Jaisalmer- त्योहार पर मिलती थी अतिरिक्त चीनी, इस बार सरकार ने खरीदी ही नहीं!

- दीपावली पर महंगा पड़ेगा मिष्ठान
- दीपावली पर इस बार नहीं मिलेगी राशन उपभोक्ताओं को चीनी

By: jitendra changani

Published: 16 Oct 2017, 04:50 PM IST

जैसलमेर .दीपावली पर मिष्ठान बनाने के लिए हर वर्ष पिछड़े परिवारों को अतिरिक्त शक्कर दी जाती है, लेकिन इस बार राज्य सरकार ने खरीद ही नहीं की। ऐसे में उन्हें अतिरिक्त आवंटन तो दूर सामान्य मात्रा में भी चीनी नहीं मिलेगी। घर में हलवा या मिठाई बनाने के लिए शक्कर बाजार से ही खरीदनी होगी।
खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू होने के बाद आर्थिक पिछड़े परिवारों को खाद्य सामग्री की चिंता से मुक्त होने की उम्मीद थी, लेकिन पहली बार इस दीपावली पर अन्त्योदया व बीपीएल परिवार को शक्कर नहीं मिलेगी। रसद विभाग के पास शक्कर का आवंटन नहीं किया गया।
नहीं थी ऐसी उम्मीद
हर बार की तरह इस दीपावली पर अतिरिक्त वितरण की बजाए सामान्य रूप से मिलने वाले गेहूं व चीनी भी नहीं मिले है। पिछड़े परिवारों को बाजार से महंगे दाम में अनाज खरीदना पड़ रहा है। उन्हें दीपावली पर पकवान की बजाए दाल-रोटी की जुगाड़ करना पड़ सकता है।
जीएसटी ने भी बढ़ाई परेशानी
जानकारों की माने तो जीएसटी लगने के बाद से राशन सामग्री का वितरण नहीं हो पाया है। इससे राशन की दुकान से सस्ती कीमत पर गेहूं, शक्कर व अन्य सामग्री खरीदने वाले गरीब व अन्त्योदया परिवारों की परेशानी बढ़ गई है।

छह माह से नहीं मिली चीनी
जैसलमेर में अन्त्योदया व बीपीएल परिवारों को प्रतिमाह चीनी का वितरण किया जाता रहा है, लेकिन गत अप्रेल माह के बाद से चीनी का वितरण नहींं किया गया। इससे उपभोक्ताओं को बाजार से ऊंची कीमतों पर खरीदकर या फिर बिना शक्कर के ही काम चलाना मजबूरी बन गया है।
गेहूं का वितरण भी अटका
जिले में दीपावली पर गेहूं का सामान्य वितरण भी अटक गया है। उपभोक्ता राशन की दुकानों के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन आवंटन प्राप्त नहीं होने से दुकानों पर राशन सामग्री का वितरण नहीं किया जा रहा है। दीपावली के ठीक पहले कईं घरों में आवंटन के अभाव में गेहूं खत्म हो गए हैं।
यह है मापदंड
- 500 ग्राम चीनी मिलती है अत्योदया/बीपीएल कार्ड धारक के प्रति सदस्य को।
- 35 किलो गेहूं मिलते हैं अन्त्योदया के प्रति कार्डधारक को
- 5 किलो गेहूं प्रति व्यक्ति मिलते हैं खाद्य सुरक्षा अधिनियम में नामित परिवारों को
- 500 ग्राम प्रति व्यक्ति त्योहार पर अतिरिक्त चीनी का वितरण होता था हर साल
फैक्ट फाइल
- 7 लाख से अधिक जनसंख्या है जिले की
- 140 ग्राम पंचायते हैं जिले में
- 93,184 परिवार खाद्य सुरक्षा अधिनियम में हैं नामित
- 7,254 अन्त्योदया परिवार कार्डधारक हैं जिले में
- 24,949 बीपीएल परिवार हैं जिले में
- 334 राशन डीलर्स के माध्यम से चयनित परिवारों को किया जाता है राशन वितरण
- 1986 मीट्रिक टन गेहूं का अक्टूबर के लिए हुआ आवंटन।
मशीनों का चल रहा अपडेशन
गेहूं का आवंटन प्राप्त हो गया है, लेकिन वितरण के लिए मशीनों का अपडेशन किया जा रहा है। जिन डिलर्स ने बायोमीट्रिक मशीनों का अपडेशन कर दिया है, वहां वितरण शुरू किया गया है।
- ओंकरसिंह जिला रसद अधिकारी, जैसलमेर

Patrika
Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned