1932 में बने चार जलाशय से फिर पेयजल आपूर्ति की तैयारी

जलदाय विभाग (Water supply department) ने दिल्ली रोड पर लक्ष्मण डूंगरी (Laxman Dungri) स्थित 1932 में बने ऐतिहासिक स्वच्छ जलाशयों (Historic clean reservoir) से फिर से पेयजल आपूर्ति शुरू करने की तैयारी कर ली है। 10 एमएलडी क्षमता के इन जलाशयों का रविवार को जलदाय विभाग के इंजिनियरों ने मौका निरीक्षण किया।

By: Girraj Sharma

Published: 18 Apr 2021, 09:50 PM IST

1932 में बने चार जलाशय से फिर पेयजल आपूर्ति की तैयारी
— दिल्ली रोड पर लक्ष्मण डूंगरी पर है ऐतिहासिक 10 एमएलडी क्षमता के जलाशय
— जलदाय विभाग के इंजिनियरों की टीम ने किया मौका निरीक्षण

जयपुर। जलदाय विभाग (Water supply department) ने दिल्ली रोड पर लक्ष्मण डूंगरी (Laxman Dungri) स्थित 1932 में बने ऐतिहासिक स्वच्छ जलाशयों (Historic clean reservoir) से फिर से पेयजल आपूर्ति शुरू करने की तैयारी कर ली है। 10 एमएलडी क्षमता के इन जलाशयों का रविवार को जलदाय विभाग के इंजिनियरों ने मौका निरीक्षण किया।
जलदाय विभाग दिल्ली रोड के आस—पास की कॉलोनियों में पेयजल व्यवस्था के लिए लक्ष्मण डूंगरी के 10 एमएलडी क्षमता के चार स्वच्छ जलाशयों से फिर से जलापूर्ति करने की योजना बना रहा है। जलदाय विभाग के अधिकारियों की मानें तो इन स्वच्छ जलाशयों को फिर से भरने और पेयजल सप्लाई की योजना पर काम शुरू भी हो गया है। ये जलाशय उंचाई पर होने से आसपास के क्षेत्रों में पर्याप्त प्रेशर से पानी मिलेगा।

2018 में बंद कर दी थी पेयजल आपूर्ति
जलदाय विभाग के अधिकारियों की मानें तो लक्ष्मण डूंगरी पर बने इन चार स्वच्छ जलाशयों को स्टेट टाइम में रामगढ़ बांध के पानी से भरा जाता था। रामगढ सूखा तो रोड़ा नदी में खुदे बोरिंगों से इनको भरा जाता था और परकोटे में पेयजल सप्लाई की जाती थी। बाद में 2018 में दिल्ली रोड क्षेत्र में बीसलपुर का पानी पहुंचा तो इन स्वच्छ जलाशयों से पेयजल सप्लाई बंद कर दी।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned