गिड़गिड़ाती महिला बोली, दम घुट रहा है...ऑक्सीजन दे दो और गेट पर थमी सांसें

आरयूएचएस में बढ़ते कोविड मरीजों के भार को देखते हुए एसएमएस अस्पताल में भले ही एक हजार बेड की व्यवस्थाएं कर ली हैं, लेकिन अभी वार्डों में मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है।

By: kamlesh

Published: 02 May 2021, 02:07 PM IST

जयपुर। आरयूएचएस में बढ़ते कोविड मरीजों के भार को देखते हुए एसएमएस अस्पताल में भले ही एक हजार बेड की व्यवस्थाएं कर ली हैं, लेकिन अभी वार्डों में मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। ढाई हजार बेड क्षमता वाले एसएमएस अस्पताल में मरीजों को बेड तक नसीब नहीं हो रहे हैं। आरयूएचएस से आने वाले मरीजों को गेट से ही मना किया जा रहा है। अव्यवस्थाओं का खमियाजा गंभीर मरीजों को उठाना पड़ रहा है।

आरयूएचएस से एसएमएस अस्पताल में भेजी गई गंभीर कोविड महिला मरीज को इसकी कीमत चुकानी पड़ गई। निवाई निवासी 25 साल की महिला ने एसएमएस अस्पताल के गेट पर ही ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण दम तोड़ दिया। मरने से पहले वह अस्पताल के गेट पर सुरक्षाकर्मियों से ऑक्सीजन की गुहार लगाती रही। मृतक महिला के भाई ने बताया कि निवाई से इलाज कराने के लिए लाए थे। तीन निजी अस्पतालों में चक्कर लगाया। इतना ही नहीं आरयूएचएस लेकर गए। लेकिन ऑक्सीजन और बेड की कमी के कारण सभी जगह भर्ती करने से मना करा दिया। एसएमएस अस्पताल में लेकर आए। यहां उसका ऑक्सीजन लेवल गिर गया और मौत हो गई। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।

कुछ भर्ती किए, फिर तैयारी अधूरी पाई तो मना कर दिया
एसएमएस अस्पताल में शुक्रवार को आरयूएचएस से रेफर कुछ मरीजों को भर्ती कर लिया गया, लेकिन बाद में तैयारियां अधूरी पाई गई तो मना कर दिया। इतना ही नहीं, आरयूएचएस प्रशासन को रेफर करने के लिए मना कर दिया। एसएमएस अस्पताल प्रशासन ने आरयूएचएस को मरीजों को बीलवा भेजने तक का सुझाव दे दिया। अस्पताल में कोविड के लिए तैयार किए गए वेंटिलेटर और बेड खाली हैं।

समस्या यह : तीन हजार सिलेंडर चाहिए
एसएमएस अस्पताल में कोविड मरीजों का इलाज शुरू करने के लिए तीन हजार ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत है, लेकिन अभी यहां ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं है। अभी अस्पताल के पास ही 100 सिलेंडर की व्यवस्था है, लेकिन दो हजार सिलेंडर अतिरिक्त चाहिए। ऐसे में मरीजों को शिफ्ट करने की प्रक्रिया रोक दी गई।

अभी व्यवस्थाएं कर रहे हैं। हम आरयूएचएस से मरीजों को भर्ती नहीं कर रहे। दो से तीन दिन लगेंगे। ऑक्सीजन की व्यवस्था होने के बाद रेफर मरीजों को भर्ती किया जाएगा।
-राजेश शर्मा, अधीक्षक, एसएमएस अस्पताल

एसएमएस अस्पताल प्रशासन की ओर से कोविड मरीजों को रेफर करने के लिए मना कर दिया गया है। व्यवस्थाएं पूरी होने के बाद मरीज भेजे जाएंगे।
-अजीत सिंह, अधीक्षक आरयूएचएस

coronavirus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned