scriptwhy small cars of entry segment are not selling despite strong growth | मुश्किल में Economy : लो हो गया खुलासा, प्रीमियम सेगमेंट में जोरदार ग्रोथ के बावजूद क्यों नहीं बिक रही एंट्री सेगमेंट की छोटी कारें | Patrika News

मुश्किल में Economy : लो हो गया खुलासा, प्रीमियम सेगमेंट में जोरदार ग्रोथ के बावजूद क्यों नहीं बिक रही एंट्री सेगमेंट की छोटी कारें

भारतीय कार बाजार इन दिनों मुश्किलों से जूझ रहा है। आँकड़े बता रहे हैं कि एंट्री लेवल यानी छोटी कारों को खरीदने वाला भारत के बाजार का सबसे बड़ा खरीदार वर्ग बाजार से दूरी बनाए हुए है। इस कारण पूरी कार इंडस्ट्री में सुस्ती बनी हुई है। लेकिन इस सुस्ती की गहराई में जाएं तो ये आँकड़े दरअसल इकॉनमी के मुश्किल हालात में होने की गवाही दे रहे हैं। अर्थशास्त्रियों और सरकार को इस ओर गौर करना होगा।

जयपुर

Published: May 17, 2022 05:45:34 pm

पिछले कुछ समय से भारत की ऑटो इंडस्ट्री एक तरफ बदलावों का सामना कर रही है तो दूसरी तरफ मांग की कमी से भी जूझ रही है। भारतीय कार बाजार फिलहाल एक और बड़ी मुश्किल का सामना कर रहा है। बीते करीब दो वर्षों से भारत में कारों की बिक्री लगभग थमी (Car Market Stagnant) हुई है। ग्रोथ के बजाए डीग्रोथ की ही रुझान अधिक है। हाल के दिनों में कार बाजार में एसयूवी सेगमेंट में भले ही जबर्दस्त तेजी दिखाई दे रही हो लेकिन एंट्री सेगमेंट की छोटी कारों की बिक्री लगातार पछाड़ खा (Small Car segment not showing growth) रही है। बता दें कि शुरुआत से ही भारतीय कार बाजार में वॉल्यूम के मामले में यही सेगमेंट सबसे बड़ा योगदान देता आया है, लेकिन फिलहाल इसी सेगमेंट में सबसे ज्यादा गिरावट आई है।
car_loan-amp.jpg
,,,,
एंट्री सेगमेंट की कारों के संभावित खरीदार फिलहाल बाजार से दूर

ताजा एक रिपोर्ट में सामने आया है कि एंट्री सेगमेंट की कारों के संभावित खरीदार खरीद का फैसला टाल रहे हैं। क्रिसिल ने सोमवार को एक रिपोर्ट में कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण आय प्रभावित होने से ऐसा हो रहा है। राजस्थान में फेडरेशन ऑफ ऑटोडीलर एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष निकुंज सांघी भी इसी तथ्य की पुष्टि करते हैं। सांघी ने पत्रिका को बताया कि सिर्फ कार के मामले में ही नहीं, टू-व्हीलर के मामले में भी यही सच है।
पेट्रोल-डीजल और कारों के दाम बढ़े और संभावित खरीदारों की आय घटी

सांघी ने बताया कि पिछले दो-तीन सालों में छोटी कारों की कीमतों, पेट्रोल के दाम और इसके संभावित खरीदारों की आय में विपरीत ग्रोथ देखी गई है। एंट्री लेवल की कारों की कीमत पिछले दो तीन सालों में जहां 30 प्रतिशत तक बढ़ी है वहीं इन कारों के संभावित खरीदारों की आय इन पिछले दो सालों में घटी है। सांघी ने बताया कि यूं तो सभी प्रकार की कारों की कीमत बढ़ी है, लेकिन कारों की कीमत में बढ़ोतरी का असर सबसे अधिक एंट्री लेवल के कार उपभोक्ताओं पर हुआ है। ऊपर से पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी ने तो इस वर्ग की आकांक्षाओं की कमर ही तोड़ दी है। मोटरसाइकिल को छोड़कर कार खरीदने का सपना देखने वालों इन लोगों ने अब कार खरीदने के अपने सपने को मुल्तवी कर दिया है। इस कारण एंट्री लेवल के कार सेगमेंट से खरीदार गायब सा हो गया है।
टू-व्हीलर सेगमेंट भी यही मुश्किल

ऑटो इंडस्ट्री में करीब 40 दशक का अनुभव रखने वाले और जेएस फॉर व्हील के एमडी निकुंज सांघी ने बताया कि यही ट्रेंड टू-व्हीलर सेगमेंट में भी देखा जा रहा है। 70 हजार से कम कीमत वालीं बाइक यानी एंट्री सेगमेंट से खरीदार गायब है। सिर्फ हाई एंड के टू-व्हीलर ही बिक रहे हैं। इसका भी कारण वही है, साइकिल को छोड़कर मोटरसाइकिल खरीदने का सपना देखने वाले वर्ग की आय में गिरावट आई है। इस कारण वो अब मोटरसाइकिल खरीदने की नहीं सोच रहा है।
प्रीमियम सेगमेंट में बनी हुई है जोरदार ग्रोथ

सांघी ने बताया कि फिलहाल तो प्रीमियम खंड की कारों में ही बिक्री बढ़ने की उम्मीद है, क्योंकि समृद्ध खरीदारों की आय मजबूत बनी हुई है। इसी तरह अधिक कीमत वाले दोपहिया वाहनों की हिस्सेदारी भी लगभग 40 प्रतिशत बनी रहेगी। कार सेगमेंट में प्रीमियम खंड में 8 लाख रुपये से अधिक कीमत वाली कारें आती हैं, जबकि 70,000 रुपये से अधिक कीमत वाले दोपहिया वाहन उच्च कीमत श्रेणी में आते हैं।
सस्ती कारों की ग्रोथ सिर्फ 7 प्रतिशत

क्रिसिल की रिपोर्ट में भी कहा गया है कि भारत में आमतौर पर पहली बार कार खरीदने वाले ग्राहक कम कीमत वाली गाड़ी खरीदते हैं। क्रिसिल ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष में प्रीमियम खंड की कारों की बिक्री सस्ती कारों के मुकाबले पांच गुना तेजी से हुई। इनकी वार्षिक वृद्धि दर 38 प्रतिशत रही, जबकि सस्ती कारों की बिक्री में लगभग सात प्रतिशत की ही बढ़ोतरी हुई। नतीजतन, प्रीमियम कारों की बाजार हिस्सेदारी पिछले वित्त वर्ष में बढ़कर लगभग 30 प्रतिशत हो गई, जो 2020-21 में 25 प्रतिशत थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: बीएमसी चुनाव में होगी शिंदे की असली परीक्षा, क्या उद्धव ठाकरे को दे पाएंगे शिकस्त?PM Modi In Telangana: 6 महीने में तीसरी बार तेलंगाना के CM केसीआर ने एयरपोर्ट पर PM मोदी को नहीं किया रिसीवMaharashtra Politics: संजय राउत का बड़ा दावा, कहा-मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था; बताया क्यों नहीं गएSingle Use Plastic: तिरुपति मंदिर में भुट्टे से बनी थैली में बंट रहा प्रसाद, बाजार में मिलेंगे प्लास्टिक के विकल्पक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशानाउदयपुर हत्याकांड के दरिदों को लेकर आई चौंकाने वाली खबरपाकिस्तान में चुनावी पोस्टर में दिख रहीं सिद्धू मूसेवाला की तस्वीरें, जानिए क्या है पूरा मामला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.