JAISALMER NEWS- 211 कैमरों की नजर में रहेंगे आप, कुछ हरकत करने से पहले सोच लेना....

मजबूत होगा निगरानी तंत्र...‘अभय’ हुआ जैसाण, कोना-कोना चौकन्ना, पहले चरण में 110 कैमरे लगाने का कार्य

By: jitendra changani

Published: 19 May 2018, 09:09 PM IST

211 कैमरों की निगरानी में जैसलमेर
जैसलमेर.स्वर्णनगरी का चप्पा-चप्पा आगामी तीन महीनों में उच्च गुणवत्ता वाले कैमरों की निगहबानी में आने वाला है। राज्य सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग की ओर से राज्य भर की भांति जैसलमेर में कैमरों का जाल बिछाया जा रहा है और महिला पुलिस थाना में ‘अभय कमांड सेंटर’की स्थापना का कार्य किया जा रहा है। शहर के सभी प्रमुख चौराहों व सडक़ मार्गों पर कैमरों की स्थापना के लिए खंभे खड़े कर दिए गए हैं तथा मुख्य मार्गों पर यह काम अभी जारी है। अभय कमांड सेंटर के इस पहले चरण के बाद आगामी चरणों में जिले के पोकरण सहित अन्य प्रमुख गांव-कस्बों में भी कैमरे लगवाए जाने की संभावना है। इससे जैसलमेर में सार्वजनिक स्थान पर घटित होने वाले किसी भी अपराध के मुंह बोलते साक्ष्य जुटाने में पुलिस को दिक्कत नहीं होगी। आने वाले समय में इन कैमरों को जीपीएस आदि सिस्टम से भी जोड़ा जाएगा।
पहले चरण में 110 कैमरे
सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के उपनिदेषक जयप्रकाष ज्याणी ने बताया कि जैसलमेर में कुल 211 कैमरे स्थापित होंगे। जिनमें पहले चरण में 110 कैमरे लगवाए जा रहे हैं। इसके लिए 39 खंभों के फाउंडेषन का कार्य पूरा हो चुका है, जहां 80 कैमरे लग सकेंगे। जैसलमेर कलेक्ट्रेट में तीन जगहों पर लगवाए गए खंभों पर कैमरे लगाकर उनका ट्रायल भी किया जा चुका है। पहले चरण में हनुमान चौराहा, एसबीबीजे चौराहा, पंचायत समिति चौराहा, गड़ीसर चौराहा, गीता आश्रम चौराहा समेत गांधी कॉलोनी, इंदिरा कॉलोनी, सम मार्ग, रामगढ़ रोड आदि पर खंभे रोपे जा चुके हैं।इन जगहों पर सबसे पहले कैमरे लगवाकर उन्हें चालू करवाया जाएगा। बाकी 101 कैमरे अगले चरण में जैसलमेर के अंदरूनी क्षेत्रों में लगेंगे।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

इंटरनेट पर होंगे आधारित
ये कैमरे इंटरनेट के जरिए संचालित होंगे। इसके लिए पूरे नेटवर्क के लिए अलग से ऑप्टिकल फइबर केबल बिछाने तथा बिजली का कनेक्षन करने की कार्रवाई भी प्रगति पर है।प्रत्येक खंभे पर लगने वाले कैमरे दो किस्म के आरएफ और बुलेट कैमरे होंगे। बुलेट कैमरे नाइट विजन होते हैं। जो रात के समय भी प्रभावी होंगे। इन कैमरों की गुणवत्ता बेहतरीन होने का दावा किया जा रहा है। जैसलमेर में अलग-अलग कंपनियां इस कार्य को अंजाम देने में जुटी हैं।जिन्हें राज्य स्तर से कार्यादेष जारी किया गया है।
यहां से रखी जाएगी पूरे शहर पर नजर
पूर्व में जहां पुलिस अधीक्षक कक्ष था, वर्तमान में महिला पुलिस थाने के उस हॉल को पूरी तरह से परिवर्तित कर वहां ‘अभय कमांड सेंटर’ बनाया जा रहा है।पूर्णतया वातानुकूलित इस हॉल में दो बड़ी साइज की एलईडी को साथ-साथ लगाकर उस पर चार भागों में पूरे षहर में लगने वाले कैमरों का सजीव प्रसारण चलता रहेगा।जहां पुलिस के नियुक्त अधिकारी और कार्मिक बैठ कर स्वर्णनगरी की कानून व्यवस्था पर चौबीसों घंटे निगरानी रखेंगे।

फैक्ट फाइल
-211 कैमरे लगेंगे जैसलमेर में
-110 कैमरे पहले चरण में लगाने का कार्य जारी
-05 किलोमीटर के दायरे में बसा है जैसलमेर

सतत निगरानी
जिला मुख्यालय पर एक साथ इतने कैमरे लगाने व कमांड सेंटर की स्थापना से कानून व्यवस्था पर सतत निगरानी रखी जा सकेगी और अपराध होने की दषा में जांच कार्य प्रभावी ढंग से होगा।पुलिस के लिए यह बेहद कारगर साबित होगा।
-गौरव यादव, जिला पुलिस अधीक्ष् ाक, जैसलमेर

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned