शनि मंगल का समसप्तक योग बढ़ा सकता है परेशानी, 20 जुलाई तक इन चीजों से खतरा.....

आद्रा नक्षत्र में प्रवेश की यह युति 22 june से शुरु होकर बीस जुलाई तक जारी रहेगी और समय में देश. दुनिया में बड़ी घटनाओं के साथ ही भारी भारिश के योग बन रहे हैं।

By: JAYANT SHARMA

Published: 12 Jul 2021, 10:55 AM IST

जयपुर
22 जून 2021 सवेरे पांच बजकर 39 मिनट से ग्रहों के राजा भुवन भास्कर सूर्य ने आद्रा नक्षत्र में प्रवेश कर लिया। देव ज्येष्ट शुक्ल पक्ष की द्वादशीए मंगलवार यानि आज प्रवेश के साथ अब यह युति 20 जुलाई तक रहने वाली है। आद्रा नक्षत्र में प्रवेश कर रहे हैं सूर्य के आद्रा प्रवेश के समय द्वादशी तिथि विशाखा नक्षत्र सिद्धि योग मिथुन लगना बालव करण रहेगा। आद्रा नक्षत्र में प्रवेश की यह युति आज सवेरे से शुरु होकर बीस जुलाई तक जारी रहेगी और समय में देश. दुनिया में बड़ी घटनाओं के साथ ही भारी भारिश के योग बन रहे हैं। कई राज्यों में होने वाली इस संभावित अतिवृष्टि और भयंकर व्रजपातों से भारी नुकसान का भी अनुमान लगाया जा रहा है।

चार ग्रह वक्री और मंगल नीच राशि में वक्रीए हानि दर्शा रही यह युति
ज्योतिषाचार्य राजकुमार चतुर्वेदी ने बताया कि गुरु, शनि, राहु, केतु चारों ग्रह वक्री चल रहे हैं। शनि स्व ग्रही चल रहे है और मंगल नीच कर्क राशि में रहेगा । मंगल वर्ष के राजा एवं मंत्री होने के साथ ही इस वर्ष मेघेश भी है। मंगल का जल तत्व राशि कर्क राशि में होना जो इस साल अतिवृष्टि, बाढ़, ओलावृष्टि, तूफान, वज्रपात, फसल हानि को दर्शा रहा है। 22 जून से 20 जुलाई तक शनि मंगल का समसप्तक योग भी अतिवृष्टि, तूफान, अति वेग, अग्निकांड और दुर्घटना के भय बताते हैं। ग्रहों की युति और योग इस साल कहीं कहीं अधिक वर्षा, कहीं न्यून वर्षा और कहीं अतिवृष्टि जैसे योग बना रहे हैं।

weather update
JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned