script7 killed and 71 injured in pokaran road accident | Big Issue: 'लाल' हो रही तारकोल की स्याह सड़क: डरा रहे सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े | Patrika News

Big Issue: 'लाल' हो रही तारकोल की स्याह सड़क: डरा रहे सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े

-3 माह में 36 हादसे, 7 की मौत और 71 घायल भी
-पोकरण क्षेत्र में सड़क हादसों में असहनीय पीड़ा के बीच तीन घंटे की 'कैदÓ मजबूरी
-'आपातकालÓ में आपातकालीन सेवाएं, ट्रोमा सेंटर का भी नहीं थमा इंतजार

जैसलमेर

Updated: June 11, 2022 08:25:59 pm

दीपक व्यास/दीपक सोनी* जैसलमेर/पोकरण. पाक सीमा से सटा और परमाणु नगरी के तौर पर विश्वस्तरीय ख्याति अर्जित कर चुके पोकरण से जुड़े मार्ग पर सड़क हादसों का आंकड़ा डराने वाला है। पोकरण क्षेत्र में गत एक मार्च से अब तक 36 से अधिक सड़क हादसे हो चुके है। इन हादसों में 7 की मौत हो चुकी है, जबकि 71 जने घायल हुए है। यहां 71 घायलों में से करीब 44 जनों को प्राथमिक उपचार के बाद जोधपुर रैफर किया गया है। गौरतलब है कि पोकरण क्षेत्र का ऐतिहासिक, सामरिक व धार्मिक महत्व भी है, वहीं विगत वर्षों में पर्यटकों की आवक भी बढ़ी है। दो राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़ा होने की सुविधा के बीच यहां सड़क हादसों में भी बढ़ोतरी हुई है। इन सबके बीच एक पीड़ादायक बात यह भी है कि वर्षों बाद भी चिकित्सा विभाग की आपातकाल सेवा खुद आपातकाल से बाहर नहीं निकल पाई है। पोकरण को जैसलमेर का प्रवेश द्वार भी माना जाता है। दिल्ली, जयपुर, बीकानेर के साथ अन्य राज्यों से आने वाले पर्यटक पोकरण होकर ही जैसलमेर पहुंचते है। इसके अलावा रामदेवरा गांव में स्थित बाबा रामदेव की समाधि के दर्शनों के लिए भी वर्ष भर लाखों श्रद्धालु आते है, जिनमें से अधिकांश श्रद्धालु वाहनों से आते है।
कड़वा सच: रैफर टू पॉलिसी
पोकरण क्षेत्र विस्तृत भू-भाग में फैला हुआ है और क्षेत्र का बड़ा अस्पताल भी पोकरण में ही स्थित है। पूरे क्षेत्र में कहीं पर भी सड़क दुर्घटना होने पर घायलों को पहले पोकरण ही लाया जाता है। यहां आपातकाल में कोई विशेष व्यवस्था नहीं है। घायलों को लाने पर यहां मात्र प्राथमिक उपचार की ही व्यवस्था हो पाती है। ज्यादा चोट होने पर घायलों को तत्काल जोधपुर रैफर कर दिया जाता है। यह रैफर टू जोधपुर की पॉलिसी घायलों के साथ उनके परिजनों पर भारी पड़ जाती है।
सत्तासीन सरकार के मंत्री व विधायक
प्रदेश में कांग्रेस की सरकार सत्तासीन है। सरहदी जिले की दो विधानसभा क्षेत्रों में दोनों विधायक सत्तासीन पार्टी से है। पोकरण विधायक शाले मोहम्मद सरकार में केबिनेट मंत्री भी है। बावजूद इसके विधानसभा क्षेत्र के सबसे बड़े अस्पताल में सड़क हादसों के घायलों के उपचार को लेकर पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी, ऑपरेशन थिएटर की व्यवस्था, सर्जन चिकित्सकों की कमी के कारण घायलों को यहां से रैफर करना ही एक मात्र विकल्प है।
पथरा गई आंखें: नहीं मिली ट्रोमा सेंटर की सुविधा
उधर, राज्य सरकार ने अपने दूसरे बजट भाषण के दौरान पोकरण में ट्रोमा सेंटर की घोषणा भी की। इसके बाद स्थानीय प्रशासन की ओर से ट्रॉमा सेंटर के लिए 12.50 बीघा भूमि आवंटित कर दी गई है। तीसरे बजट भाषण के दौरान पोकरण के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को उप जिला चिकित्सालय में क्रमोन्नत कर दिया गया। ऐसे में अस्पताल के लिए 50 बीघा भूमि आवंटन की फाइल उच्चाधिकारियों को भिजवाई गई, लेकिन उसकी अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है। ऐसे में ट्रोमा सेंटर व अस्पताल भवन निर्माण के लिए अभी तक राशि स्वीकृत नहीं हो पाई है।
'लाल' हो रही तारकोल की स्याह सड़क: डरा रहे सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े
'लाल' हो रही तारकोल की स्याह सड़क: डरा रहे सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े
उच्चाधिकारियों को करवाया गया है अवगत
अस्पताल में अस्थि रोग विशेषज्ञ है, सर्जन व अन्य विशेषज्ञ नहीं है। गंभीर घायलों को रैफर करना पड़ता है। उपलब्ध सुविधाओं में बेहतर सेवाएं देनेा का प्रयास कर रहे हैं। चिकित्सालय की जरूरतों को लेकर उच्चाधिकारियों को अवगत करवाया गया है।
-डॉ. कामिनी गुप्ता, प्रभारी राजकीय उप जिला चिकित्सालयए पोकरण
पत्रिका व्यू--
-प्रशिक्षित चालक के साथ ही वाहन में सफर करें।
-वाहन चालक के लिए जरूरी है कि वह यातायात नियमों का पालन करें।
-वाहन चालक मोबाइल का उपयोग न करें और न ही लाइव का प्रयास करें।
-सड़क हादसों को रोकने में गति नियंत्रण की भूमिका है, इसका पालन जरूर करें।
-शराब के नशे में सफर करने से बचने की जरूरत।
-आवारा पशुओं के एकाएक वाहन के सामने आने से रात को खतरा सर्वाधिक रहता है। जरूरी होने पर ही रात में सफर करें।
-नाबालिग या किशोर आयु के सदस्यों को वाहन चलाने के लिए न दें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Udaipur Murder Case: पूरे देश में तनाव का माहौल, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा- CM Ashok Gehlot, देखें Video...Udaipur : उदयपुर में आगजनी-पत्थरबाजी, इंटरनेट बंद, कर्फ्यू लगाया, पूरे राज्य में अलर्टUdaipur में नूपुर शर्मा के सपोर्ट में पोस्ट करने पर युवक की गला काटकर हत्या, सोशल मीडिया पर जारी किया वीडियोMaharashtra Political Crisis: देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से की मुलाकात, जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कीदीपक हुडा ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का लगाया पहला शतक, आयरलैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियांPunjab: सीएम भगवंत मान का ऐलान, अग्निपथ के खिलाफ विधानसभा में लाएंगे प्रस्ताव, होगा किसान आंदोलन जैसा विरोध!Maharashtra Political Crisis: पुत्र और प्रवक्ता बालासाहेब के शिवसैनिकों को बोल रहे भैंस-कुत्ता, उद्धव ठाकरे की अपील का एकनाथ शिंदे ने दिया जवाबMaharashtra: ईडी ने शिवसेना नेता संजय राउत को फिर भेजा समन, जमीन घोटाले के मामले में 1 जुलाई को पेश होने के लिए कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.