पानी के लिए मशक्कत

बर्तन लेकर पानी के लिए लगाई दौड़

मोटरसाइकिल पर लेकर आ रहे पानी

By: Rakhi Hajela

Published: 22 May 2020, 05:30 PM IST

बारां शहर में करीब एक सप्ताह से गड़बड़ा रही पेयजल आपूर्ति व्यवस्था के चलते आम लोग काफी परेशान हो रहे हैं। शुक्रवार सुबह तो हालात और भी खराब हो गए। आज आधे से अधिक शहर में पेयजल आपूर्ति नहीं होने के कारण लोगों को सुबह सुबह ही यहां वहां बर्तन लेकर दौड़ लगानी पड़ी। गर्मियों के शुरुआती दौर में ही शहर पेयजल समस्या से जूझने लगा है। प्रात: काल उठते ही लोगों की सबसे पहली अहम जरूरत सिरदर्द का कारण बनती जा रही है। शहर की कई कॉलोनियों में तो गत एक सप्ताह से पेयजल आपूर्ति गड़बड़ा रही है। अस्पताल रोड, खाती कॉलोनी में गत 3 दिनों से पेयजल की आपूर्ति नहीं हो रही है। वहां आज सुबह महज 15 मिनट पेयजल आपूर्ति हुई। वहीं शहर के कोटा रोड ,तेल फैक्ट्री क्षेत्र, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, लंका कॉलोनी, सुसावन बस्ती, अटरू रोड स्थित कुंज बिहार कॉलोनी, इंदिरा विहार कालोनी, मांगरोल रोड स्थित श्रमिक कॉलोनी , नयापुरा बस्ती समेत कई क्षेत्रों में पानी नहीं आया। जिसके चलते सुबह से ही लोगों की भागमभाग बनी रही। पूरे शहर मे लोगों की नलकूपों पर भीड़ नजर आई।

अटरू रोड स्थित कुंज बिहार कॉलोनी समेत सुसावन बस्ती क्षेत्र तक के लोगों ने यहां जलदाय विभाग के फिल्टर प्लांट पर पानी का जुगाड़ किया। तो कई लोगों ने ताड़ के बालाजी धाम स्थित नलकूप से पानी का इंतजाम किया। खाती कॉलोनी क्षेत्र के लोगों ने भी निजी नलकूपों का सहारा लिया। कमोबेश कुछ एरिया को छोड़कर सारे शहर के हालात आज बदहाल रहे। लोग साइकिल मोटरसाइकिल ठेला ऑटो जैसे भी व्यवस्था बनी बर्तन लेकर पानी भरते लाते ले जाते नजर आए।

वहीं दूसरी ओर गड़बड़ाई पेयजल आपूर्ति को लेकर जब पीएचईडी के सहायक अभियंता डालूराम मेहता से जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि लाइट में व्यवधान के चलते वॉटर स्टोरेज में परेशानी आ रही है। हीकड़ से पानी पाठेड़ा फिल्टर प्लांट तक नहीं पहुंच पा रहा है। जिसके चलते न तो पानी फिल्टर हो रहा है, ना शहर तक पहुंच रहा है। जिसके चलते यह परेशानी हो रही है। उन्होंने बताया कि फेस टू फेस वोल्टेज डिफरेंस अधिक होने के कारण मोटर नहीं चलती है। कमोबेश कारण कुछ भी हो लेकिन ऐसे हालातों पर न तो जनप्रतिनिधि ध्यान दे रहे हैं। न ही प्रशासनिक आला अधिकारी ध्यान दे रहे हैं। आमजन की कोई सुनने वाला दिखाई नहीं दे रहा। जबकि दो दिन पूर्व ही गौ पालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने जिले के तीन विधायकों समेत आला अधिकारियों के साथ पेयजल के मुद्दे को लेकर कई घंटों की बैठक करके व्यवस्था को बनाए रखने के लिए दिशा निर्देश दिए थे।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned