scriptWATER SUPPLY DEPARTMENT SUMMER DRINKING WATER CRISIS | बजट घोषणा भी नहीं कर पाए पूरी, अब गर्मी के साथ ही बढ़ गया संकट | Patrika News

बजट घोषणा भी नहीं कर पाए पूरी, अब गर्मी के साथ ही बढ़ गया संकट

Rajasthan Drinking Water Crisis जयपुर। गर्मी के साथ ही पेयजल संकट सामने आ गया है। लोग पेयजल को लेकर परेशान हो रहे है। जलदाय विभाग घर—घर पानी पहुंचाने में विफल नजर आ रहा है। Water Supply Department पेयजल को लेकर साल 2021—22 के बजट घोषणा अभी तक पूरी नहीं हो रही है। लोगों को पर्याप्त पानी मिल सके, इसके लिए जयपुर जिले में 111 नलकूप लगाने की स्वीकृति भी जारी की गई, लेकिन जलदाय विभाग अभी तक 67 नलकूप ही लगा पाया है।

जयपुर

Updated: April 21, 2022 01:10:25 pm

Rajasthan Drinking Water Crisis जयपुर। गर्मी के साथ ही पेयजल संकट सामने आ गया है। लोग पेयजल को लेकर परेशान हो रहे है। जलदाय विभाग घर—घर पानी पहुंचाने में विफल नजर आ रहा है। Water Supply Department पेयजल को लेकर साल 2021—22 के बजट घोषणा अभी तक पूरी नहीं हो रही है। लोगों को पर्याप्त पानी मिल सके, इसके लिए जयपुर जिले में 111 नलकूप लगाने की स्वीकृति भी जारी की गई, लेकिन जलदाय विभाग अभी तक 67 नलकूप ही लगा पाया है। राजधानी में स्वीकृति की तुलना में अभी पूरे नलकूप नहीं लग पाए है। गर्मी में पर्याप्त पेयजल नहीं मिलने लोगों के सामने पीने के पानी का भी संकट आ रहा है।
साल 2021—22 के बजट में जयपुर जिले में नए नलकूप और हैडपंप लगाने की घोषणा के बाद 111 नलकूपों की स्वीकृति जारी की गई, लेकिन जिले में सिर्फ 67 नलकूप ही लग पाए है। ऐेसे में पेयजल की जरूरतें पूरी नहीं हो पा रही है, अब गर्मी के साथ ही लोगों के सामने पानी की समस्या बढ़ती जा रही है। जबकि 317 हैंडपंप लगाने की स्वीकृति जारी कर दी गई, जिसमें से जलदाय विभाग जिले में अभी तक 269 हैंडपंप ही लगा पा रहा है।

बजट घोषणा भी नहीं कर पाए पूरी, अब गर्मी के साथ ही बढ़ गया संकट
बजट घोषणा भी नहीं कर पाए पूरी, अब गर्मी के साथ ही बढ़ गया संकट

यहां 10—10 नलकूप लगाने की स्वीकृति
बजट 2021—22 की घोषणा के अनुसार सबसे अधिक 10—10 नलकूप सांगानेर, मालवीय नगर, आदर्श नगर, सिविल लाइंस, विद्याधर नगर और हवामहल के अलावा चौमूं विधानसभा क्षेत्र में लगाने की स्वीकृति जारी की गई, वहीं किशनपोल विधानसभा क्षेत्र में 9 नलकूप लगाने की स्वीकृति जारी की गई, जिससे जनता को पर्याप्त पेयजल मिल सके, लेकिन जलदाय विभाग के अफसरों की अनदेखी के चलते चौमूं में सिर्फ 2 नलकूप ही लग पाए है। आदर्श नगर और विद्याधर नगर में 5—5 नलकूप ही लग पाए है। हालांकि सांगानेर में 10 नलकूप लगा दिए गए है, वहीं मालवीय नगर में 9 और सिविल लाइंस और हवामहल में 8—8 नलकूप लगा दिए गए, लेकिन इन विधानसभा क्षेत्रों में पेयजल को लेकर लोगों को परेशान होना पड़ रहा है।

नहीं मिल रहा पर्याप्त पानी...
राजधानी में 30 से ज्यादा इलाकों में हजारों की आबादी तक पर्याप्त पेयजल नहीं पहुंच पा रहा है। नलों में कम दबाव से पानी आने से अंतिम छोर के घरों में बूंद—बूंद पानी आ रहा है। कई इलाकों में दो से तीन दिन में कम दबाव में पानी पहुंच रहा है। जिले में गांवों में भी पेयजल को लेकर जलदाय विभाग पर्याप्त इंतजाम नहीं कर पा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.