प्यास बुझाने को भटकते थे, वहां नलों से पहुंचेगा पानी

जल जीवन मिशन: प्रदेश के करीब 100 गांवों में होगा काम

By: jagdish paraliya

Published: 18 Feb 2020, 05:32 PM IST

2024 तक हर घर को पानी देने की योजना
उदयपुर. जहां अभी तक पेयजल के लिए ग्रामीण दूर दराज तक भटकते थे, अब उनके घरों में नल से जलापूर्ति होगी। जल जीवन मिशन में चल रहे राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम के तहत काम किया जा रहा है। इसी के तहत उदयपुर जिले में 6 और प्रदेशभर में सौ से ज्यादा गांव होंगे, इनमें पहली बार नलों से जलापूर्ति होगी।
केंद्र सरकार की ओर से 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण घर में यानी 'हर घर नल जलÓ को कारगर करते हुए घरेलू नल कनेक्शन दिए जाएंगे। इसी को लेकर प्रदेश में करीब सौ गांवों की योजना बनाई गई है। पहले चरण में वे गांव शामिल किए गए हैं, जिनकी आबादी चार हजार से अधिक है। ऐसे गांवों में योजना को स्वीकृति के लिए भेजा गया है, जबकि इनमें से 25 गांवों को वित्तीय स्वीकृति भी प्रदान की जा चुकी है। लिहाजा आगामी गर्मी तक ज्यादातर गांवों में नलों से जलापूर्ति का बंदोबस्त करने की तैयारी की जा रही है।

उदयपुर जिले में ये गांव
मिशन के तहत पहले चरण में बोखाड़ा (गोगुन्दा), बारापाल (गिर्वा), उमरड़ा, करणपुर (वल्लभनगर) और सलूम्बर क्षेत्र के दो गांवों को शामिल किया गया है। जिले में 6 गांवों की योजना के तहत शुरुआत में बोखाड़ा (गोगुन्दा) को स्वीकृति देकर कार्य शुरू किया गया। बाकी गांवों में स्वीकृति के लिए प्रस्ताव भेजे गए हैं। बोखाड़ा गांव और आसपास की तीन भागलों में नल से जलापूर्ति होगी।

प्रति व्यक्ति 55 लीटर
जल जीवन मिशन के तहत प्रतिदिन प्रति व्यक्ति 55 लीटर पानी दिया जाना है। परियोजना के तहत प्रदेश और केंद्र सरकार 50-50 अनुपात में बजट देगी। इसी आधार पर गांवों का चयन किया गया है।

कहां कितना बजट होगा खर्च
जिला गांव राशि
(लाखों में)
अजमेर बांदर सिंदरी 251.38
अलवर रामबास 269.27
बांसवाड़ा ठीकरिया 343.71
बांरा दांता 377.99
बाड़मेर रुरल 443.48
भरतपुर खेड़ा ठाकुर 452.96
बीकानेर उदासर 331.17
बीकानेर सूरपुरा 279.31
चूरू बैन 488.87
दौसा बैरावाड़ा 433.25
धौलपुर मरेना 432.56
डूंगरपुर बेडसा 528.25
हनुमानगढ़ सेरारा 521.47
जयपुर भूरी भरज 374.23
जालोर सेवारी 269.70
झुंझुनू छाऔसरी 368.75
जोधपुर बिराई 250.16
करौली क्यारदाखुर्द 435.26
कोटा आस्कली 387.01
प्रतापगढ़ देवला 404.42
सीकर मांधा 189.94
सिरोही सियावा 176.89
स.माधोपुर पिलोदा 746.73
टोंक निवाई रुरल 451.61
उदयपुर बोखाड़ा 200.33

केंद्र सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य किया जा रहा है। बोखाड़ा में स्वीकृति मिल चुकी है, जबकि बाकी गांवों में योजना प्रक्रिया में है। इससे लोगों को राहत मिलेगी।
-बीएल पालीवाल, ग्रामीण एक्सइएन, पीएचइडी

jagdish paraliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned