जानें, बेंगलुरू से फ्लाइट के जरिए कौनसी सब्जी पहुंच रही जयपुर,देखें वीडियो

खुदरा बाजार में धनिया की कीमत छू रही आसमान

By: SAVITA VYAS

Published: 30 Aug 2020, 07:38 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। फ्लाइट से बहुमूल्य वस्तुएं मंगवाने की बात तो आपने सुनी होगी, लेकिन अब सब्जियां भी हवाई सफर तय कर जयपुर तक पहुंच रही हैं। चौंकना लाजमी है, पर यह हकीकत है। व्यापारी बेंगलूरु से फ्लाइट से हरा धनिया मंगवा रहे हैं।आमतौर पर सब्जी के साथ मुफ्त मिलने वाला और जायका बढ़ाने वाला हरा धनिया एक बार आम आदमी की पहुंच से दूर हो गया है। दरअसल, राजस्थान, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में तेज बारिश के चलते धनिया की फसल खराब हो चुकी है। इसके चलते धनिया की स्थानीय आवक पूरी तरह से कुछ दिन के बंद हो गई है। इसके चलते राजधानी की सबसे बड़ी सब्जी और फ ल मंडी मुहाना में व्यापारियों ने इसका तोड़ भी निकाल लिया है। व्यापारी बेंगलुरू से हवाईजहाज के जरिए धनिया मंगवा रहे हैं।

पॉश जगहों पर भाव 350 रुपए प्रतिकिलो
मुहाना मंडी में धनिए के थोक व्यापारी इंद्र कुमार सैनी ने बताया कि हवाई जहाज के जरिए धनिया मंगवाया जा रहा है। इसी के चलते कीमतों में फि लहाल तेजी है। 80 रुपए बेंगलुरू में खरीद के बाद हवाईजहाज और मुहाना मंडी तक आने का किराया 70 रुपए प्रतिकिलो तक पड़ रहा है। इसके कारण व्यापारियों को थोक में धनिया 160 रुपए किलो तक मिल पा रहा है। शहर के पॉश जगहों सी-स्कीम, राजापार्क , मालवीय नगर व वैशालीनगर सहित अन्य जगहों पर धनिया 350 रुपए प्रतिकिलो तक बिक रहा है। वहीं लालकोठी, जौहरी बाजार सब्जीमंडी और अन्य जगहों पर धनिया की कीमत 260 से 300 रुपए किलो तक पहुंच गई है। आगामी दिनों में कीमतों में और बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। हालांकि सितंबर के मध्य तक धनिया की स्थानीय आवक शुरू हो जाएगी।

स्थानीय आवक पूरी तरह से प्रभावित

फ ल-सब्जी थोक विके्रता संघ मुहाना टर्मिनल के अध्यक्ष राहुल तंवर ने बताया कि मंडी में स्थानीय आवक कम होने से सब्जियों के दामों में भी बढ़ोतरी हुई है। इस महीने की बात की जाए तो 20 प्रतिशत तक सभी सब्जियों के दाम बढ़े हैं। मंडी में आस-पास के राज्यों से जो सब्जियां आ रही हैं, उनकी आवक कम है। सभी जगहों पर मेघ मेहरबान हैं। हालांकि इससे प्रदेश की सब्जी मंडियों में मांग और आपूर्ति का गणित गड़बड़ा गया है। गोदामों से आ रहे लहसून, आलू की कीमतों में भी रिकॉर्ड तेजी है। इससे आमजन की रसोई का बजट फि लहाल प्रभावित हुआ है। बारिश का दौर थमने के बाद स्थानीय आवक बढ़ेगी और सब्जी की कीमतों में कमी आएगी। आलू, लहसून, अदरक और टमाटर की कीमतों में सबसे अधिक तेजी है। मंडी में टमाटर की थोक कीमतें 25 से 28 रुपए किलो पहुंच चुकी है। वहीं, खुदरा कीमतें 60 रुपए किलो तक है। आलू की कीमतों में एक महीने में ही प्रति क्विंटल 1000 रुपए का उछाल आया है। खुदरा बाजार में आलू 35 रुपए किलो तक पहुंच गया है।

Corona virus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned