युवाओँ ने कहा आइने बदलने की नहीं अब चेहरे बदलने की जरूरत

मालवीय नगर पत्रिका की ओर से एमएनआईटी के मालवीय सभागार में विद्यार्थी सम्मेलन

By: Priyanka Yadav

Published: 25 Apr 2018, 01:11 PM IST

जयपुर . पार्टी में अब वंशवाद खत्म करने की जरूरत है, वहीं राज नेताओं को लोकतंत्र की ताकत दिखाने की आवश्यकता है। चेंजमेकर द्वारा जुड़े हुए लोग चुने हुए प्रतिनिधियों पर कार्य करने का प्रेशर बनाएं। राजनीति में अब नए चेहरे आने की जरूरत है, लेकिन इसके लिए योग्यता और उम्र पर विचार करना चाहिए। राजनीति को हम गंदा मानते हैं, जबकि राजनीति गंदी नहीं, बल्कि इसमें आने वाले लोगों की सोच ही ऐसी है। यही वजह है कि अब युवा जागरूक हो गया। राजनीति में बदलाव लाने की तैयारी हो चुकी है।

चेंजमेकर वह है जो सबके हितों के बारे में सोच सकें। राजस्थान पत्रिका के महाअभियान 'स्वच्छ करें राजनीति चेंजमेकर्स बदलाव के नायक महाअभियान को लेकर मालवीय नेशनल प्रौद्योगिकी संस्थान के प्रभा भवन के मालवीय सभागार में हुए विद्यार्थी सम्मेलन में अलग-अलग यूनिवर्सिटी कॉलेजों से आए छात्रों ने बेबाकी से अपनी बात रखी और राजस्थान पत्रिका के इस अभियान का समर्थन किया। मालवीय नगर पत्रिका की ओर से आयोजित विद्यार्थी सम्मेलन में एमएनआईटी कॉलेज, जेईसीआरसी कॉलेज, सुबोध कॉलेज और राजस्थान यूनिवर्सिटी , महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज, आर.ए.पोद्दार मैनेजमेंट कॉलेज, फाइव ईयर लॉ कॉलेज के छात्र शामिल हुए।

कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने स्वच्छ राजनीति के बारे में कहा कि राजनीति से पूर्णतया वंशवाद, जातिवाद खत्म होना चाहिए। राजनीति में तीन बदलाव करने की जरूरत है विचारधारा, विकास और मुद्दे। कार्यक्रम के दौरान मुख्य वक्ता के तौर पर आरटीयू के पूर्व कुलपति और एमएनआईटी कॉलेज के सीनियर प्रो.आर.पी.यादव और फैकल्टी मेंबर डॉ. स्नेहलता ढाका, डॉ. प्रीति भट्ट मौजूद थीं। दो घंटे तक चले इस कार्यक्रम में १०० से ज्यादा स्टूडेंट्स मौजूद रहे।

इन्होंने भी किए अपने विचार साझा

इन्द्र सिंह कपूरिया, मोहित कुमार, विक्रम चौधरी, प्रिंस पारीक, श्रवण चौधरी, अखिलेश प्रजापत, अहसान अली, आदित्य, रवीन्द्र, भरत सिंह, प्रसन्न जैन, राहुल भास्कर, सुमेर, मुकेश, सुरेश चौधरी, अभिषेक सिंह, शुभम माहेश्वरी, ऋषिराज माहेश्वरी, सौम्या चतुर्वेदी, नचिकेत पारीक, रवि देवत, अजय सिंह, सौरभ यादव, रिछपाल चौधरी, करण सिंह, रघुवीर सिंह, भागचंद यादव, दिनेश चौधरी, राहुल शर्मा, मुकेश यादव, विकास यादव, सुमेश जाट, अजय राठौड़, नंद लाल, आलोक बाजिया, मुकुल कुमार, आकाश श्रवण, शिवम अग्रवाल, नवीन पारीक, शैफाली जलवानिया, यशदीप पाराशर, देवेश कुमार शर्मा, अभिषेक मीणा, राजेश चौधरी, नम्रता भारद्वाज, अजय नेहरा, शिवम गुप्ता, रामनिवास विश्नोई सहित अन्य छात्र मौजूद रहे।

युवाओं के सामने हैं संभावनाएं

इस दौरान प्रो. आर.पी. यादव ने कहा कि नेता वह है जो समस्याओं के बारे में सोचकर उनका हल करे। जातिवाद को खत्म करके सामूहिक महत्वकांक्षाओं के बारे में सोचने से ही एक स्वच्छ राजनीति की जा सकती है। इंसान को बड़े सपने देखने चाहिए। युवाओं के सामने संभावनाएं हैं वह राजनीति में आगे आए। वहीं डॉ. स्नेहलता ढाका ने कहा कि राजनीति में अच्छे शिक्षित लोगों को आगे आने की जरूरत है।

देवेश भारत ने कहा आइने बदलने से कुछ नहीं होगा, अब चेहरे बदलने की जरूरत है, ताकि हर कम्यूनिटी का भला हो सके। राजनीति का मतलब सही चीजों को सही समय पर रखना है।

मनीष यादव का कहना हैं की चेेंजमेकर बनकर गांव, पंचायत और विधानसभा क्षेत्र में रोजगार की बात करनी होगी। बीमार व्यक्ति की अस्पताल में इलाज करवाने सहित अन्य परेशानियों में मदद की जा सकती है।

वही महेंद्र सिंह शेखावत ने कहा चेंजमेकर बनकर लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याओं समझकर पूरजोर तरीके से आवाज उठानी होगी। जिससे सरकारें उनकी मांगों को मानने पर मजबूर हो जाए।

 

 

 

Priyanka Yadav
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned