9 घंटों की मश्क्कत के बाद अवाय के पास वन पट्टी में लगी आग पर पाया काबू

-सैकड़ों पेड़-पौधे चढ़े दावानल की भेंट

By: Deepak Vyas

Updated: 29 May 2020, 08:24 PM IST

नाचना. क्षेत्र के अवाय गांव के पास गुरुवार को इंदिरा गांधी मुख्य नहर 1200 आर डी के किनारे वन पट्टी में लगी आग 9 घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद आखिरकार काबू पाया जा सका, तब तक वन पट्टी में लगभग 12 आरडी परिधि में सैकड़ों पेड़ पौधे जलकर राख हो गए। आग पर काबू पाए जाने से अवाय, चिन्नू के बाशिंदों के साथ-साथ प्रशासन ने राहत की सांस ली। गौरतलब है कि अवाय गांव के पास इंदिरा गांधी मुख्य नहर 1200 आर डी के पास वन पट्टी में गुरुवार शाम 5 बजे अचानक आग लग गई थी। आकाश में धुआं व आग की लपटें देखकर गांव में अफरा-तफरी मच गई। गांव के बड़ी संख्या में लोग मौका स्थल पर पहुंचे तथा अपने स्तर पर आग बुझाने की मशक्कत की। इस दौरान नाचना पुलिस, वन विभाग के अधिकारियों व प्रशासन को घटना की जानकारी दी गई। इस दौरान तेज आंधी ने आग में घी का कार्य किया देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया हवा का रुख उत्तर दिशा की ओर होने पर आग चिन्नू गांव की तरफ बढऩे लगी, जिससे चिन्नू गांव पर खतरा मंडराता दिखाई दिया। यदि हवा का रुख दक्षिण की तरफ रहता तो अवाय गांव को खतरे की आशंका बनी हुई थी। सूचना पर थानाधिकारी रमेश ढाका मय पुलिस जाब्ता उपनिवेशन तहसीलदार डालाराम वन विभाग के रेंजर वन कर्मी तथा अवाय गांव के बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचे। इस दौरान नोख पुलिस भी पहुंची। कुछ समय बाद नोख के सोलर ऊर्जा प्लांट से एक दमकल वाहन तथा भड़ला सोलर ऊर्जा प्लांट से एक दमकल वाहन मौके पर पहुंचा और आग बुझाने का कार्य प्रारंभ किया आग के विकराल रूप के चलते आग बुझाने में दो दमकल वाहन, गांव के ट्रैक्टर टैंकर तथा वन विभाग के वाटर पंप नाकाफी साबित होते दिखाई दिए। आग नहर पटरी पर उगी घास को चपेट में लेते हुए नहर के अंदर उगी बबूल की झाडिय़ां व घास तक पहुंच गई, जिससे नहर की लाइनिंग क्षतिग्रस्त होने की आशंका बन गई। इसके साथ ही आग की चिंगारियां नहर के एक किनारे को पार कर दूसरे किनारे सड़क की ओर पहुंच गई, जिससे नहर के दोनों तरफ वन पट्टी के पेड़ पौधे जलते हुए आग लगातार चिन्नू की तरफ बढ़ती रही। इस दौरान एक दमकल पोकरण से पहुंची तथा देर समय एकदम जैसलमेर से भी पहुंची ।
रात्रि का समय व दुर्गम रास्ता
रात्रि का समय होने तथा नहर पट्टी में आग के विकराल रूप के चलते दमकल वाहनों का दुर्गम स्थान पर पहुंचना मुश्किल भरा कार्य साबित हो रहा था, लेकिन दमकल पायलटों ने हिम्मत नहीं हारी। उन्होंने आग बुझाने का कार्य बिना रुकावट चालू रखा गया। आखिरकार शुक्रवार देर रात 2 बजे लगातार 9 घंटों की मशक्कत के बाद आग की लपटों पर काबू पाया जा सका। जले पेड़ पौधों के अंगारें व धुआं बाद में भी सुलगता रहा, जिसकी चौकसी के लिए नाचना व नोख पुलिस का जाब्ता, वन विभाग कर्मी मौका स्थल पर ही डेरा लगा कर बैठे रहे। आग पर आंशिक काबू पर सोलर ऊर्जा के दो दमकलों को वापस रवाना कर दिया गया, वहीं जैसलमेर पोकरण की दमकलों ने शुक्रवार सुबह आग को पूर्ण रूप से बुझाने का कार्य प्रारम्भ किया, जो दिन भर चलता रहा। गौरतलब है कि गर्मी के मौसम में 7 दिनों में अवाय गांव के पास वन पट्टी में आग लगने की यह दूसरी घटना है। बार-बार इस क्षेत्र में आग लगने से अवाय एचिन्नू तथा आसपास के गांव में दहशत का माहौल देखा जा रहा है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned