बसों में अपनी ही सीट के लिए पुरुषों के सामने बेबस हुई महिलाएं

बसों में अपनी ही सीट के लिए पुरुषों के सामने बेबस हुई महिलाएं

| Updated: 25 Jun 2018, 11:51:27 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

आरक्षित सीटों पर बैठे नजर आते हैं पुरुष

जयपुर. राजधानी में सिटी बसों में सफर करना महिलाओं के लिए आसान नहीं है। कहने को तो बसों में महिलाओं के लिए सीट रिज़र्व होती है, लेकिन वो सीट उन्हें मिल नहीं पाती यह एक अलग बात है। शहर में ज्यादातर लो फ्लोर बसों में महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों पर भी पुरुष बैठे हुए नजर आते हैं। अगर कोई महिला सीट के लिए आग्रह करे तो कुछ पुरुष उनके साथ अभद्रता से पेश आते है। इतना ही नहीं ऐसे में कोई उसे रोकने का साहस भी नहीं दिखा पाता है।

इस पूरे मामले को लेकर राजस्थान पत्रिका की टीम ने रविवार को लो फ्लोर बस में सफर कर पड़ताल की तो यही स्थिति सामने आई। इस दौरान बसों में महिला यात्रियों का कहना था, भीड़ में कई बार लोग धक्का-मुक्की करते हैं। अगर उन्हें टोका जाता है तो वे अभद्रता पर उतर आते हैं। इन बसों में यात्रा करने वाली महिला यात्रिओं ने अपनी परेशानियों के बारे में बताते हुए कहा की महिला आरक्षित सीटों अगर पुरुषों को उठने को कहा जाए तो जवाब मिलता है, हमने भी तो पूरा किराया दिया है। महिला के साथ होती हुई इस अभद्रता को देखकर कंडक्टर, चालक सहित बाकी लोग भी अनदेखा करते है कोई मदद के लिए आगे नहीं आता है।

महिला यात्रियों की पीड़ा

महिला यात्री शिवानी ने इस बारे में परेशानियों के बारे में बताते हुई कहा की एक बार रात के समय कोचिंग से घर लौटते समय बस में काफी भीड़ थी। पास खड़े दो लड़कों ने अभद्रता की। अब कोचिंग से कितनी भी देर हो जाए, बस में भीड़ हो तो उसमें सफर नहीं करती।

सुषमा शर्मा ने बताया की कई बार लोग जान-बूझकर धक्का देते और छूने की कोशिश करते हैं। टोकने पर भीड़ का हवाला देते हैं। कई महिलाओं की ऐसी स्थितियां सहन करने की आदत हो चली है।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned