scriptYear Ender 2022: Business wise Rajasthan Is Best Destination To Invest | Year Ender 2022: इन्वेस्टमेंट का बेस्ट डेस्टिनेशन बनकर उभरा राजस्थान | Patrika News

Year Ender 2022: इन्वेस्टमेंट का बेस्ट डेस्टिनेशन बनकर उभरा राजस्थान

locationजयपुरPublished: Dec 31, 2022 04:39:46 pm

साल 2022 राजस्थान के लिए काफी खास रहा। कुछ उपलब्धियां मिलीं तो कुछ दर्द। राज्य में निवेश प्रोत्साहित करने, औद्योगिकरण को बढ़ावा देने तथा रोजगार के अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अक्टूबर में राजस्थान इन्वेस्ट समिट-2022 का आयोजन किया गया। इसमें देश ही नहीं विदेश से भी निवेश प्रस्ताव मिले, जिससे लाखों लोगों के रोजगार की राह खुली।

jaipur

साल 2022 राजस्थान के लिए काफी खास रहा। कुछ उपलब्धियां मिलीं तो कुछ दर्द। राज्य में निवेश प्रोत्साहित करने, औद्योगिकरण को बढ़ावा देने तथा रोजगार के अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अक्टूबर में राजस्थान इन्वेस्ट समिट-2022 का आयोजन किया गया। इसमें देश ही नहीं विदेश से भी निवेश प्रस्ताव मिले, जिससे लाखों लोगों के रोजगार की राह खुली। वहीं, शेयर मार्केट के बेताज बादशाह और भारत के वारेन बफेट कहे जाने वाले झुंझुनूं के राकेश झुनझुनवाला ने 62 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। यह साल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर किए गए नीतिगत बदलावों से राजस्थान प्रदेश निवेश का बेस्ट डेस्टिनेशन बनकर उभरा है।

निवेश का महोत्सव
अक्टूबर में राजस्थान सरकार की ओर से निवेश का महोत्सव का आयोजन किया। इन्वेस्ट समिट में निवेश को लेकर उद्यमियों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला। निवेशकों ने राज्य सरकार के साथ 10 लाख 44 हजार 593 करोड़ रुपए से अधिक राशि के 4 हजार एमओयू साइन किए। इनमें से करीब 520 एमओयू व एलओआई क्रियान्वित भी हो गए और 1160 क्रियान्विति के चरण में हैं। इससे प्रदेश में 1 लाख 93 हजार 759 करोड़ रुपए का नया निवेश आएगा, जिससे दो लाख से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। समिट में सबसे अधिक निवेश प्रस्ताव सौर ऊर्जा क्षेत्र में प्राप्त हुए हैं, जो करीब 8 लाख करोड़ रुपए के थे। कुल निवेश का 57 फीसदी निवेश ऊर्जा क्षेत्र में हुआ था। इस दौरान सबसे ज्यादा एमओयू व एलओआई माइन्स एंड मिनरल्स के क्षेत्र में हुए थे। इस सेक्टर के अंतर्गत 207 एमओयू एवं एलओआई के माध्यम से 51 हजार 214 करोड़ रुपए का निवेश प्रस्तावित आए। इन निवेशों से आर्थिक गतिविधियों के साथ—साथ रोजगार के बड़े अवसर पैदा होंगे।

राकेश झुनझुनवाला ने दुनिया को अलविदा कहा
द बिग बुल, शेयर मार्केट के बेताज बादशाह और भारत के वारेन बफेट जैसे कई अन्य नामों से मशहूर झुंझुनूं जिले के राकेश झुनझुनवाला ने 14 अगस्‍त 2022 को दुनिया को अलविदा कह दिया। झुंझुनूं जिले से जुड़े होने के कारण इनका परिवार अपने नाम में झुनझुनवाला सरनेम लगाता है। इनका परिवार मारवाड़ी अग्रवाल बनिया है। झुनझुनवाला ने जयपुर की कंपनी राघव प्रोडक्टिविटी एन्हांसर्स में 31 करोड़ रुपए निवेश किया था।

स्टोन इंडस्ट्री की सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी आयोजित
स्टोन मार्ट 2022 का आयोजन नवंबर में किया गया। इस अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी में प्राकृतिक पत्थरों, सहायक उत्पादों और सेवाओं को व्यापक रूप से प्रदर्शित किया गया था। यह आयोजन घरेलू और विदेशी उत्पादकों, निर्यातकों, आयातकों, उपभोक्ताओं को तो एक मंच पर लेकर ही आया, साथ ही खरीदारों, विशेषज्ञों, प्रौद्योगिकी प्रदाताओं, आर्किटेक्ट्स, बिल्डरों, डवलपर्स, कॉरपोरेट्स आदि को भी एक प्लेटफार्म उपलब्ध कराया। इस प्रदर्शनी में 1200 करोड़ रुपए का व्यवसाय और व्यापार हुआ, जोकि राजस्थान की अर्थव्यवस्था के लिए फायदेमंद रहा। इसमें व्यापार के साथ—साथ रोजगार के अवसर भी उपलब्ध हुए। प्रदर्शनी में 30,000 विजिटर्स आए और 19 देशों के 116 खरीददारों के साथ 1400 बी2बी मीटिंग्स आयोजित की गई थी।

पर्यटन को मिला उद्योग का दर्जा
गहलोत सरकार ने इस साल पर्यटन को उद्योग का दर्जा देकर इस महकमे को जीवनदान दे दिया। कोरोना के कारण जिस इंडस्ट्री को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था वह पर्यटन विभाग ही था। कोरोना के चलते सभी पर्यटन सूने थे, सभी होटलें बंद सी हो गई थीं। पर्यटन को उद्योग का दर्जा मिलने के बाद होटल व्यवसाय को मजबूती मिली। वहीं पर्यटन महकमा भी सुदृढ़ हुआ, जिससे आरटीडीसी और मजबूत हुआ।

राजस्थान फिल्म टूरिज्म प्रमोशन पॉलिसी 2022
राजस्थान अपने रीति-रिवाजों के साथ ही अपने ऐतिहासिक वैभव किले-बावड़ियों के साथ यहां के झरोखों के लिए विख्यात रहा है। ऐसे में पर्यटन विभाग ने इस साल राजस्थान फिल्म टूरिज्म प्रमोशन पॉलिसी बनाई। इस पॉलिसी के तहत किसी भी निर्माता को राजस्थान में 13 करोड़ के बजट तक फिल्म की शूटिंग करने पर 2 करोड़ रुपए तक सब्सिडी देना तय किया गया। साथ ही 5 प्रतिशत स्थानीय कलाकारों या मजदूरों को फिल्म में शामिल करना जरूरी किया गया, जिससे स्थानीय व्यक्ति को भी रोजगार मिल सके। राजस्थानी भाषा की फिल्मों के लिए भी छूट देने का प्रावधान किया गया।

फिर पटरी पर दौड़ी 'पैलेस ऑन व्हील्स
विश्व की दस सबसे लग्जरी रेलगाड़ियों में शामिल राजस्थान की पर्यटन की शान 'पैलेस ऑन व्हील्स इस साल सितंबर में पटरी पर उतरी। इसके बाद वह ऐसी दौड़ी कि उससे पूरा आरटीडीसी फायदे में आ गया। अभी तक एडवांस बुकिंग हो रही है।

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.