काैन हाेगा राजस्थान भाजपा का नया प्रदेशाध्यक्ष, कल शाम तक हाे सकता है एेलान

काैन हाेगा राजस्थान भाजपा का नया प्रदेशाध्यक्ष? कल शाम तक हाे सकता है इसका एेलान।

By: santosh

Published: 25 Apr 2018, 07:56 PM IST

जयपुर। राजस्थान में भाजपा में प्रदेशाध्यक्ष को लेकर हो रही किरकिरी से नाखुश केंद्रीय नेतृत्व ने राज्य के मंत्रियों को कोई खास तवज्जो नहीं देकर कड़ा संदेश दिया है।

 

भाजपा आलाकमान ने साफ-साफ कह दिया है कि प्रदेशाध्यक्ष कौन बनेगा। यह दिल्ली ही तय करेगा। उसी पर सभी को सहमत होना होगा। केंद्रीय नेतृत्व ने अब मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को दिल्ली बुलाया गया है।

 

मुख्यमंत्री 26 अप्रेल को नई दिल्ली जा रही है। हालांकि उनकी इस यात्रा काे सरकारी कार्यक्रम बताया जा रहा है, लेकिन इस दौरान नए प्रदेशाध्यक्ष को लेकर प्रदेश में हुई धड़ेबंदी को लेकर भी चर्चा की जाएगी। एेसे में कल शाम तक नए नाम का एेलान हाे सकता है।

 

दिल्ली से बैरंग लौटने के बाद मंत्रियों के तेवर बदले हुए हैं। सभी सफाई दे रहे हैं कि वह अपने व्यक्तिगत काम या सरकारी काम से नई दिल्ली गए हैं। प्रदेशाध्यक्ष पद को लेकर दिल्ली गए मंत्रियों की प्रगति रिपोर्ट और पृष्ठभूमि की जानकारी जुटाई जा रही है।

 

पार्टी सूत्रों के अनुसार, प्रदेश संगठन मंत्री से चर्चा किए बगैर केंद्रीय नेतृत्व तक पहुंचे मंत्रियों तथा विधायकों के रवैए को संगठन के अनुकूल नहीं माना गया है। भाजपा के जिन केंद्रीय पदाधिकारियों से वे मिले, उन्होंने भी उनको यही कहा कि अपने काम पर ध्यान दो।

 

राजस्थान भाजपा के नए प्रदेशाध्यक्ष को लेकर सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को बधाइयां दी जा रही हैं। उनके साथ ही अर्जुनराम मेघवाल, श्रीचंद कृपलानी तथा नारायण लाल पंचारिया सहित कई नाम को लेकर चर्चा को धड़ेबंदी चल रही है।

 

भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने रिपोर्ट मांगी है कि सोशल मीडिया पर चल रही चर्चा के पीछे कौन है? साथ ही मुख्यमंत्री के कार्यक्रम, जनसभा में संबोधन और उनके बयानों को लेकर भी विश्लेषण किया जा रहा रहा हैं।

 

मालूम हाे कि कुछ दिन पहले केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेशाध्यक्ष के पद से अशोक परनामी से इस्तीफा ले लिया था। केन्द्रीय नेतृत्व ने संघ निष्ठ केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह का नाम अध्यक्ष के लिए तय किया है, लेकिन प्रदेश नेतृत्व गजेन्द्र सिंह के नाम पर सहमत नहीं है।

 

वैसे अभी तक अध्यक्ष पद की दौड़ में अर्जुन राम मेघवाल का नाम भी चल रहा था, लेकिन उनके बेटे के फेसबुक अकाउंट पर गजेन्द्र सिंह के खिलाफ टिप्पणी करने के बाद मामला उलझ गया है और शीर्ष नेतृत्व मेघवाल से जवाब भी मांग सकता है।

 

हांलाकि मेघवाल के बेटे ने कहा है कि उनके मोबाइल से छेड़छाड़ कर ये पोस्ट डाला गया है। राजे का मानना है कि राजस्थान में जाट समाज सबसे बड़ा वोट बैंक है, यदि राजपूत नेता को अध्यक्ष पद दिया गया, तो समाज नाराज हो जाएगा।

 

कोई भी मंत्री दिल्ली केंद्रीय नेतृत्व से मिलने नहीं गया। अगर कोई मंत्री नई दिल्ली गया भी था, तो अपने व्यक्तिगत कार्य से या अपने मंत्रालय के कार्य से गया था। - श्रीचंद कृपलानी, नगरीय विकास मंत्री

 

प्रदेशाध्यक्ष के मुद्दे को लेकर कोई मंत्री केंद्रीय नेतृत्व के पास नहीं गया है। कोई मंत्री अपने विभागीय काम से दिल्ली जाता है तो उसे भी प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति से जोड़ दिया जाता है। - डॉ. जसवंत यादव, श्रम मंत्री

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned