scriptWeb Series Review Masoom | डार्क फैमिली सीक्रेट्स के भरोसे 'मासूम' प्रभावित नहीं करती | Patrika News

डार्क फैमिली सीक्रेट्स के भरोसे 'मासूम' प्रभावित नहीं करती

वेब सीरीज समीक्षा: मासूम

डायरेक्शन: मिहिर देसाई
राइटिंग: सत्यम त्रिपाठी
सिनेमैटोग्राफी: विवेक शाह
स्टार कास्ट: बोमन ईरानी, समारा तिजोरी, उपासना सिंह, मंजरी फडनीस, वीर राजवंत सिंह, मनु ऋषि चड्ढा, सारिका सिंह, आकाशदीप अरोड़ा

जयपुर

Published: June 18, 2022 12:54:58 pm

आर्यन शर्मा @ जयपुर. वेब सीरीज 'मासूम' से अभिनेता बोमन ईरानी ने ओटीटी डेब्यू किया है। यह साइकोलॉजिकल थ्रिलर आइरिश टीवी सीरीज 'ब्लड' पर बेस्ड है। 'मासूम' की कहानी मुख्यत: बाप-बेटी के रिश्ते के इर्द-गिर्द घूमती है। कहानी पंजाब में फलौली गांव में सेट है। बलराज (बोमन ईरानी) डॉक्टर है और खुद का नर्सिंग होम चलाता है। उसकी पत्नी गुणवंत (उपासना सिंह) की एक दिन अचानक बेड से गिर जाने से मौत हो जाती है। दरअसल, गुणवंत लंबे समय से बीमारी के कारण बेड रेस्ट पर थी। दोनों के तीन बच्चे हैं। बड़ी बेटी संजना (मंजरी फडनीस) टीचर है। जबकि छोटी बेटी सना (समारा तिजोरी) दिल्ली में रहती है। मां की मृत्यु के बाद सना अपने घर लौटती है। सना के पिता यानी डॉक्टर साहब के साथ तनावपूर्ण संबंध हैं। सना को विश्वास है कि उसकी मां की मृत्यु आकस्मिक नहीं थी। उसे लगता है कि उसकी मां की मौत गिरने से नहीं, बल्कि हत्या थी। सना इस हादसे का कसूरवार पिता को मानती है। कहानी में बेटी मां की मौत से जुड़े सबूतों की खोज में जुट जाती है। यह खोज सना को उसके बचपन की घटनाओं की ओर ले जाती है। यह वेब सीरीज रिश्तों और परिवार में मौजूद रहस्यों के बारे में है।
डार्क फैमिली सीक्रेट्स के भरोसे 'मासूम', इम्प्रेस करने में चूक गई
डार्क फैमिली सीक्रेट्स के भरोसे 'मासूम', इम्प्रेस करने में चूक गई
कुछ नहीं, बहुत कुछ 'अधूरा'
बोमन ईरानी स्पष्ट रूप से सीरीज के स्टार हैं। उनकी स्क्रीन प्रजेंस अच्छी है, जिसमें उनका क्रोध, लाचारी और प्यार नजर आता है- सब कुछ बिना कुछ कहे। समारा तिजोरी के पास नायिका के रूप में करने के लिए बहुत कुछ है और वह कोशिश भी करती हैं। हालांकि बॉडी लैंग्वेज और चेहरे के हाव-भाव पर उन्हें और ध्यान देने की जरूरत है। मंजरी फडनीस अपनी भूमिका में फिट हैं। सना के भाई संजीव के रोल में वीर राजवंत सिंह ठीक हैं। सीरीज का एक मुख्य आकर्षण प्रतिभाशाली उपासना सिंह को गंभीर भूमिका में देखना भी है। मनु ऋषि चड्ढा कॉप के किरदार में ओके हैं। लेखन जितना स्ट्रॉन्ग होता है, फिल्म या वेब सीरीज उतनी ही बेहतर बनती है। लेकिन, 'मासूम' में राइटिंग टेबल पर थोड़ा और काम करने की दरकार थी। निर्देशक मिहिर देसाई का निर्देशन ठीक है, मगर वह 'मासूम' को इससे बेहतर ट्रीटमेंट दे सकते थे। कुछ हिस्सों में संवाद भारी हैं। भावनात्मक दृश्यों में किरदार जरूरत से ज्यादा बात करते हैं। जबकि हर बार इमोशंस दिखाने के लिए शब्दों का सहारा लेना जरूरी नहीं है। छह एपिसोड की यह सीरीज धीमी गति से चलती है। यह रुक-रुक कर प्रभावी है। 'मासूम' में कुछ अधपके दृश्य भी हैं, जिससे यह दर्शकों से कनेक्ट नहीं हो पाती।
रेटिंग: **

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: संजय राउत की धमकी के बाद बागी विधायक तानाजी सावंत के कार्यालय में शिवसैनिकों ने की तोड़फोड़Maharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.