स्वच्छता मुहिम में आहुति का लिया संकल्प, प्लास्टिक मुक्त दिखे शिवालय

महाशिवरात्रि पर्व के दौरान छोटी काशी के शिवालयों में दिखा स्वर्णिम भारत अभियान का असर।

जयपुर
कागज-कपड़े के थैले में पूजन सामग्री लिए कतारबद्ध श्रद्धालु तथा सेवादारों के साथ ही मंदिर परिसर की सफाई में जुटे भक्त। वहीं, संत-महंतों की अगुवाई में संविधान की पालना के साथ ही घर व आसपास साफ-सफाई रखने और प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की शपथ लेते आस्थावान लोग। महाशिवरात्रि के मौके पर शुक्रवार को शिवालयों को प्लास्टिक व गंदगी मुक्त रखने के लिए चलाए गए राजस्थान पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान के दौरान चौड़ा रास्ता स्थित ताड़केश्वर मंदिर तथा क्वींस रोड स्थित झाडख़ंड महादेव मंदिर सहित अन्य शिवालयों में ऐसा ही नजारा दिखा। अभियान में बड़ी संख्या में शिव भक्तों की भागीदारी से स्वच्छता का संकल्प साकार हुआ।
इससे पूर्व तड़के पट खुलने के साथ ही मंदिरों में आस्था का रैला दिखाई दिया। श्रद्धालुओं ने दुग्धाभिषेक व जलाभिषेक कर भगवान शिव को चंदन, बिल्व पत्र, गाजर-बोर तथा आक-धतूरे सहित अन्य पूजन सामग्री अर्पित कर पूजा की तथा खुशहाली की कामना की। मंदिरों में दिनभर मेले सा माहौल नजर आया। शाम को शिव परिवार का शृंगार कर विशेष झांकियां सजाई गईं।
चार प्रहरों में भगवान शंकर के आठ रूपों का पूजन किया। वहीं, नवविवाहित दंपतियों ने भगवान शिव को जेेगड़ चढ़ाई । 
ताड़केश्वर मंदिर : भक्तों ने ली शपथ
चौड़ा रास्ता व्यापार मंडल की ओर से ताड़केश्वर मंदिर में आमजन को प्लास्टिक को इस्तेमाल में नहीं लेेने के लिए जागरुक किया गया। मंडल अध्यक्ष सौभागमल अग्रवाल ने पॉलिथिन को कचरा पात्र में डालने का आह्वान किया। समाजसेवी विष्णु दत्त शर्मा व उनकी टीम ने मंदिर प्रांगण में करीब 200 किलो पॉलिथीन को कचरापात्र में रखवाया। पूर्व उपमहापौर मनोज भारद्वाज, पं. पुरुषोत्तम भारती के साथ ही मंदिर से जुड़े अमित पाराशर, विक्रांत व्यास और शक्ति व्यास सहित अन्य ने भी स्वच्छता की शपथ ली और भक्तों को इस अभियान से जुडऩे का आह्वान किया। आमजन ने भी मंदिर में कभी प्लास्टिक को काम में नहीं लेने का संकल्प लिया। कार्यकर्ताओं ने मंदिर में चढ़ाए गए फल सहित अन्य पूजन सामग्री को नियत स्थान पर एकत्र करने के बाद गोशाला और जरूरतमंद लोगों में बांटा।
झाडख़ंड महादेव मंदिर : जाति-धर्म से ऊपर उठने का प्रण
झाडख़ंड भक्त मंडल सेवा समिति और बब्बू सेठ मेमोरियल ट्रस्ट के पदाधिकारियों-सदस्यों सहित अन्य श्रद्धालुओं ने स्वच्छता के साथ ही जाति-धर्म से ऊपर उठकर समानता का व्यवहार करने की शपथ ली। यहां यूरोप से मंगाए विदेशी फूलों से भोलेनाथ का अभिषेक किया। ट्रस्ट अध्यक्ष जयप्रकाश सोमानी और समिति अध्यक्ष राकेश गौतम की अगुवाई में श्रद्धालुओं ने मंदिर परिसर में साफ-सफाई की तथा शिवलिंग पर अर्पित आक-धतूरा सहित अन्य पूजन सामग्री को एक जगह एकत्र किया। धर्मपाल चौधरी की टीम ने लोगों को स्वच्छता के लिए प्रेरित किया। वैशाली नगर थाना प्रभारी अनिल जैमन, करणी विहार के पन्नालाल और चित्रकूट थाना प्रभारी विरेन्द्र सिंह सहित अन्य पुलिसकर्मियों ने मातृभूमि को स्वच्छ रखने के लोगों को जागरुक किया। साथ ही जरूरतमंदों में प्रसाद भी बांटा गया।
एकलिंगेश्वर महादेव मंदिर : देर रात से ही लगी लंबी कतार
वर्ष में एक बार शिवरात्रि पर खुलने वाले मोती डूंगरी स्थित एकलिंगेश्वर महादेव मंदिर में गुरुवार देर रात से ही श्रद्धालुओं की कतार लगनी शुरू हो गई थी, जो कि जेडीए सर्किल तक जा पहुंची। वहीं, वर्ष में एक बार ही खुलने वाले सिटी पैलेस स्थित राज राजेश्वर शिव मंदिर में भी लंबी कतारें देखने को मिलीं।
कूकस स्थित सदाशिव ज्योतिर्लिंगेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं ने दुग्ध मिश्रित गंगाजल से बारह ज्योर्तिलिंगों का अभिषेक किया। विष्णु नाटाणी ने बताया कि मंदिर में चढ़ाए गए प्रसाद से गोकाष्ठ और खाद तैयार की गई।
बनीपार्क स्थित जंगलेश्वर महादेव मंदिर में श्वेत शिवलिंग के अभिषेक के बाद शाम को भोलेनाथ का शृंगार किया गया। चार प्रहर की पूजा के साथ ही रातभर भजन संध्या का दौर चला।

Rajkumar Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned