script25 crore ointment on the pain of loss | घाटे के दर्द पर 25 करोड़ का मरहम | Patrika News

घाटे के दर्द पर 25 करोड़ का मरहम


-कोरोना के घाटे को कम करने में कारगर साबित हो रहा पर्यटन का यह नया रूप
-बड़े घरानों की शादी के लिए जैसलमेर की सितारा होटलों में हो रहे आयोजन

जैसलमेर

Published: December 23, 2021 05:47:16 pm


जैसलमेर. राजस्थान के सवाई माधोपुर में गत दिनों हुई बॉलीवुड सितारों कैटरीना व विक्की कौशल की शादी चर्चा में रही है। इसी बीच पाक सीमा से सटे व रेत के समंदर में बसे खूबसूरत जैसलमेर शहर में पर्यटन का नया रूप काफी लोकप्रिय हो रहा है। कोरोना काल में घाटे को झेल चुके जैसलमेर के पर्यटन उद्योग को बॉर्डर ट्रिज्म के साथ-साथ वेडिंग ट्ूरिज्म का भी सहारा मिल रहा है। पर्यटन से जुड़े जानकार बताते हैं कि वेडिंग डेस्टिनेशन के तौर पर देश-दुनिया के बड़े घरानों व मशहूर हस्तियों के साथ उद्योग जगत से जुड़े लोग शांति व सुकून की चाह में जैसलमेर के सितारों होटलों में विवाह समारोह का आयोजन कर रहे हैं। यही नहीं प्रदेश के बाहर रहने वाले लोग भी यहीं आकर विवाह समारोह का आयोजन कर रहे हैं। कोरोना के बाद हाल के कुछ महीनों में यहां दर्जनों विवाह समारोह हो चुके हैं। मळ मास के बाद यहां की बड़ी व सितारा होटलों में अन्य शाही शादी समारोह आयोजित होने हैं। ऐसे में वेडिंग ट्यूरिज्म के नए रूप से पर्यटन से जुड़े लोगों में काफी उत्साह है।
घाटे के दर्द पर 25 करोड़ का मरहम
घाटे के दर्द पर 25 करोड़ का मरहम
धोरों की नगरी में साथ निभाने की कसमें
जैसलमेर में हाल ही में सम मार्ग स्थित एक सितारा होटल में आयोजित विवाह समारोह में शिरकत करने उद्योग सहित विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियां शामिल हुई थी। यह विवाह समारोह वीवीआइपी लोगों की मौजूदगी के कारण चर्चा में रहा। इसके अलावा होटल कॉम्पलेक्स क्षेत्र के समीप भी बड़ी होटलों में शाही अंदाज में विवाह समारोहों का आयोजन हो चुका है। वहीं सिने अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी और परिणीति चौपड़ा के हेयर आर्टिस्ट संजना बत्रा की शादी जब जैसलमेर में हुई तो स्वर्णनगरी में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रम्प के दामाद जैरड कुशनर भी यहां आए थे। कुछ समय पहले समलैंगिक शादी भी जैसलमेर के सितारा होटल में संपन्न की गई। जिसमें भाग लेने के लिए देश-दुनिया से मेहमान जैसलमेर पहुंचे।इसके अलावा दामोदरा के पास सम मार्ग स्थित सितारा होटल में एक आयोजन में शिरकत करने के लिए ग्रीस के पूर्व प्रधानमंत्री जॉर्ज पापेन देरेउ सपरिवार स्वर्णनगरी में थे। हकीकत यह है कि बड़े औद्योगिक घरानों की शादियां धोरों की धरती पर संपन्न होने क्रम लगातार बढ़ रहा है।
एक दशक पहले शुरूआत, अब बरस रहे करोड़ों
राजा-रजवाड़ों के शादी समारोहों की यहां याद ताजा हो रही है, जिसमें बग्घी पर सवार होकर दूल्हा पहुंचता है और उसके दोनों ओर हाथों में भाले व मशालें थामे लोग चलते हैं। इसके अलावा शादी का मंडप भी पुष्पमालाओं तथा लाइटिंग इफेक्ट से प्राचीन माहौल बनाया जाता है। सरहदी जैसलमेर जिले में करीब एक दशक पहले विदेशी जोड़े यहां की होटलों में हिंदू परम्परा और रीति-रिवाजों से प्रभावित होकर शादी करते थे। ऐसे आयोजनों की लोकप्रियता बढ़ती रही। धीरे-धीरे यहां की बड़ी होटलों में देश के धनाढ््य वर्ग ने शादी समारोह आयोजित करने की शुरूआत हुई। स्वर्णगरी में शहर में वेडिंग ट्यूरिज्म को अपने आप बढ़ावा भी मिल रहा है। जानकारों की मानें तो अब दिल्ली, मुम्बई, बैंगलुरू, जयपुर, अहमदाबाद, सूरत से नियमित हवाई सेवा उपलब्ध होने से वेडिंग ट्यूरिज्म को और बल मिला है।शाही अंदाज की इन शादियों से करोड़ों रुपए पर्यटन उद्योग की झोली में जा रहे हैं। देश-दुनिया में जैसलमेर की छवि लोकप्रिय पर्यटन स्थल के रूप में तो पुख्ता बनी हुई ही है, साथ ही पिछले कुछ वर्षों के दौरान यह शहर शाही अंदाज वाली शादियों का गवाह बना है। करीब एक दर्जन होटलें व कुछ रिसोर्ट्स ऐसे विवाह समारोहों के आयोजन के लिए विशेष तौर पर पंसदीदी स्थान बन रहे हैं। जैसलमेर ही नहीं राजस्थान भर की मशहूर लोक कलाकार इन विवाह समारोहों में कला का जादू जगाते हैं। बड़े बजट की शादियों में बॉलीवुड या टीवी से जुड़े कलाकार भी प्रस्तुतियां देने पहुंचते रहे हैं। स्टेज परफॉर्मेंस के लिए अनेक कलाकार बाहर से बुलाए जाते हैं।
फैक्ट फाइल
-विगत 10 वर्षों से जैसलमेर में चल रहा है विवाह समारोहों का आयोजन
-100 के करीब अब तक हो चुकी है जैसलमेर में शाही अंदाज में शादियां
-50 लाख के करीब बजट माना जाता है औसत बजट ऐसे समारोहों में
-1 दर्जन होटलों में वेडिंग डेस्टिनेशन के तौर पर हो रहे आयोजन
-25 करोड़ की चालू वित्तीय वर्ष में पर्यटन उद्योग को होगी आय वेडिंग टूरिज्म से
पर्यटन को सहारे के साथ मिल रही मजबूती भी
वेडिंग टूरिज्म के तौर पर जैसलमेर के पर्यटन को काफी सहारा मिल रहा है। यहां लोक संस्कृति व भव्यता, दोनों का मिला-जुला अंदाज काफी पसंद किया जा रहा है। वर्षों पहले होने वाली शाही शादियों की संकल्पना यहां साकार हो रही है। एक दस वर्षों से पर्यटन का यह नया रूप काफी पसंद किया जा रहा है। कोरोना के कारण दो वर्ष घाटा झेलने के बाद अब इस वर्ष वेडिंग टूरिज्म से काफी उम्मीदें की जा रही है।
-पुष्पेंद्र व्यास, पर्यटन व्यवसायी, जैसलमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

उत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव 2022 की डेट का ऐलान, जानें कितने सीटों के लिए और कब आएगा रिजल्टInternet Shutdown: कोई आपका इंटरनेट बंद कर दे तो क्या करेंगेमुस्लिम वोटों को लुभाने के लिए बसपा ने किया बड़ा खेल, बाकी हैरानPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM Modiरेलवे भर्ती 2022: रेलवे में नौकरी का सुनहरा मौका, इन पदों पर सीधे इंटरव्यू के जरिए हो रही भर्तीमालिक की मौत के बाद भी ड्राइवर-नौकर बैंक खाते से निकालते रहे रकम!काशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.