मौसम ने ली करवट, बारिश में नहाई स्वर्णनगरी

-जैसलमेर सहित पोकरण, चांधन, लाठी, डाबला, रामगढ़, मोहनगढ़, फलसूंड व समीपवर्ती क्षेत्रों में बरसे बादल
-बेमौसम की बारिश से चिंतित हुए किसान, फसलों पर गहराया संकट
-जैसलमेर में 17.1 एमएम बारिश

जैसलमेर. सरहदी जैसलमेर जिले में कुछ दिनों से चल रहे गर्मी के बढते असर के बीच रविवार को मौसम का मिजाज बदला। जैसलमेर सहित पोकरण, चांधन, लाठी, डाबला, रामगढ, मोहनगढ़ व आसपास के क्षेत्रों में जमकर बादल बरसे। जैसलमेर में दोपहर में बादलों की आवाजाही का दौर शुरू हो गया था। इस दौरान सर्द हवाओं का दौर भी जारी रहा। बारिश होने के आसार नजर आने लगे थे और हुआ भी यही। तेज बौछारों के साथ कभी धीरे तो कभी तेज गति से बारिश का दौर शुरू हो गया। जो रुक-रुक कर एक घंटे तक जारी रहा। इसके बाद शीतल हवाएं चलती शुरू हो गई। उधर, पोकरण में भी मौसम का मिजाज बदला और तेज आंधियों ने समूचे आसमान को अपने आगोश में ले लिया। कुछ ही देर में बूंदाबांदी शुरू हो गई। उधर, मोहनगढ़ में भी बारिश के कारण मौसम खुशनुमा हो गया। लाठी में दोपहर बाद आंधियों का दौर शुरू हो गया और पूरे क्षेत्र में रेत का गुब्बार छा गया। आसमान में काले बादल छा गए और बारिश का दौर शुरू हो गया। चांधन में भी तेज हवा के साथ चले बारिश का दौर चला। बेमौसम की बारिश से किसानों को फसल पर संकट नजर आ रहा है। उनके चेहरे पर चिंता की लकीरे दिखने लगी है। रामगढ़ में भी शाम को तेज गर्जना के साथ बारिश हुई। रुक-रुक कर बारिश का दौर अनवरत जारी रहा।
चांधन. मौसम मे आए बदलाव का असर आज कस्बे मे भी पूरी तरह से दिखा। दोपहर बाद से तेज हवाओं के साथ बादलों की आवाजाही से मौसम ने करवट ली। पूरे क्षेत्र में बारिश का दौर चलता रहा। रविवार को हुई बारिश ने एक बार फिर से किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया। लोगो की काटकर रखी इसबगोल और जीरे की फसलें खेतों मे खराब हो गई। पानी भरने से जीरे की पकी फसलों के दाने खराब हो गए। बाजार बंद होने के कारण लोगों को तिरपाल और प्लास्टिक खरीदने को भी नहीं मिला। लोग बेबस होकर खराबा देखते रहे। तेज हवाओं के कारण फसलें उड़ कर भी नष्ट हो गई। खड़ी फसलों को भी नुकसान पंहुचा
भीखोड़ाई . क्षेत्र में रविवार सुबह अचानक मौसम ने मिजाज बदला। तेज गर्जन के साथ बारिश शुरू हो गई। कस्बे सहित क्षेत्र में बिन मौसम आसमान में छाई घटाएं तो मानो फाल्गुन में सावन का एहसास करा रहीं है। गर्मी के मौसम में रिमझिम बारिश से एक बार फिर से ठंड लौट आई है।
मोहनगढ़. क्षेत्र में गत दो दिन से मौसम में बदलाव देखने को मिला शनिवार को दिन भर तेज हवाओं के साथ रेत उड़ती नजर आई, वहीं रविवार को सुबह के समय भी हवाओं का दौर जारी रहा। दोपहर तक तेज धूप खिली रही। दोपहर बाद आसमान में बादलों की आवाजाही का दौर शुरू हो गया। शाम पांच बजे के बाद आसमान में घने बादलों के छाने के चलते दिन में ही अंधेरा छाने लगा। इस दौरान हल्की बूंदाबांदी का दौर भी शुरू हो गया। बूंदाबांदी के साथ ही कस्बे की बिजली भी गुल हो गई। सवा पांच बजे के बाद तेज हवाओं के साथ रेत उड़ती नजर आई, वहीं घने बादलों के छाने के साथ ही तेज बिजली कड़कती नजर आई।
पोकरण. क्षेत्र में रविवार को बदले मौसम के कारण जन-प्रभावित हुआ। इस दौरान मौसम के अलग-अलग रंग देखने को मिले। रविवार सुबह सर्द हवाएं चल रही थी। दिन चढऩे के साथ सूर्य की तेज किरणें निकली, जिससे तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। दोपहर में गर्मी के कारण बेहाल हो गया। भीषण गर्मी जैसा मौसम हो जाने से जन-जीवन प्रभावित हुआ। अपराह्न तीन बजे बाद आसमान में अचानक बादल छा गए, जिससे तापमान में गिरावट हुई। इसके बाद तेज सर्द हवाएं भी चलने लगी। ऐसे में मौसम सुहावना हो गया। इसी तरह क्षेत्र के भणियाणा, फलसूण्ड आदि गांवों में हल्की बारिश की जानकारी सामने आई है।
फलसूंड. क्षेत्र में रविवार को दोपहर बाद आंधी के साथ बारिश का दौर चला । कई स्थानों पर पानी जमा हो गया। इस दौरान शीतल हवाओं का दौर भी चला।

weather report
Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned