अधिवक्ताओं ने किया एक वकील का विरोध

- एसीजेएम के विरुद्ध चल रहा है बहिष्कार

By: Deepak Vyas

Published: 23 Sep 2021, 03:37 PM IST


पोकरण. कस्बे के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय में अधिवक्ताओं की ओर से किए जा रहे कार्य बहिष्कार के दौरान बुधवार को एक अधिवक्ता की ओर से वकालातनामा दायर कर दिए जाने पर संघ की ओर से निंदा प्रस्ताव पारित करते हुए विरोध प्रदर्शन किया गया। गत दिनों अभिभाषक संघ की बैठक आयोजित कर अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय का बहिष्कार करने का निर्णय लिया गया। जिसके अंतर्गत 20 सितंबर से विरोध किया जा रहा है। साथ ही न्यायालय के कार्य में अधिवक्ता भाग नहीं ले रहे है। बार एसोसिएशन की आपात बैठक बुधवार को आयोजित की गई। बैठक में अधिवक्ताओं ने बताया कि अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय का बहिष्कार चल रहा है, लेकिन बुधवार को वरिष्ठ अधिवक्ता त्रिभुवन पुरोहित ने बार एसोसिएशन के बहिष्कार को नहीं मानते हुए वकालातनामा पेश कर दिया और पेरवी की। जिस पर बार एसोसिएशन के सभी वरिष्ठ व कनिष्ठ अधिवक्ताओं ने एडवोकेट त्रिभुवन पुरोहित से निवेदन किया और वरिष्ठ व मार्गदर्शक के रूप में बहिष्कार करने की बात कही। जिस पर पुरोहित ने समर्थन से इनकार कर दिया और बार एसोसिएशन के निर्णय को मानने से मना कर दिया। जिस पर बार एसोसिएशन की आरे से निंदा प्रस्ताव पारित करते हुए न्यायालय के बाहर मुख्य द्वार पर विरोध प्रदर्शन किया गया और अधिवक्ता पुरोहित के विरुद्ध नारेबाजी की गई। साथ ही निर्णय लिया कि अधिवक्ता त्रिभुवन पुरोहित बार एसोसिएशन की सभी सुविधाओं से वंचित रहेंगे। बैठक में बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मगनाराम विश्रोई, चंदनसिंह, बिलाकीदास, राजकुमार व्यास, सरवरखां, सुखराम विश्रोई, समंदरसिंह, भैरुसिंह, हनुवंतसिंह, मगनाराम चौधरी सहित बड़ी संख्या में अधिवक्ता उपस्थित रहे।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned