भावनगर में बनेगा विश्व का पहला सीएनजी पोर्ट टर्मिनल

19 सौ करोड़ का होगा निवेश, सीएम रूपाणी ने दी मंजूरी

अहमदाबाद. शिप ब्रेकिंग यार्ड के चलते पूरे विश्व में चर्चित गुजरात का भावनगर जिला अब सीएनजी पोर्ट टर्मिनल के लिए भी वैश्विक नक्शे पर उभरने जा रहा है। भावनगर में विश्व का पहला सीएनजी पोर्ट टर्मिनल बनने जा रहा है, जिसे गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मंजूरी दे दी है। इस प्रोजेक्ट पर 19 सौ करोड़ रुपए का निवेश होगा, जिसमें पांच सौ करोड़ रुपए विदेशी पूंजी का निवेश होगा। वाइब्रेंट समिट २०१९ में इसको लेकर ब्रिटेन लंदन के फोर साइट ग्रुप और गुजरात मैरीटाइम बोर्ड के बीच एमओयू हुआ था।
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के कार्यालय की ओर से इस प्रोजेक्ट की जानकारी देते हुए बताया गया है कि ब्रिटेन के फोर साइट समूह और मुंबई स्थित पद्मनाभ मफतलाल ग्रुप के सहयोग से भावनगर बंदरगाह पर 19 सौ करोड़ रुपए के पूंजी निवेश के साथ कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस (सीएनजी) पोर्ट टर्मिनल बनाया जाएगा। गुजरात इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट बोर्ड (जीआईडीबी) के अध्यक्ष के नाते सीएम रूपाणी ने इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है। अब इस पर आगे काम शुरू करने के लिए एक विस्तृत करार किया जाएगा।
यह टर्मिनल विश्व का पहला सीएनजी टर्मिनल होने का दावा करते हुए कहा गया है कि इसकी वार्षिक क्षमता १.५ मिलियन मैट्रिक टन की होगी। इसकी स्थापना के बाद भावनगर बंदरगाह पर माल के परिवहन की क्षमता भी तीन गुना बढ़ जाएगी। अभी वार्षिक तीन मिलियन मैट्रिक टन कार्गो का संचालन बंदरगाह से होता है। जो इस टर्मिनल के बनने के बाद बढ़कर नौ मिलियन मैट्रिक टन पर पहुंचने की संभावना है। इसमें छह मिलियन मैट्रिक टन की क्षमता इस प्रोजेक्ट के तहत होगी।

Jagmohan Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned