खाद्य पदार्थों में मिलावट की जांच करने पहुंचे सरकारीकर्मी से क्या बोला मिलावट खोर देखिए कार्टून सुधाकर का कटाक्ष

खाद्य पदार्थों में मिलावट की जांच करने पहुंचे सरकारीकर्मी से क्या बोला मिलावट खोर देखिए कार्टून सुधाकर का कटाक्ष

By: Sudhakar

Published: 08 Jul 2020, 11:30 PM IST

राजस्थान में चिकित्सा विभाग द्वारा बुधवार से प्रदेश व्यापी शुद्ध के लिए युद्ध अभियान शुरू किया गया .यह अभियान 14 जुलाई तक चलेगा. इस बार इस अभियान में दूध और दूध से बने उत्पादों पर खास फोकस किया जाएगा प्रदेश भर में चिकित्सा विभाग के अधिकारी डेयरी उत्पादों जैसे दूध, घी, मावा, पनीर, मक्खन और मिठाइयों के नमूने लेंगे. इन नमूनों की प्रयोगशाला में जांच की जाएगी और किसी भी प्रकार की मिलावट होने पर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि इस अभियान में संभागीय स्तर पर स्थापित फूड टेस्टिंग लैबोरेट्रीज की मदद भी ली जाएगी. जनता की सेहत का ध्यान रखते हुए राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर शुद्ध के लिए युद्ध अभियान चलाया जाता है, मगर कई बार इन अभियानों की इमानदारी से पालना होने पर सवाल उठते हैं .ऐसी खबरें सामने आती रहती हैं जिनमें अधिकारियों और मिलावटखोरों की आपसी मिलीभगत से मिलावट करने वाले बच निकलते हैं. यदि अभियान में शामिल सरकारी तंत्र की नियत में मिलावट ना हो, तो ऐसे अभियान निश्चित रूप से आम जनता के लिए फायदेमंद साबित होंगे और मिलावट खोरी पर अंकुश लगेगा. देखिए इस मुद्दे पर कार्टूनिस्ट सुधाकर का नजरिया

Sudhakar Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned