महिलाओं ने ​जेडीए पर बोला हमला...फोड़े मटकें, पढ़ें पूरा माजरा

SAVITA VYAS

Publish: May, 18 2018 02:11:03 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
महिलाओं ने ​जेडीए पर बोला हमला...फोड़े मटकें, पढ़ें पूरा माजरा

पृथ्वीराज नगर में मूलभूत सुविधाओं से वंचित लोगों का गुस्सा आज फूट पड़ा।

जयपुर विकास प्राधिकरण ने आज भी मालवीय नगर में अम्बेडकर कच्ची बस्ती को हटाने की कार्रवाई की। इससे पहले जेडीए ने कल 100 से ज्यादा मकान हटाए थे। जैसे ही जेडीए दस्ता बस्ती में पहुंचा, लोगों में हलचल शुरू हो गई। लोगों ने घरों से सामान निकालना शुरू कर दिया। बाकी बचे दो दर्जन मकानों को आज हटाया जा रहा है। साथ ही मकानों का मलबा भी हटवाया जाएगा। गौरतलब है कि जेडीए कच्ची बस्ती के 150 परिवारों को अंबेडकर बस्ती से दूसरी जगह शिफ्ट कर रहा है। 50 परिवारों को अजमेर रोड स्थित जयसिंहपुरा बास और दिल्ली रोड स्थित जयसिंहपुरा खोर में बने आवासों में पुनर्वासित किया गया है। जबकि बाकी परिवारों को भी शिफ्ट किया जा रहा है। जेडीए के प्रवर्तन अधिकारी कैलाश चौधरी ने बताया कि जयपुर शहर की कच्ची बस्तियों को शिफ्ट करने की कवायद चल रही है। इसी कड़ी में अंबेडकर बस्ती को भी हटाया जा रहा है। यहां से हटा गए परिवारों का पुनर्वास किया जा रहा है।

इधर, पृथ्वीराज नगर में मूलभूत सुविधाओं से वंचित लोगों का गुस्सा आज फूट पड़ा। पृथ्वीराज नगर की महिलाओं ने आज विकास की मांग को लेकर जेडीए पर हल्ला बोला। पीआरएन के लोगों ने जयपुर विकास प्राधिकरण में प्रदर्शन कर विकास कार्य करवाने की मांग की। प्रदर्शन के दौरान लोगों का गुस्सा फूट पड़ा, तो जेडीए प्रशासन ने पुलिस बुला ली। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों, जिनमें बड़ी संख्या में महिलाएं थी, उन्हें खदेड़ दिया। जेडीए परिसर से बाहर निकाले जाने से महिलाएं नाराज हो गईं। उन्होंने पुलिस की तरफ मटके फेंककर विरोध जताया। पुलिस बल की मौजूदगी के बावजूद लोग गेट पर चढ़कर जेडीए में जाने की कोशिश करते रहे।
बताया जा रहा है कि पृथ्वीराज नगर के लोग पानी और सड़क सहित मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर जेडीए पहुंचे थे। जेडीए अधिकारियों ने उनकी नहीं सुनी, तो लोग गुस्सा हो गए और हंगामा करने लगे। इसे देखकर जेडीए ने पुलिस बुला ली। इसके बाद पुलिस और लोगों के बीच गर्मागर्मी चलती रही।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned