साड़ी उतारकर महिला काे थाने के पीछे पेड़ से बांधा, बेल्ट से बुरी तरह से पीटा, हुई बेहोश

साड़ी उतारकर महिला काे थाने के पीछे पेड़ से बांधा, बेल्ट से बुरी तरह से पीटा, हुई बेहोश

Santosh Kumar Trivedi | Publish: May, 18 2019 11:00:54 AM (IST) | Updated: May, 18 2019 11:07:38 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Alwar Gangrape में गैंगरेप मामले में लापरवाही के संगीन आरोपों से घिरी पुलिस पर राजधानी में ही महिला से कथित मारपीट के आरोप भी लगाए जा रहे हैं।

जयपुर। Alwar Gangrape मामले में लापरवाही के संगीन आरोपों से घिरी पुलिस पर राजधानी में ही महिला से कथित मारपीट के आरोप भी लगाए जा रहे हैं। घर में साफ-सफाई का काम करने वाली एक महिला पर सोने का हार चोरी करने का आरोप लगाकर मकान मालिक और पुलिसकर्मियों की ओर से शिप्रापथ थाने में बेरहमी से मारपीट करने का मामला सामने आया है। इस संबंध में राजस्थान महिला कामगार यूनियन सहित अन्य जन संगठनों की ओर से पत्रकार वार्ता में पीडि़ता ने शिप्रापथ थाने के पुलिसकर्मियों पर आरोप लगाए।

 

पहले मालिक-मालकिन ने पीटा
पीडि़ता अंजनी बर्मन ने आरोप लगाते हुए बताया कि वह महारानी फॉर्म स्थित रघु विहार में एक घर में पिछले दो साल से साफ-सफाई का काम कर रही है। पिछली 19 अप्रेल को मकान मालिक राम चौधरी और इंदू चौधरी ने बुलाकर घर में बंधक बना लिया और हार चोरी का अरोप लगाकर मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं मकान मालिक ने शिप्रा पथ थाने से तीन पुलिसकर्मियों को भी बुला लिया, जिन्होंंने घर पर ही मारपीट की।

 

थाने में पिटाई से हुई बेहोश
इसके बाद पुलिस की गाड़ी में बिठाकर मारते हुए थाने ले गए। यहां कुर्सी पर बांधकर पुलिसकर्मियों ने बेल्ट और डंडे से मारपीट की। पीडि़ता ने आरोप लगाया कि रात करीब साढ़े नौ बजे पुलिसकर्मी उसे थाने के पीछे ले गए, जहां पेड़ से बांधकर साड़ी उतार दी। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने बेल्ट से फिर बेहरमी से पीटा। इसके बाद पीडि़ता बेहोश हो गई। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने थाने में पीड़िता के पति को भी बंद करके रखा गया।

 

हार घर में मिला, कराए कागजों पर दस्तखत
पी अंजनी बर्मन ने आरोप लगाए कि सुबह करीब साढ़े 6 बजे मकान मालिक ने आकर थाने में बताया कि उसका हार घर में ही मिल गया है। इसके बाद मकान मालिक और पुलिसकर्मियों ने पीड़िता से खाली कागज पर हस्ताक्षर करा लिए।

 

500 रुपए देकर बोला, रफा-दफा करो मामला
मकान मालिक कार में बिठाकर पीड़िता को थाने से ले गया और 500 रुपए देकर मामला रफा-दफा करने के लिए कहा। राजस्थान महिला कामगार यूनियन के सामने मामला सामने आया तो जयपुरिया अस्पताल में पीडि़ता का मेडिकल कराया गया, जहां महिला के शरीर पर चोट के निशान पाए गए।

 

फाेटाे- प्रतीकात्मक तस्वीर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned