scriptWATER SUPPLY DEPARTMENT SUMMER DRINKING WATER PLAN | राजस्थान में पानी संकट से बचने का प्लान, धरातल पर 19 फीसदी ही काम | Patrika News

राजस्थान में पानी संकट से बचने का प्लान, धरातल पर 19 फीसदी ही काम

Water Supply Department जयपुर। प्रदेश में गर्मी के मौसम को देखते हुए जल संकट को लेकर भी सरकार गंभीर नहीं है। लोगों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए राज्य में 3686 नए हैंडपंप की जरूरत जताई गई। 3686 नए हैंडपंप लगाने की स्वीकृति भी जारी कर दी गई, लेकिन जलदाय विभाग के अफसरों की अनदेखी के चलते अभी तक सिर्फ 700 हैंडपंप यानी 19 फीसदी ही हैंडपंप ही लग पाए है।

जयपुर

Updated: May 08, 2022 01:27:25 pm

Water Supply Department जयपुर। प्रदेश में गर्मी के मौसम को देखते हुए जल संकट को लेकर भी सरकार गंभीर नहीं है। लोगों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए राज्य में 3686 नए हैंडपंप की जरूरत जताई गई। 3686 नए हैंडपंप लगाने की स्वीकृति भी जारी कर दी गई, लेकिन जलदाय विभाग के अफसरों की अनदेखी के चलते अभी तक सिर्फ 700 हैंडपंप यानी 19 फीसदी ही हैंडपंप ही लग पाए है। जबकि विभाग का दावा है कि 1267 हैंडपंप तैयार है। वहीं प्रदेश में 909 नए ट्यूबवैल खुदवाये जा रहे है, लेकिन अभी तक सिर्फ 300 ट्यूबवैल ही चालू हो पाए है।

राजस्थान में पानी संकट से बचने का प्लान, धरातल पर 19 फीसदी ही काम
राजस्थान में पानी संकट से बचने का प्लान, धरातल पर 19 फीसदी ही काम

जलदाय विभाग के अधिकारियों के अनुसार गर्मी में पेयजल आपूर्ति सुचारू बनाने के लिए प्रदेश में 3686 नए हैंडपंप लगाने है। जलदाय विभाग के एसीएस डॉ. सुबोध अग्रवाल के अनुसार 1267 हैंडपंप लगभग तैयार कर करीब 700 नए हैंडपंप चालू कर दिए गए हैं। बचे तैयार हैंडपंपों को इस पखवाड़े के अंत तक चालू करने के निर्देश दिए गए हैं।

300 ट्यूबवैल ही कर पाए चालू
जलदाय विभाग के एसीएस डॉ. सुबोध अग्रवाल के अनुसार विभाग की ओर से 909 नए ट्यूबवैल खुदवाये जा रहे हैं, जिसमें से 300 ट्यूबवैलों से पेयजल वितरण शुरू कर दिया गया हैं और शेष 600 ट्यूबवैलों से भी इस माह के दूसरे पखवाड़े तक पेयजल वितरण शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए आवश्यक औपचारिकताएं पूरी करने के लिए अधिकारियों केा निर्देश दिए गए है।

888 हैंडपंप खराब...
जलदाय विभाग के अधिकारियों के अनुसार प्रदेश में 4 लाख 68 हजार 772 हैंडपंप लगे हुए हैं, इनमें से 19791 हैंडपंप के खराब होने की विभाग के पास शिकायत प्राप्त हुई है, जिसमें से 18903 हैंडपंपोें को ठीक करा दिया गया है। केवल 888 हैंडपंप ठीक करवाए जाने हैं, जिन्हें जल्द ही ठीक कराया जा रहा है।

टैंकरों से पिला रहे पानी....
प्रदेश के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 1904 टेंकरों के माध्यम से लोगों को पानी पिलाया जा रहा है। इन टैंकरों से प्रतिदिन औसतन 6654 ट्रिप पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। इसमें 43 शहरों में 429 टेंकरों से 3033 ट्रिप प्रतिदिन और 4142 गांव ढ़ाणियों मेे 975 टेंकरों के माध्यम से 3621 ट्रिप प्रतिदिन कर पेयजल की आपूर्ति की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राPOLITICS: मध्यप्रदेश की सियासत से परिवारवाद का सफाया शुरूUddhav Thackeray Resigns: फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने सीएम और MLC पद से दिया इस्तीफा, कहा- मेरी शिवसेना मुझसे कोई नहीं छीन सकताउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.