विरोध प्रदर्शन के बाद ज्ञापन लेकर पहुंचे कांग्रेस नेता, कलक्टर के मना करने पर उखड़े

-कलेक्ट्रेट से बाहर आने पर देखी पुलिस की गाडिय़ां तो फिर भड़के
-उप्र में किसानों की हत्या और प्रियंका गांधी की गिर तारी के विरोध में कांग्रेस कमेटी ने दिया धरना

By: Deepak Vyas

Published: 06 Oct 2021, 08:14 PM IST


जैसलमेर. उत्तरप्रदेश के लखीमपुरी खीरी में किसानों की हत्या और पार्टी की उत्तरप्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में धरना-प्रदर्शन करने के बाद कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता जिला कलक्टर के व्यवहार से खफा हो गए। राष्ट्रपति के नाम जिला कलक्टर आशीष मोदी को ज्ञापन देने उनके कक्ष में गए कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को देखते ही कलक्टर ने ज्ञापन लेने से मना कर दिया। जिस पर यूथ कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष अमरदीन फकीर ने रोष जताया। उन्होंने कलक्टर के व्यवहार को गलत बताया, वहीं निवर्तमान अध्यक्ष गोविंद भार्गव तथा अन्य नेता भी क्षुब्ध होकर वहां से बाहर निकल गए। बाद में कलक्टर ने किसी तरह समझा बुझाकर कांग्रेसजनों को सभाकक्ष में बुलाकर उनसे ज्ञापन लिया। वहां से नीचे उतरते ही पुलिस की गाडिय़ों को देखकर कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता फिर नाराज हो गए। उन्होंने कलक्टर के कक्ष में जाकर उनके इस व्यवहार पर रोष जताया। अमरदीन फकीर ने कहा कि जब हम धरना दे रहे थे, तब तो पुलिस नहीं आई और प्रशासन अब पुलिस को बुलाकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भयभीत करना चाहता है। कलक्टर के व्यवहार व कार्यशैली पर गोविंद भार्गव, अमरदीन फकीर, विकास व्यास, सेवादल अध्यक्ष खट्टन खान, महिला अध्यक्ष प्रेमलता चौहान, एनएसयूआई अध्यक्ष भोमसिंह, युवा अध्यक्ष पिराणे खान, मांझी खान आदि ने रोष जताया।
उप्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन
इससे पहले कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर के समक्ष धरना प्रदर्शन किया। केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। राजस्थान युवा कांग्रेस प्रवक्ता विकास कुमार व्यास ने बताया कि प्रदर्शन के दौरान निवर्तमान जिलाध्यक्ष गोविंद भार्गव ने कहा कि गत दिनों लखीमपुरी खीरी में सत्ता मद में चूर केंद्रीय राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ी चढ़ाकर किसानों की हत्या कर दी गई। सभापति हरिवल्लभ कल्ला ने कहा कि उत्तरप्रदेश सरकार इस कुकृत्य को मूकदर्शक बनकर देख रही है तथा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही है। यूथ कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष अमरदीन फकीर ने कहा कि पीडि़त परिवारों से मिलने जा रही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा व उनकी टीम को जबरदस्ती बीच रास्ते में रोका गया। साथ ही दुव्र्यवहार कर गिर तार किया गया। कांग्रेस ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर उन्हें जल्द से जल्द रिहा करने तथा केंद्रीय मंत्री को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की। ज्ञापन देते समय उप जिला प्रमुख डॉ. बीके बारूपाल, जिला परिषद सदस्य अंजना मेघवाल, प्रधान कृष्णा चौधरी, शंकरलाल माली, अशोक तंवर, गिरीश व्यास, खट्टन खान, छोटू खां कंधारी, राधेश्याम कल्ला, बृजरतन छंगाणी, राजकुमार भाटिया, महिला जिलाध्यक्ष प्रेमलता चौहान, जैनाराम सत्याग्रही, शेराराम भील, मेगे खां छत्रैल, एडवोकेट हेमसिंह, चेलूराम भील, भोमसिंह भणियाणा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

कलक्टर ने अशोभनीय व्यवहार किया
ज्ञापन देने गए कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल के साथ जिला कलक्टर का व्यवहार अशोभनीय था। इससे हम सभी आहत हुए हैं। कांग्रेस कार्यकर्ता पूरी तरह से अनुशासित ढंग से ज्ञापन देने गए थे।
-गोविंद भार्गव, निवर्तमान जिलाध्यक्ष

पद की गरिमा के अनुकूल व्यवहार नहीं
जिला कलक्टर का व्यवहार उनके पद के अनुकूल नहीं था। कांग्रेस कार्यकर्ता शांतिपूर्ण ढंग से धरना-प्रदर्शन कर ज्ञापन देने गए थे लेकिन उन्होंने ज्ञापन लेने से मना कर दिया। उनका व्यवहार असंयमित था। इस घटनाक्रम से राज्य सरकार को अवगत करवा दिया गया है।
- अमरदीन फकीर, प्रदेश उपाध्यक्ष, यूथ कांग्रेस

कार्यकर्ताओं के स मान से समझौता नहीं
जिला प्रशासन सहित सभी सरकारी अधिकारियों को यह बात जान लेनी चाहिए कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं के स मान से समझौता नहीं किया जाएगा। कार्यकर्ताओं का स मान सर्वोपरि है।
- विकास व्यास, यूथ कांग्रेस प्रवक्ता

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned