कब होंगे 900 पशु चिकित्सा अधिकारी की भर्ती के लिए साक्षात्कार


भर्ती प्रक्रिया पर केविएट लगाने की मांग
विभाग में 60 फीसदी से अधिक पद रिक्त...
...लेकिन आरपीएससी में लंबित है भर्ती

By: Rakhi Hajela

Published: 24 Dec 2020, 04:49 PM IST


विभाग में रिक्त हैं 60 फीसदी पद, जारी हो चुका है परीक्षा परिणाम लेकिन सफल अभ्यार्थियों के नहीं हो रहे साक्षात्कार। कुछ एेसा है प्रदेश के बेरोजगार पशुचिकित्सकों का हाल जो 900 पशु चिकित्सा अधिकारी की भर्ती के लिए साक्षात्कार को अतिशीघ्र शुरू करवाने एवं भर्ती प्रक्रिया पर केविएट लगाने की मांग कर रहे हैं। वेटरनरी विश्वविद्यालय बीकानेर के पूर्व महासचिव डॉ. मनोज चौधरी ने बताया कि पशुपालन विभाग में पशु चिकित्सा अधिकारियों की भर्ती 2013 के बाद अर्थात 7 साल बाद में अब जाकर संपन्न होने जा रही है इसके लिए संवीक्षा परीक्षा परिणाम एवं सफल 1878 अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन भी किया जा चुका है, लेकिन साक्षात्कार की तिथि तक जारी नहीं की गई है। गौरतलब है कि राजस्थान लोक सेवा आयोग ने पशु चिकित्सा अधिकारियों के लिए 900 पदों की भर्ती विज्ञप्ति अक्टूबर 2019 में जारी की थी,2 अगस्त 2020 को संपन्न हुई संवीक्षा परीक्षा में 2300 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। जिसमें से 1878 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए सफल घोषित किया गया है, इतने कम अभ्यर्थी होने के बाद भी अभी तक साक्षात्कार की तिथि घोषित नहीं की गई है, जबकि सभी सफल अभ्यर्थियों के दस्तावेज का सत्यापन भी करवाया जा चुका है।

बेरोजगार पशुचिकित्सक संघर्ष समिति राजस्थान के महासचिव डॉ. नरसी राम गुर्जर ने बताया कि राज्य सरकार के साथ साथ केंद्र सरकार ने भी पशुपालन व्यवसाय के महत्व को समझते हुए जीडीपी में इसके योगदान के मद्देनजर मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय का वर्ष 2019 में अलग से गठन किया गया है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से पशुपालन विभाग में समस्त पदों को भरने का आग्रह किया है। इसके साथ ही विभाग में संचालित लगभग 6000 पशुचिकित्सा उपकेन्द्रों, औषधालयों के प्रभावी व विधि सम्मत संचालन के लिए भी पशु चिकित्सा अधिकारियों के पदों का भरा जाना अतिआवश्यक है।

साक्षात्कार के लिए सफल अभ्यर्थियों ने केविएट लगाने की मांग

साक्षात्कार के लिए सफल अभ्यर्थियों ने सचिव राजस्थान लोक सेवा आयोग, प्रमुख सचिव पशुपालन विभाग राजस्थान, निदेशक पशुपालन विभाग, पशुपालन मंत्री एवं मुख्यमंत्री से मांग की है कि पशु चिकित्सा अधिकारी भर्ती पर केविएट लगाई जाए जिससे कि बिना राज्य सरकार एवं राजस्थान लोक सेवा आयोग को सुने ही स्टे जारी ना हो और भर्ती प्रक्रिया में अनावश्यक देरी ना हो इसके साथ ही उन्होंने मांग की है कि जल्द से जल्द साक्षात्कार की तिथि घोषित की जाए और साक्षात्कार संपन्न करवा कर नियुक्ति प्रदान की जाए,।

पशुपालन विभाग में 60 फीसदी से अधिक पद रिक्त
विभाग में वर्तमान में पशु चिकित्सा अधिकारियों के 60 फीसदी से अधिक पद भी रिक्त पड़े हैं। अधिकारियों की लापरवाही के कारण विभिन्न प्रकार की भर्तियां समय पर नहीं हो पा रही है। पशु चिकित्सा अधिकारी भर्ती में सरकार एवं राजस्थान लोक सेवा आयोग के द्वारा कोई भी वकील कोर्ट में पेश नहीं होने के कारण स्टे दिया गया । सरकार इस प्रकरण में तुरंत संज्ञान लेकर स्टे को रद्द करवाए तथा पशु चिकित्सा अधिकारी भर्ती के साक्षात्कार की तिथि घोषित कर जल्द साक्षात्कार संपन्न करवाएं।
उपेन यादव
प्रदेशाध्यक्ष
राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ

किसानों के साथ आए के मुख्य स्रोत के रूप में वर्तमान में पशुपालन विभाग कार्य कर रहा है लेकिन पशुपालकों को उनके पशुओं के लिए उचित चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध नहीं हो रही एक तरफ मुख्यमंत्री निशुल्क पशुधन दवाई योजना संचालित की जा रही है लेकिन विभाग में पद रिक्त होने के कारण इन योजनाओं का लाभ पशुपालकों को नहीं मिल रहा है कोर्ट में लंबित 900 पशु चिकित्सा अधिकारी भर्ती को तुरंत संपन्न करवाया जाए एवं साक्षात्कार की तिथि को जल्द जारी किया जाए अन्यथा संपूर्ण राजस्थान से बेरोजगार पशु चिकित्सक अपने आंदोलन को उग्र करेंगे।
डॉ.विवेक माचरा
प्रदेश संयोजक, राजस्थान युवा डॉक्टर्स फाउंडेशन

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned