यूपी में प्रियंका के साथ दुर्व्यवहार पर कांग्रेस का प्रदेश भर में प्रदर्शन, डोटासरा ने साधा निशाना

मंगलवार को प्रदेश के सभी जिलों में कांग्रेस करेगी विरोध प्रदर्शन,पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा, दुर्व्यवहार की कीमत भाजपा को चुकानी पड़ेगी,सांसद किरोड़ी लाल मीणा पर डोटासरा ने साधा निशाना

By: firoz shaifi

Updated: 04 Oct 2021, 09:34 PM IST

जयपुर। लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत के बाद पीड़ित परिवार से मिलने जा रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ पुलिस दुर्व्यवहार से कांग्रेस में आक्रोश है। यही वजह है कि देश भर में कांग्रेस इसके विरोध में उतर आई है। मंगलवार को प्रदेश में भी सभी जिलों में कांग्रेस विरोध प्रदर्शन करेगी।

सुबह 10 बजे सभी जिलों में एक साथ विरोध प्रदर्शन होंगे। वहीं दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ दुर्व्यवहार को लेकर भाजपा का निशाना साधा है। पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा कि दुर्व्यवहार की कीमत भाजपा को चुकानी पड़ेगी।

सोमवार को जेकेके में गांधी प्रदर्शनी का अवलोकन करने आए पीसीसी चीफ ने मीडिया से बातचीत में कहा कि किसानों के साथ पिछले 7 सालों से तमाशा चल रहा है। केंद्र और भाजपा की सरकारें किसानों पर अत्याचार कर रही हैंं, केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले 10 महीने से धरने पर बैठा है लेकिन सरकार उनकी सुनवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि यूपी के पीलीभीत में किसान हिंसा के मामले में केंद्र के मंत्रियों पर लगे आरोप दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

डोटासरा ने कहा कि भारत रत्न और देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की बेटी प्रियंका गांधी किसानों की सुध लेने जाती है तो उनके साथ यूपी में धक्के देकर दुर्व्यवहार किया जाता है। कांग्रेस पार्टी प्रियंका गांधी के साथ किए गए दुर्व्यवहार की कड़े शब्दों में निंदा करती है। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी और राहुल गांधी जिस तरह से आम आदमी की आवाज उठाने के लिए हमेशा अपना काम करते रहे हैं और करते रहेंगे।

यूपी की पुलिस किसी भी तरह के अत्याचार से उनको नहीं रोक सकती है। यूपी में योगी सरकार ने जो प्रियंका गांधी के साथ दुर्व्यवहार किया है उसकी बड़ी कीमत भाजपा को चुकानी पड़ेगी।

उन्होंने कहा कि पूरी कांग्रेस पार्टी प्रियंका गांधी के साथ हुए दुर्व्यवहार से आहत है और लखीमपुर में जो किसान मारे गए हैं उसी कांग्रेस पार्टी श्रद्धांजलि अर्पित करती है। पीसीसी चीफ ने कहा कि जिस तरह से यूपी में प्रियंका गांधी को रोका गया है उसी तरीके से प्रदेश सरकार ने किसानों के हित के लिए जो तीन कानून बनाए थे उनको भी रोका हुआ है।

किरोड़ी पर भी साधा निशाना
वहीं रीट परीक्षा में धांधली को लेकर शहीद स्मारक पर धरना देने वाले राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा पर भी डोटासरा ने निशाना साधा है। डोटासरा ने कहा कि मरते दम तक धरना देने वाले किरोड़ी मीणा ने अरूण सिंह की फटकार के बाद यू टर्न ले लिया। डोटासरा ने कहा कि दो दिन तक किरोड़ी लाल मीणा ने अपने ही लोगों के साथ सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए यह धरना दिया था। अब धरना देने वाले अचानक गायब कैसे हो गए?

डोटासरा ने कहा कि जब मीणा को पता चला कि भाजपा साथ है, पेपर सही हुए हैं, और जिन 31 हजार लोगों को नौकरियां मिलनी है उनके परिवार उनके खिलाफ हैं, तब उनका बयान बदल गया। तब उन्होंने कहा कि यदि परीक्षा सही हुई है तो तुरंत नौकरी दें।

पीसीसी चीफ ने कहा कि विपक्ष में रहते भाजपा कोई बड़ा आंदोलन खड़ा नहीं कर पाई। ये लोग केवल मुख्यमंत्री बनने के लिए केवल आपस में ही एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगे हैं। सांसद राज्यवर्धन ने भी कह दिया कि वह भी मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल हैं। डोटासरा ने कहा कि भाजपा में 10 लोग मुख्यमंत्री के दावेदार हो गए हैं और यह बढ़ते जाएंगे।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned