scriptAfter slow progress in three years, now regular monitoring of work | तीन साल में धीमी प्रगति के बाद अब कार्य की नियमित मोनेटरिंग | Patrika News

तीन साल में धीमी प्रगति के बाद अब कार्य की नियमित मोनेटरिंग

- कुल चार मंजिला होगी पहले चरण के निर्माण की ऊंचाई
- पत्रिका अभियान के बाद प्रशासन भी तेजी के मूड में

जैसलमेर

Updated: May 11, 2022 08:04:21 pm

जैसलमेर. सीमांत जैसलमेर जिले के बाशिंदों की तकदीर में बदलाव लाने वाली एक अहम योजना मेडिकल कॉलेज के प्रथम चरण में इमारत ग्राउंड फ्लोर के साथ तीन मंजिला ऊंचाई वाली होगी। इस कार्य के लिए तकनीकी बिड के बाद वित्तीय बिड अंतिम तौर पर संपन्न होने के बाद संभवत: चालू मई माह के आखिर में निर्माण शुरू होने की उम्मीद अब जगी है। दरअसल जैसलमेर में मेडिकल कॉलेज की स्थापना का निर्णय सरकार के स्तर पर 2019 में लिया गया। उसके बाद तीन साल बीत चुके हैं लेकिन अपेक्षाओं के विपरीत यह पूरी योजना लेटलतीफी का शिकार हो गई। ऐसे में राजस्थान पत्रिका की तरफ से साकार हो मेडिकल कॉलेज का सपना शीर्षक से अभियान चलाकर लगातार खबरें प्रकाशित किए जाने के बाद हरकत में आए जिला प्रशासन ने इस कार्य की साप्ताहिक समीक्षा शुरू कर दी है। वर्तमान जिला कलक्टर डॉ. प्रतिभा सिंह ने इसे प्रत्येक सोमवार को आयोजित होने वाली जिलास्तरीय विभागीय समीक्षा बैठक का हिस्सा बना लिया है। कलक्टर स्वयं सभी संबंधित विभागों से उन्हें सौंपे जाने वाले दायित्वों की प्रगति की समीक्षा कर रही हैं। इस दौरान वे चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख शासन सचिव वैभव गलारिया से व्यक्तिगत तौर पर भी सम्पर्क में हैं। जहां तक पहले चरण में करवाए जाने वाले कार्य का सवाल है, यह जानकारी मिली है कि पहले यह इमारत छह मंजिला बनाई जानी थी लेकिन इतनी ऊंचाई को मंजूरी नहीं दी गई। फिर नई डिजाइन तैयार की गई। जिसके अनुसार ग्राउंड फ्लोर के अलावा तीन मंजिला ऊंचाई की इमारत बनाना तय किया गया।
बिजली के खंभे नहीं आएंगे आड़े
इस बीच यह जानकारी सामने आर्ई है कि रामगढ़ मार्ग स्थित जिस स्थल का चयन मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए किया गया है और उसका आवंटन यूआइटी ने अंतिम तौर पर किया। यहां बिजली के जिन खंभों को एक रुकावट के तौर पर देखा जा रहा था, उनकी वजह से पहले चरण का निर्माण कार्य प्रभावित नहीं होगा। जानकारी के अनुसार यह खंभे पवन ऊर्जा उत्पादन में लगी एक निजी कम्पनी के हैं। जिन पर कम्पनी के साथ डिस्कॉम के अधिकारी काम कर रहे हैं। गौरतलब है कि मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य केंद्र सरकार की अंडरटेकिंग वाली कम्पनी हॉस्पीटल सर्विसेज कन्सलटेंसी कॉर्पोरेशन (एचएससीसी) की तरफ से आरएसआरडीसी को वर्किंग एजेंसी बनाया गया है। यही संगठन निजी संवेदक से काम करवाएगी। जिला कलक्टर स्वयं इस कार्य की अब जिला स्तर पर मोनेटरिंग कर रही हैं। डॉ. सिंह ने मेडिकल कॉलेज के संबंध में जो भी सरकारी विभाग सीधे तौर पर जुड़े हैं, उनके अधिकारियों से प्रति सप्ताह कार्य की प्रगति के बारे में जानकारियां ली जा रही हैं। उनके निर्देशन में अब उम्मीद यही जताई जा रही है कि बीते वर्षों के दौरान बरती गई ढिलाई आखिरकार दूर होगी।
150 बीघा जमीन पर बनेगी मेडिकल कॉलेज
गौरतलब है कि यूआइटी की तरफ से मेडिकल कॉलेज के लिए शुरू में 55 बीघा जमीन दी गई। बाद में जमीन के संबंध में कुछ सवाल उठने के बाद उसे बदला गया और आकार को भी बढ़ाकर 150 बीघा कर दिया गया। पहले चरण में करीब 88 करोड़ के कार्य करवाए जाएंगे और कुल चार चरणों में मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार होगी। कार्य की कुल लागत 350 करोड़ रुपए आंकी गई है। मेडिकल कॉलेज के साथ जैसलमेर के जवाहिर चिकित्सालय का विस्तारीकरण व जरूरी जीर्णोद्धार इसी योजना के तहत होना है। वर्तमान में 200 बेड वाले इस अस्पताल में 100 बेड का इजाफा होगा।
तीन साल में धीमी प्रगति के बाद अब कार्य की नियमित मोनेटरिंग
तीन साल में धीमी प्रगति के बाद अब कार्य की नियमित मोनेटरिंग
निरंतर की जा रही समीक्षा
जैसलमेर के लिए मेडिकल कॉलेज एक बहुत बड़ी योजना है। इसे ध्यान में रखते हुए इसके निर्माण के संबंध में सभी बिंदुओं पर प्रति सप्ताह आयोजित होने वाली सोमवार की बैठक में व्यापक विचार विमर्श किया जा रहा है। विभागीय अधिकारियों से भी कहा गया है कि वे प्रत्येक सप्ताह अपने स्तर पर बैठक कर अपडेट सूचनाओं के साथ जिला कलक्टर की बैठक में आएं।
- डॉ. प्रतिभा सिंह, जिला कलक्टर, जैसलमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

नेपाल: चार भारतीय सहित 19 यात्रियों को ले जा रहा एयरक्रॉप्ट हुआ लापता, हादसे की आशंकाUniform Civil Code: मोदी सरकार का अगला एजेंडा है समान नागरिक संहिता, उत्तरखंड से शुरुआत, राज्यों में मंथनआज केरल में दस्तक दे सकता है मानसून, यूपी-बिहार सहित कई जगह बारिश का अलर्टभारत और बांग्लादेश के बीच 2 साल बाद फिर शुरू हुई ट्रेन, कोलकाता से हुई रवानाब्राजील में लैंडस्लाइड और बाढ़ से 31 की मौत, हजारों लोग हुए बेघरIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाArmy Recruitment Change: 'टूअर ऑफ ड्यूटी' के तहत 4 साल के लिए होंगी भर्तियां, फिर 25% युवाओं का पूर्ण चयनRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.