जैसलमेर में 40 फीसदी दुकानें खुली, अब ग्राहकों की बाट

जैसलमेर मुख्यालय पर लॉकडाउन में छूट का असर अब नजर आने लगा है। शुक्रवार को लम्बे अर्से बाद करीब 40 प्रतिशत दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले नजर आए।

By: Deepak Vyas

Published: 16 May 2020, 06:38 PM IST

जैसलमेर. जैसलमेर मुख्यालय पर लॉकडाउन में छूट का असर अब नजर आने लगा है। शुक्रवार को लम्बे अर्से बाद करीब 40 प्रतिशत दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले नजर आए। यहां बैठे दुकानदारों व स्टाफ सदस्यों ने मास्क लगा रखे थे और साफ-सफाई करते तथा सामान को व्यवस्थित ढंग से जमाते दिखाई दिए। इसके अलावा शहर की सड़कों पर भी गत दिनों से शुरू हुई हलचल काफी बढ़ी हुई दिखाई दी। बाहरी क्षेत्र में चार पहिया वाहन भी बड़ी संख्या में दौड़ते नजर आए। जिनमें ग्रामीण इलाकों से आए लोग भी सवार थे। वैसे अधिकांश प्रतिष्ठानों में ग्राहकों का इंतजार बना हुआ दिखाई दिया।
यहां नजर आई रौनक
जैसलमेर के गीता आश्रम मार्ग, शिव मार्ग, मदरसा रोड, ट्रांसपोर्ट नगर आदि के बाजारों में बड़ी संख्या में मोटर पाट्र्स, इलेक्ट्रोनिक्स शोरूम, मिठाई व खाद-बीज की दुकानें, रेस्टोरेंट्स, इलेक्ट्रिकल्स, रिपेयरिंग के प्रतिष्ठान आदि खुले हुए दिखे। वहीं किराणा व्यवसाय पहले से ही खुला होने से इन इलाकों में सबसे ज्यादा रौनक नजर आई। दूसरी ओर कोरोना पॉजिटिव केस आने से कचहरी मार्ग, सदर बाजार, जिंदानी चौक की दुकानें अभी खोली नहीं जा सकती। आसनी पथ, पंसारी बाजार व गुलासतला बाजार में भी बड़ी तादाद में प्रतिष्ठान शुक्रवार को भी बंद रहे। दरअसल जैसलमेर में सबसे बड़ी तादाद में शूटिंग-शर्टिग्स, मोबाइल हैंडसेट, एसेसरीज व रिपेयरिंग, रेडीमेड कपड़े, चाय-पान की थडिय़ां व नमकीन के ठेले हैं, इन्हें खोलने के आदेश जारी नहीं होने से बाजार में पूरी तरह से रौनक नहीं बन पा रही है।
नहीं जुट रहे खरीदार
जिला मुख्यालय पर सरकारी आदेश होने के बावजूद ज्यादातर दुकानदारों ने प्रतिष्ठान शुरू नहीं किए हैं। उनका कहना है कि बाजार में जब तक सभी दुकानें नहीं खुलेंगी और आवाजाही के सारे रास्ते नहीं खोले जाएंगे, तब तक ग्राहकी का टोटा रहेगा। ऐसे में अगले सप्ताह से ही सभी अनुमत प्रतिष्ठान खुलने की उम्मीद है। शुक्रवार को अधिकांश दुकानों पर नगण्य संख्या में ही ग्राहक नजर आए। इसके अलावा कई प्रतिष्ठानों में काम करने वाला बाहरी स्टाफ अपने घरों के लिए जा चुके हैं। उनके लौटने का भी इंतजार है। वैसे सबसे जल्दी कुलर, पंखों और एयरकंडीशनर की बिक्री रफ्तार पकड़ सकती है। ज्यादातर इलेक्ट्रोनिक्स शोरूम में अभी गर्मी से बचाव के इन उपकरणों को ही सजा कर रखा गया है। ट्रांसपोर्ट कंपनियों में भी इनसे जुड़ा सामान बड़े पैमाने पर बाहर से मंगवाया जा रहा है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned