स्कूल असेंबली में अब रोज होगा योग

15 मिनट की लगेगी क्लास, सोमवार से शनिवार तक का शेडयूल जारी

जयपुर। स्कूली बच्चे शारीरिक रूप से स्वस्थ्य और उन्हें किसी भी तरह का कोई मानसिक तनाव नहीं रहे, इसके लिए अब केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से सम्बदध स्कूलों में फिटनेस की क्लास लगेगी। यह क्लास रोज स्कूलों में लगेंगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सभी स्कूलों को असेंबली (प्रार्थना सभा) के समय में फिटनेस की सीख देने के निर्देश जारी किए हैं। सेंट्रल बोर्ड सेकेंडरी एजुकेशन ने यह फैसला स्कूलों के फीडबैक के बाद लिया है। अधिकतर स्कूलों ने सुबह की असेंबली के समय फिटनेस की सीख देने का समय बताया था। इसलिए बोर्ड ने फिटनेस का समय सुबह का ही रखा है। अभी तक स्कूलों में अधिकारिक रूप से सिर्फ योग दिवस के उपलक्ष्य में ही योग की कक्षाएं लगती थी, लेकिन अब रोज लगेंगी। कई जगह केन्द्रीय विद्यालय पहले से ही इस तरह का प्रयोग कर रहे हैं।
सीबीएसई ने इसके लिए एक शेड्यूल जारी किया है। सप्ताह में पांच दिन फिटनेस की सीख दी जाएगी। इसके बाद अंतिम दिन शनिवार को फिटनेस के लिए निबंध, कविता और वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। इसके माध्यम से फिटनेस की ग्रेड विद्यार्थियों को दी जाएगी, सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले को फिटनेस का सम्मान मिलेगा। इस शेड्यूल को सोमवार से शनिवार तक का बनाया गया है। अब हर दिन स्कूल असेंबली में 15 मिनट की फिटनेस क्लास लगेगी। अभी तक हर स्कूल में असेंबली में सिर्फ प्रार्थना ही होती थी, एक पीरियड खेलकूद के लिए होता था, लेकिन वह भी रोज नहीं होता। सीबीएसई के जानकारों का कहना है कि योग करने का उचित समय सुबह का है, इस इस कारण फिटनेस के लिए सुबह का समय ही रखा गया है। हर दिन 15 मिनट का समय असेंबली में अलग से योग के लिए तय किया जाएगा। फिजिकल इंसट्रेक्टर रोज फिटनेस के लिए अलग—अलग एक्सरसाइज कराएंगे। सोमवार को योग होगा तो मंगलवार को शारीरिक अभ्यास करने के तरीके बताए जाएंगे।

ये रहेगा शेडयूल
सीबीएसई ने स्कूलों को छह दिनों का शेडयूल भेजा है। इसमें सोमवार को योग के टिप्स, मंगलवार को शारीरिक अभ्यास, बुधवार को फिटनेस का आकलन, गुरुवार को शारीरिक गतिविधियां, शुक्रवार को मानसिक रूप से स्वस्थ रहें, इसके लिए ध्यान और योग, शनिवार को निबंध कविता और वाद-विवाद प्रतियोगिता होगी।

MOHIT SHARMA
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned