यह समस्या है। गेस्ट्रोनॉमी इंडस्ट्री में काम करने वाले जोआओ की जिंदगी तीन साल पहले उस समय बदल गई, जब उन्हें हृदय संबंधी समस्या हुई। उन्होंने दिमाग को स्वस्थ, सक्रिय और खुश रहने के लिए शौक विकसित करने का फैसला किया। इसके लिए उन्होंने पत्नी से क्रोशिया सीखा।
इंस्टाग्राम पर प्रशंसक
स्टैंगनेली बताते हैं कि क्रोशिया चलाना आसान नहीं था। मैंने कई बार इसे छोड़ने के बारे में सोचा। अब मैं लगभग हर समय गुड़िया बनाता हूं और मेरे पास कई ऑर्डर हैं। विटिलिंडा के अलावा वह 'व्हीलचेयर पर गुड़िया' भी बना चुके हैं, जिसे इंटरनेट पर काफी सराहा गया। उनके इंस्टाग्राम पर २० हजार से अधिक फॉलोअर्स हैं।

Kiran Kaur Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned